बॉलीवुड पर हमले से भड़के विशाल भारद्वाज, कहा- जो कोस रहे हैं वो लोग ही फिल्म के लिए टिकट खरीदेंगे

विशाल भारद्वाज (Photo Credit- @vishalrbhardwaj/Instagram)
विशाल भारद्वाज (Photo Credit- @vishalrbhardwaj/Instagram)

बॉलीवुड (Bollywood) इंडस्ट्री पर लग रहे आरोपों पर विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने नाराजगी जाहिर करते हुए सफाई दी है. उन्होंने इसे खूबसूरत इंडस्ट्री बताते हुए इसे कोसने वाले लोगों पर हमला बोला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 9:46 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉलवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद बॉलीवुड (Bollywod) फिल्म इंडस्ट्री पर कई सवाल उठ रहे हैं. पहले इस केस में नेपोटिज्म और आउटसाइडर्स के साथ होने वाले भेदभाव का मामला उठा था वहीं अह ड्रग्स (Drugs) मामले में कई सेलेब्रिटीज का नाम आने की वजह से इंडस्ट्री को काफी बदनामी झेलनी पड़ रही है. वहीं इसके बाद सोशल मीडिया पर ना सिर्फ इंडस्ट्री की नामी हस्तियों से लोग सवाल पूछ रहे हैं बल्कि पूरी इंडस्ट्री को लेकर शक भी जता रहे हैं. ऐसे में कई सेलेब्रिटीज इस बात के खिलाफ खड़े हो गए हैं. हाल ही में जाने-माने निर्देशक विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने इंडस्ट्री को बदनाम किए जाने पर नाराजगी जाहिर की है.

विशाल भारद्वाज इंडस्ट्री पर नेपोटिज्म और वर्क कल्चर को लेकर लग रहे आरोपों पर भी बेहद नाराज हैं. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट की मानें तो विशाल भारद्वाज ने कहा है कि ये सारे आरोप बकवास हैं. उनका मानना है कि कुछ लोग इस इंडस्ट्री की इमेज खराब करने में दिलचस्पी रखते हैं. उनका कहना है कि इस इंडस्ट्री के लोग एक-दूसरे को सपोर्ट करते हैं और खास कर उनके लिए इंडस्ट्री के ना होते हुए भी काफी अच्छा अनुभव रहा. शुक्रवार को स्क्रीन राइटर्स एसोसिएशन अवॉर्ड्स की वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विशाल भारद्वाज ने कई बातें कहीं

उन्होंने कहा- 'मुझे पर्सनली ऐसा नहीं लगता कि यहां पर कोई टॉक्सिक कल्चर है. हमारे वर्क कल्चर में काफी प्यार है. फिल्म यूनिट पूरी तरह से परिवार बन जाती है... जो बरबाद किया जा रहा है आजकल उसमें निहित दिलचस्पी किसी तरह की है सबको मालूम है. हमें पता है कि ऐसा क्यों हो रहा है. इसलिए हमें माफ करें और अपने हाल पर छोड़ दें. हम ठीक हैं'.



उनका कहना है कि 'इसका इनसाइडर और आउटसाइडर्स से कोई लेना देना नहीं है. ये सब बनाई हुई बकवा है. हम एक परिवार की तरह हैं, मुझे इंडस्ट्री में कभी आउटसाइडर की तरह महसूस नहीं हुआ. मुझे जो भी कभी लगा होगा वो किसी और प्रोफेशन में होगा. आपको यहां पर जो इमोशनल सपोर्ट मिलेगा वो कहीं और नहीं मिलेगा'. उनका कहना है कि 'जो लोग आज कोस रहे हैं वहीं फिल्म देखने के लिए कल जाकर टिकट खरीदेंगे. हमारा शुक्रवार आने दो'.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज