Home /News /entertainment /

चंकी पांडे को जब बॉलीवुड ने ठुकराया तो बांग्लादेश ने अपनाया, एक्टर के लिए आसान नहीं थी राह

चंकी पांडे को जब बॉलीवुड ने ठुकराया तो बांग्लादेश ने अपनाया, एक्टर के लिए आसान नहीं थी राह

चंकी पांडेय ने बांग्लादेश में स्टारडम का स्वाद चखा.(फोटो साभार: chunkypanday/Instagram)

चंकी पांडेय ने बांग्लादेश में स्टारडम का स्वाद चखा.(फोटो साभार: chunkypanday/Instagram)

चंकी पांडेय (Chunky Pandey) ने कहा था कि ‘मैं अपनी बेटी अनन्या पांडेय (Ananya Pandey) से कहता रहता हूं कि आपको दर्शकों का प्यार कमाना है और उनका सम्मान करना है. जब आप फेल होते हैं तो किसी को भी आपकी परवाह नहीं होती है’.

    मुंबई: बॉलीवुड एक्टर चंकी पांडे  (Chunky Pandey) तीन दशक से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा रहें हैं. 1993 में डेविड धवन (David Dhawan) के निर्देशन में बनी कॉमेडी फिल्म ‘आंखें’ (Aankhen) जैसी सुपरहिट फिल्म में काम करने वाले चंकी ने काफी मुश्किल वक्त देखा है. एक समय तो ऐसा हुआ कि फिल्में मिलनी ही बंद हो गई थी. ऐसे में एक्टर ने बांग्लादेश जाने का फैसला किया, जो सही साबित हुआ. बहुत कम लोगों को पता होगा कि चंकी को बांग्लादेश में गजब की शोहरत और स्टारडम हासिल हुई.

    चंकी पांडेय ने 2020  में आउटलुक को दिए एक इंटरव्यू में अपने फिल्मी सफर के बारे में बताया था. चंकी ने कहा था कि ‘अगर मुझे दोबारा से करियर शुरू करने का मौका मिले तो मैं हर वो अच्छी, बुरी चीज रिपीट करना चाहूंगा जो मैंने पिछले 33 बरसों में किया. हर एक्टर की अलग-अलग जर्नी होती है. सबके अपने गम और खुशी के एक्सपीरिएंस होते हैं. बॉलीवुड की हिट फिल्म ‘आंखे ’ देने के बाद मेरे पास एक समय में सिर्फ एक ही फिल्म थी. वह थी ‘तीसरा कौन’ जो 1994 में बनी थी. इसके बाद मैं बांग्लादेश फिल्में करने गया. वहां के दर्शकों ने जो प्यार दिया है, उसका आभार जताता हूं’.

    फिल्म आंखे में गोविंदा और चंकी पांडेय. (फोटो साभार: chunkypanday/Instagram)

    चंकी पांडेय आगे बताते था कि ‘मैं अपनी बेटी अनन्या पांडेय से कहता रहता हूं कि आपको दर्शकों का प्यार कमाना है और उनका सम्मान करना है. मैं अक्सर अपनी बेटी से कहता हूं कि असफलता को संभालना बहुत आसान है, क्योंकि जब आप फेल होते हैं तो किसी को भी आपकी परवाह नहीं होती है. रोने पर भी कोई आपकी तरफ नहीं देखेगा. लेकिन जब आप सफल हो जाते हैं इसे संभालना मुश्किल या कई बार इंपॉसिबल हो जाता है.’

    चंकी पांडे बॉलीवुड में कुछ खास मुकाम नहीं बना पाए. (फोटो साभार: chunkypanday/Instagram)

    चंकी पांडेय के मुताबिक ‘मैंने 6 साल तक कई हिट फिल्मों में काम किया लेकिन अचानक मेरे पास काम ही नहीं था. इसलिए आपसे कहता हूं कि सफलता को थामे रहना आसान नहीं है. आपको मोमेंटम को बनाए रखना होता है. हालांकि असफलता में आपको खुद को बिजी रखना होगा. हिम्मत हारने की जरूरत नहीं है. मैंने अपनी एंटरटेनमेंट कंपनी शुरू की और बांग्लादेश चला गया, क्योंकि हार कर बैठ जाना कोई विकल्प नहीं था’.

    ये भी पढ़िए-Raaj Kumar Birth Anniversary : राजकुमार ने जब सलमान खान से कहा था- ‘अपने अब्बा से पूछना हम कौन ?’

    बता दें कि चंकी पांडेय ने 1955 में पहली बार बांग्लादेशी फिल्मों में काम करने गए. लोकल लैंग्वेज न आने के बावजूद बांग्लादेश में काफी सफल रहे. चंकी ने ‘स्वामी केनो आसामी’, ‘बेश कोरेची प्रेम कोरेची’ जैसी हिट फिल्में देकर बांग्लादेशी दर्शकों के दिल में अपनी खास जगह पाने में कामयाब हो गए थे.

    Tags: Ananya Pandey, Chunky pandey

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर