लाइव टीवी

विद्या बालन ने सुनाई आपबीती, बोलीं- शुरुआत दिनों में अकेले रूम में ले गया था डायरेक्टर

News18Hindi
Updated: December 26, 2019, 5:28 PM IST
विद्या बालन ने सुनाई आपबीती, बोलीं- शुरुआत दिनों में अकेले रूम में ले गया था डायरेक्टर
विद्या बालन ने छह महीने तक शीशे में अपनी शक्ल नहीं देखी थी.

दक्षिण भारतीय फिल्म इंडस्ट्री (South Indian Film Industry) में विद्या बालन (Vidya Balan) की ऐसी स्थिति कर दी थी कि उन्होंने छह महीने तक अपनी शक्‍ल शीशे में नहीं देखी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 26, 2019, 5:28 PM IST
  • Share this:
बॉलीवुड की जानीमानी अभिनेत्री विद्या बालन (VIdya Balan) ने दक्षिण भारतीय फिल्म इंडस्ट्री (South Indian Film Industry) में काम करने के दौरान उस वाकये के बारे में बताया है, जिससे आहत होकर उन्होंने छह महीने तक अपनी शक्ल शीशे में नहीं देखी थी. ये मामला उन दिनों का है जब विद्या बालन साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में आने के लिए स्ट्रगल कर रही थीं. तब उन्होंने हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में कदम नहीं रखा था. वो अपने माता-पिता के साथ चेन्नई में इस प्रोड्यूसर से उस प्रोड्यूसर के ऑफिस भटक रही थीं.

तब काफी संघर्ष के बाद उन्हें मलयालम और तमिल फिल्में मिलनी शुरू हो गईं. लेकिन अचानक उन्हें ज्यादातर फिल्मों से निकाल दिया गया. इसके पीछे एक चौंका देने वाला कारण था. असल में विद्या एक कास्टिंग काउच के मामले से गुजरी थीं. वहां घटी घटना के बाद उन्हें ना केवल फिल्मों से निकाल दिया गया बल्कि उनके शरीर पर कई तरह की टिप्पण‌ियां की गईं.

vidya balan
विद्या अब फिल्म प्रोड्यूसर सिद्धार्थ रॉय कपूर की पत्नी हैं.


हर फिल्म से निकाल दिया मुझे, बोले- ये कहां से हीरोइन लगती है

ये सारे खुलासे विद्या बालन ने पिंकविला को दिए गए अपने इंटरव्यू में किए हैं. विद्या ने बताया कि उनके पास कई फिल्में आ गई थीं. उन्होंने कुछ की शूटिंग भी शुरू कर दी थी. लेकिन एक दिन एक डायरेक्टर ने कहा कि वो फिल्म के बारे में उनसे बात करना चाहता है. विद्या ने कहा कि किसी कॉफी शॉप पर चलते हैं. लेकिन डायरेक्टर बार-बार उनसे रूम में चलने को कह रहा था.



कुछ समय बाद विद्या बालन ने उसका मिजाज भांप लिया. लेकिन उन्होंने डायरेक्टर को सबक सिखाने की ठानी. वो डायरेक्टर के साथ रूम में चली गईं. लेकिन रूम में जाते वक्त विद्या ने दरवाजों को खुला छोड़ दिया. रूम में जाने के बाद कुछ देर तक डायरेक्टर इधर-उधर की बातें करता रहा. लेकिन समय की नजाकत, विद्या का मिजाज, विद्या की बातचीत का लहजा और खुले दरवाजे को देखते हुए वो खुद ही वहां से भाग खड़ा हुआ.
vidya balan
विद्या ने इसी विषय पर डर्टी पिक्चर फिल्म भी की थी.


लेकिन इसका खामियाजा विद्या को उस फिल्म से हाथ धोकर चुकाना पड़ा. इसी तरह की कई और घटनाएं तब अचानक होने लगीं. विद्या के हाथ में तब करीब 10 से ज्यादा फिल्में थीं. लेकिन ज्यादातर से उन्हें निकाल दिया गया. चेन्नई में रहने के दौरान जब उनके माता-पिता मलयालम और तमिल फिल्म प्रोड्यूसरों से विद्या को बाहर करने का कारण जानने पहुंचे तो उन्होंने विद्या की तस्वीर दिखाते हुए कहा- ये कहां से हीरोइन लगती है.

vidya balan
विद्या बालन ने कहानी में अपने अभिनय का लोहा मनवाया था.


छह महीने तक विद्या ने नहीं देखी अपनी शक्ल
विद्या बालन बताती हैं, 'मैं उन लोगों को काफी लंबे समय तक माफ नहीं कर पाई थी. लेकिन अब मैं उन्हें धन्यवाद करती हूं कि उन्होंने मुझे अपने आप को स्वीकार करने और प्यार करने के लिए वजह दी.' विद्या के अनुसार, 'कई तमिल प्रोड्यूसरों ने मुझे बदसूरत कहा था. मैंने करीब छह महीने तक खुद को शीशे में नहीं देखा.'

यह भी पढ़ेंः रेलवे स्टेशन पर गाने वाली महिला को बॉलीवुड में हिमेश रेशमिया ने दिया मौका, देखे VIDEO

असहज करने वाली फिल्म छोड़ने पर भेज दिया था लीगल नोटिस
विद्या बताती हैं, 'उस वक्त सब कुछ इतना व्यवस्थित नहीं होता था. मुझे फोन पर संपर्क कर के फिल्म के बारे में बताया गया. मैंने हामी भर दी. लेकिन जब शूटिंग शुरू हुई तो मैं असहज हो गई. फिल्म में बेहद अजीब किस्म के ह्यूमर का इस्तेमाल किया जा रहा है. मैं इसका बिल्कुल समर्थन नहीं करती थी. इसलिए मैंने फिल्म छोड़ दी. लेकिन बाद में उस निर्माता-निर्देशक ने मुझे कानूनी नोटिस भेज दिया.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 5:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर