पंडित राजन मिश्र को नहीं मिल पाया था वेंटिलेटर, विशाल भारद्वाज ने सिस्टम को कोसा!

पंडित राजन मिश्र के निधन पर विशाल भारद्वाज. (फोटो साभार: vishalrbhardwaj
/Instagram,network-18)

पंडित राजन मिश्र के निधन पर विशाल भारद्वाज. (फोटो साभार: vishalrbhardwaj /Instagram,network-18)

देश के प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीत गायक पंडित राजन मिश्र (Pandit Rajan Mishra) का निधन वेंटिलेटर नहीं मिल पाने की वजह से हुआ. ये बात विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) को बर्दाश्त नहीं हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 8:25 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना की वजह से कई साहित्यकारों और कलाकारों को जान गंवानी पड़ रही है. देश-विदेश में प्रसिद्ध पद्मभूषण राजन साजन मिश्र की जोड़ी भी इस कोरोना काल में टूट गई. कोरोना संक्रमित राजन का दिल्ली में निधन हो गया. तमाम कोशिशों के बावजूद उन्हें वेंटीलेटर नहीं मिल सका था. ऐसे में भयावह हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है. प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीतकार पंडित राजन मिश्र (Pandit Rajan Mishra) के निधन पर दुखी विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj)  ने देश के सिस्टम पर नाराजगी जताई है.

फिल्ममेकर विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने ट्विटर के जरिए दुख जताया है. पंडित राजन मिश्र के लिए वेंटीलेटर सही समय पर उपलब्ध नहीं होने पर सिस्टम पर निशाना साधा और सवाल उठाया है. उन्होंने लिखा ‘मैं अब भी विश्वास नहीं कर पा रहा हूं कि पंडित राजन मिश्र नहीं रहें, मैं इस बात को मान नहीं पा रहा हूं कि उनके लिए एक वेंटिलेटर बेड भी उपलब्ध नहीं करा सके. उनकी आत्मा को शांति मिले’. विशाल ने देश में फैल रही कोरोना वायरस महामारी से होने वाली मौतों की तुलना हॉरर फिल्म से की है. उन्होंने लिखा ‘ये एक नेशनल हॉरर मूवी है, जिसे हम सभी लोग लाइव देख रहे हैं.’



विशाल भारद्वाज ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम पर भी पंडित राजन मिश्र के कार्यक्रम का एक वीडियो शेयर कर दुख जताते हुए पोस्ट लिखा है. विशाल के इस पोस्ट पर लोगों ने भी दुख जताया है. एक ने लिखा ‘ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक तरफ हम चांद पर जा रहे हैं और दूसरी तरफ हमारे पास बेसिक मेडिकल फैसिलिटी नहीं है. इसी वजह से हम पंडित राजन मिश्रा जी जैसे लोगों को खोते जा रहे हैं’.




कोरोना की वजह से ही पिछले दिनों बॉलीवुड के मशहूर संगीतकार श्रवण राठौड़ का निधन हो गया. इसके बाद राजन मिश्र जी नहीं रहें. इससे कला और संगीत प्रेमियों के बीच बेहद निराशा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज