कंगना रनौत ने फिल्म 'गली बॉय' को मिले अवॉर्ड्स पर उठाए थे सवाल, अब जोया अख्तर ने दिया जवाब

कंगना रनौत ने फिल्म 'गली बॉय' को मिले अवॉर्ड्स पर उठाए थे सवाल, अब जोया अख्तर ने दिया जवाब
कंगना रनौत, जोया अख्तर

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की फिल्म छिछोरे (Chhichhore), जोया अख्तर की (Zoya Akhtar) की गली बॉय (Gully Boy) से कहीं ज्यादा बेहतर थी.

  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) इन दिनों अपने तीखें बयानों के चलते सुर्खियों में हैं. सुशांत सिंह राजपूत के निधन (Sushant Singh Rajput) के बाद एक्ट्रेस ने बॉलीवुड के कुछ बड़े प्रोडक्शन हाउस और कुछ एक्टर-एक्ट्रेसेस पर जमकर निशाना साधा है. इसके साथ ही कंगना रनौत ने अपने इंटरव्यूज से लेकर सोशल मीडिया तक जोया अख्तर (Zoya Akhtar) की फिल्म 'गली बॉय' (Gully Boy) को मिले अवॉर्ड्स पर भी सवाल उठाया था. उनके इस कमेंट पर अब खुद जोया अख्तर ने जवाब दिया है. उन्होंने ना सिर्फ कंगना द्वारा उठाए गए सवालों का जिक्र किया बल्कि इंडस्ट्री में चल रही नेपोटिज्म की बहस पर भी अपनी राय रखी.

जोया अख्तर ने अपने बयान में ये साफ कर दिया कि कंगना रनौत द्वारा कही गई बातों से उन्हें कुछ फर्क नहीं पड़ता है. उन्होंने इंडिया टुडे से की गई बातचीत में कंगना द्वारा उठाए गए सवालों का जिक्र किया. जोया से पूछा गया कि क्या वो कंगना को अपनी अगली पार्टी में इनवाइट करेंगी? इस पर जोया ने कहा- 'उन्होंने हर प्लैटफॉर्म पर जाकर ये कहा है कि वो मेरे काम को पसंद नहीं करती हैं. मुझे उन्हें इस पोजीशन में नहीं रखना चाहिए'.

बता दें कि कंगना ने कहा था कि 'सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'छिछोरे' जोया अख्तर की फिल्म 'गली बॉय' से बेहतर थी और ज्यादा अवॉर्ड्स की हकदार थी'. 'गली बॉय' ने कई कैटेगरीज में 13 फिल्मफेयर अवॉर्ड्स जीते थे. इस पर जोया अख्तर ने कहा- 'सारे नहीं, क्योंकि मैं अवॉर्ड सेरेमनीज में नहीं गई थी और ये जरूरी भी नहीं है. वो (कंगना रनौत) खुद अवॉर्ड्स का विरोध करती हैं, ऐसे में मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्यों वो इनके बारे में बात करती रहती हैं'. मालूम हो कि जोया अख्तर की 'गली बॉय' 2020 ऑस्कर में भारत की एंट्री के लिए भी सिलेक्ट की गई थी.



जोया अख्तर के साथ इस इंटरव्यू में फरहान अख्तर और जावेद अख्तर भी शामिल हुए थे. उन्होंने नेपोटिज्म पर कहा- 'अगर मेरे पास पैसा है, मैं अपने बेटे पर लगाऊंगी, ये नेपोटिज्म है? तब तो सभी इंडस्ट्रीज में नेपोटिज्म है. अगर मैं नाई हूं और मेरे पास अपनी दुकान है, तो मैं अपनी दुकान अपने बेटे को दूंगी ना कि शहर के सबसे बेस्ट नाई के लिए अपनी दुकान छोड़ दूंगी'.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading