लाइव टीवी

सबसे कम उम्र में परमवीर चक्र पाने वाले आर्मी ऑफिसर अरुण खेत्रपाल बनेंगे वरुण धवन

News18India
Updated: October 14, 2019, 5:47 PM IST
सबसे कम उम्र में परमवीर चक्र पाने वाले आर्मी ऑफिसर अरुण खेत्रपाल बनेंगे वरुण धवन
सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता हैं अरुण खेत्रपाल.

सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता अरुण खेत्रपाल (Arun Khetarpal) के जीवन पर बन रही फिल्म का निर्देशन श्रीराम राघवन करेंगे और दिनेश विजान इस फिल्म के निर्माता हैं.

  • News18India
  • Last Updated: October 14, 2019, 5:47 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता अरुण खेत्रपाल (Arun Khetarpal) के जीवन पर बन रही फिल्म में वरुण धवन (Varun Dhawan) उनका किरदार करते नजर आने वाले हैं. खेत्रपाल की 69वीं सालगिरह पर इस फिल्म के निर्माताओं ने यह जानकारी दी. फिल्म का निर्देशन श्रीराम राघवन करेंगे और दिनेश विजान इस फिल्म के निर्माता हैं. वरुण और श्रीराम ने इसके पहले फिल्म ‘बदलापुर’ में एक साथ काम किया था. वरुण का कहना है कि यह बायोपिक उनके जीवन की सबसे महत्वपूर्ण फिल्मों में से एक है.

उन्होंने कहा, 'एक सिपाही का किरदार निभाना हमेशा से मेरा सपना रहा है. अरुण खेत्रपाल की कहानी सुनने के बाद मैं यह सोच कर हैरान हो गया था कि ऐसा सच में हुआ था. फिर मुझे समझ आया कि दीनू (दिनेश) और श्रीराम इस फिल्म को लेकर इतने उत्साहित क्यों है. अरुण के भाई मुकेश से मिलने के बाद मैं हिल गया था क्योंकि मेरा भी एक भाई है और उनका दुख मैं समझ सकता हूं'.

वरुण ने पीटीआई-भाषा को बताया कि यह कहानी लोगों तक पहुंचानी है और इसे सही तरीके से बताना हमारी जिम्मेदारी है. निर्देशक श्रीराम पिछले छ: महीनों से इस कहानी पर काम कर रहे हैं ताकि वह इसके साथ न्याय कर सकें. निर्देशक श्रीराम ने कहा, '1971 के बसंतर युद्ध में सेकेंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल की बहादुरी जगजाहिर है. 1971 के युद्ध के समय मैं बच्चा था लेकिन खिड़कियों पर काले कागज चिपकाने जैसी धुंधली यादें अभी भी ताजा हैं. इसलिए जब दिनेश ने इस कहानी पर फिल्म बनाने की बात की तो शुरुआत में मुझे मुश्किल लगा. युद्ध के समय की कहानियां मुझे हमेशा से पसंद रही हैं इसलिए मैंने दोबारा इस पर सोचा.'

 




फिल्म के निर्माता दिनेश विजान का कहना, 'यह फिल्म एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. हम खेत्रपाल के परिवार और पूना रेजीमेंट के आभारी हैं कि उन्होंने हमें अरुण की कहानी बताने का मौका दिया.' सेकेंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल, हिंदुस्तान के सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता अफसर हैं. 1971 में हुए बसंतर युद्ध में 21 साल के अरुण ने पाकिस्तान के 10 टैंक खत्म कर पाकिस्तानी सेना को आगे बढ़ने से रोक दिया था. बहरहाल, आखिरी पाकिस्तानी टैंक को नष्ट करते समय अरुण के टैंक में आग लग गई थी. सेना ने उन्हें टैंक छोड़ने का आदेश दिया लेकिन अरुण ने दुश्मन को रोकना जरूरी समझा और वह टैंक में लगी आग में घिर कर शहीद हो गए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 4:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...