• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • 'जिंदगी न मिलेगी दोबारा' के 10 साल: ऋतिक रोशन ने इस कारण ठुकरा दिया था 'कबीर' का किरदार

'जिंदगी न मिलेगी दोबारा' के 10 साल: ऋतिक रोशन ने इस कारण ठुकरा दिया था 'कबीर' का किरदार

ऋतिक ने इस फिल्म में दिल-आत्मा सब झोंक दिया था. (फोटो साभार: zoieakhtar/Instagram )

ऋतिक ने इस फिल्म में दिल-आत्मा सब झोंक दिया था. (फोटो साभार: zoieakhtar/Instagram )

ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) का कहना है कि ‘जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ (Zindagi Na Milegi Dobara) फिल्म हवा के ताजे झोंके की तरह दिल को छू लेने वाली है. इस फिल्म की डायरेक्टर जोया अख्तर इस तरह की इंसान हैं जो प्रोजेक्शन और प्रवचन देने में भरोसा नहीं करती हैं.'

  • Share this:
    मुंबई: फिल्म ‘जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ (Zindagi Na Milegi Dobara)  15 जुलाई 2011 को रिलीज हुई थी. तीन दोस्तों की लाइफ की कहानी पर बनीं इस फिल्म को बेस्ट डायलॉग के लिए अवॉर्ड मिला था. फिल्म में कबीर की शादी होने वाली है, इससे पहले कबीर, इमरान और अर्जुन स्पेन छुट्टियां मनाने जाते हैं. इस दौरान उन्हें जीवन का एक अलग ही अनुभव मिलता है. जोया अख्तर (Zoya Akhtar) के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने दर्शकों का कुछ हटकर मनोरंजन किया था. ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) , फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) , अभय देओल (Abhay Deol)  कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) और कल्कि कोचलिन (Kalki Koechlin) की यह फिल्म आज भी कई लोगों को अपनी जिंदगी की कहानी लगती है.

    टाइम्स को दिए इंटरव्यू में ऋतिक रोशन ने कहा कि मुझे लगता है कि ये फिल्म कुछ ऐसी हिंदी फिल्मों में शुमार है जिसमें कोई गलत नोट नहीं है. ना ही कोई पल, डायलॉग, या इंटेशन है जो किसी को बुरा लगे. यह सच्ची कहानी लगती है. यह फिल्म हवा के ताजे झोंके की तरह दिल को छू लेने वाली है. इस फिल्म की डायरेक्टर जोया अख्तर इस तरह की इंसान हैं जो प्रोजेक्शन और प्रवचन देने में भरोसा नहीं करती हैं. इसलिए जिसने भी इस फिल्म को देखा उसके दिल को छू लिया. ट्विटर पर भी ऋतिक ने अपने जज्बात शेयर किए हैं.

    (साभार: Twitter)


    ऋतिक ने आगे कहा कि ‘इस फिल्म को जोया और रीमा ने गजब का लिखा है. यह उनके एक्सपीरिएंस का नतीजा है कि बिल्कुल नई चीज दर्शकों के सामने आ पाई. जब ऋतिक से पूछा गया कि उन्हें इस फिल्म में क्या पसंद आया? और अगर मौका मिले तो अर्जुन के अलावा किसी दूसरे कैरेक्टर को प्ले करना चाहेंगे तो उन्होंने बताया कि ‘पहले मुझे कबीर का रोल ऑफर किया गया था जिसे अभय देओल ने किया है. बाद में जोया ने मुझ पर छोड़ दिया कि फिल्म में क्या मुझे सबसे अधिक प्रेरित कर रहा है. अर्जुन जब स्कूबा डाइविंग के बाद बैठ जाता है, उस इमोशन ने मुझ पर इतना असर डाला कि अर्जुन का रोल प्ले करना पसंद किया.

    इसे भी पढ़िए-अमिताभ बच्चन और कादर खान की दोस्ती में ‘राजनीति’ से आई थी दरार? टूट गई थी दोस्ती!

    ऋतिक की असली जिंदगी और अर्जुन की कहानी काफी कुछ एक जैसी है इस  सवाल पर ऋतिक ने कहा कि ‘ मैंने कई फिल्में की है जिसमें मुझे कैरेक्टर के साथ तालमेल बिठाने के लिए अपने अंदर काफी बदलाव लाना पड़ा, लेकिन अर्जुन का रोल प्ले करने के लिए मुझे ऐसा कुछ भी नहीं करना पड़ा. मुझे लगा मैं अपनी ही जिंदगी जी रहा हूं. इस फिल्म में मैंने अपनी दिल-आत्मा सब झोंक दिया था. मुझे ऊपरवाले ने इशारा कर दिया था कि मुझे बदलने की जरूरत है और कुकून से बाहर आकर खुद को पाने की जरूरत है’. इस फिल्म के सीक्वल पर ऋतिक का कहना है कि जोया उनमें से नहीं कि सिर्फ लोगों के कहने पर किसी फिल्म का सीक्वल बनाना पसंद करेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज