हंगामे के बाद विजय सेतुपति ने छोड़ी क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन की बायोपिक '800', वायरल हुआ ट्वीट

विजय सेतुपति तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय हैं.
विजय सेतुपति तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय हैं.

साउथ के मशहूर एक्टर विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi) ने मुथैया मुरलीधरन के नोट को ट्वीट करते हुए लिखा, 'धन्यवाद ... नमस्कार ...'. इस नोट में मुथैया मुरलीधरन ने विजय सेतुपति को 800 फिल्म से वापस लेने का अनुरोध किया. उन्होंने यह भी कहा कि वह नहीं चाहते थे कि तमिलनाडु के महान कलाकार को नुकसान पहुंचे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 5:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. श्रीलंकाई क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) की जीवन कहानी पर आधारित फिल्म '800' को लेकर बढ़ते विवाद के बीच साउथ के मशहूर एक्टर विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi) ने फिल्म को छोड़ने का फैसला ले लिया है. इस फिल्म में वह मुरलीधरन की भूमिका निभाने वाले थे, लेकिन नेटिजंस, तमिल संगठनों, राजनीतिक दलों और फिल्म उद्योग में कई अन्य लोगों के विरोध के बाद विजय सेतुपति ने एक लेटर ट्वीट कर यह घोषणा कर दी है कि अब वह इस फिल्म का हिस्सा नहीं हैं.

वायरल हुआ विजय सेतुपति का ट्वीट
विजय सेतुपति ने मुथैया मुरलीधरन के नोट को ट्वीट करते हुए लिखा, 'धन्यवाद.. अलविदा...' इस नोट में मुथैया मुरलीधरन ने विजय सेतुपति को 800 फिल्म से वापस लेने का अनुरोध किया. उन्होंने यह भी कहा कि वह नहीं चाहते थे कि तमिलनाडु के महान कलाकार को नुकसान पहुंचे. बता दें, विजय सेतुपति तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय हैं. वह एक उम्दा अभिनेता-कलाकार के साथ-साथ गीतकार, संवाद-लेखक और फ़िल्मकार भी हैं. प्रयोगात्मक फिल्में करने के लिए चर्चा में रहते हैं. चुनिंदा किरदार ही निभाते हैं. विजय सेतुपति अपने दमदार अभिनय से किरदारों में जान डाल देते हैं.





ऐसे में मुथैया मुरलीधरन भी नहीं चाहते थे कि उनके करियर पर कोई आंच आए, इसलिए उन्होंने विजय से फिल्म छोड़ने का अनुरोध किया., जिसे विजय ने स्वीकार भी कर लिया. बता दें, इस फिल्म को लेकर लोगों का मानना है कि मुरलीधरन के जीवन पर बन रही '800' में उनका महिमामंडन किया जाएगा और किस तरह से उन्होंने तमिलभाषी विरोधी श्रीलंकाई नेताओं का साथ दिया, उसे छिपाया जाएगा. कुछ लोगों का कहना है कि तमिलनाडु के कई लोग और राजनेता मुथैया मुरलीधरन से नफरत करते हैं. कई राजनेता मुरलीधरन पर यह आरोप लगाते हैं कि तमिलभाषी होने के बावजूद उन्होंने श्रीलंका में तमिलभाषियों के खिलाफ काम करने वाले श्रीलंकाई राजनेताओं और सरकारों का साथ दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज