Home /News /entertainment /

स्टारडम मुझे नहीं बदल सकताः रितुराज

स्टारडम मुझे नहीं बदल सकताः रितुराज

बॉलीवुड में अपनी खास जगह बनाने की यात्रा पर निकले रितुराज ने अपने अब तक के सफर और जिंदगी के फलसफे को लेकर बहुत सी बातें साझा कीं।

बॉलीवुड में अपनी खास जगह बनाने की यात्रा पर निकले रितुराज ने अपने अब तक के सफर और जिंदगी के फलसफे को लेकर बहुत सी बातें साझा कीं।

बॉलीवुड में अपनी खास जगह बनाने की यात्रा पर निकले रितुराज ने अपने अब तक के सफर और जिंदगी के फलसफे को लेकर बहुत सी बातें साझा कीं।

  • News18.com
  • Last Updated :
    नई दिल्ली। ओडीशा के पुरी जिले से आने वाले गायक रितुराज मोहंती की अलहदा आवाज आज पहचान की मोहताज नहीं है। यह उनकी आवाज का जादू ही है जिसके चलते वे रियल्टीच शो रॉ स्टा र के विजेता बने। फिल्मह भूतनाथ रिटर्स्जा और आमिर खान के शो सत्य मेव जयते में उनकी आवाज लोगों के दिलो-दिमाग पर छा गई। हाल ही में सीएनएन आईबीएन इंडियन ऑफ दी ईयर अवॉर्ड समारोह में भी रितुराज मोहंती ने अपनी आवाज से समां बांध दिया। बॉलीवुड में गायक के रूप में अपनी खास जगह बनाने की यात्रा पर निकले रितुराज ने अपने अब तक के सफर और जिंदगी के फलसफे को लेकर आईबीएन खबर से बहुत सी बातें साझा कीं।
    मेरी प्रेरणा: बचपन में हर एक का यही सपना होता है कि उसे हर व्यबक्ति जानें। मेरा भी दुनिया में फेमस होने का सपना था। कुछ लोग क्रिकेटर बनकर मशहूर होते हैं, कुछ इंजीनियर बनकर, लेकिन मेरा सपना संगीत की दुनिया में नाम कमाना था। जानता था कि गायक बनना इतना आसान नहीं है। सैकड़ों लोग गायक बनने के लिए बॉलीवुड में अपनी किस्मरत आजमाते हैं, लेकिन उनमें से बहुत ही कम होते हैं जो सोनू निगम, या फिर अरिजित सिंह की तरह अपनी जगह बना पाते हैं। सच कहूं तो मैं भी यही चाहता हूं। मेरी इच्छाल है कि अमिताभ बच्च न, शाहरुख खान जैसे इंडस्ट्रीन के बड़े स्टा र्स के लिए गाना गाऊं। मैं भी संगीत के क्षेत्र में अपनी जगह बनाने के लिए प्रयास कर रहा हूं। अपने मम्मीं पापा की इस सलाह के साथ कि या तो हिट होना या फ्लॉप, इसके बीच में कुछ नहीं होना।
    स्टारडम से बदला नहीं: मुझे खुशी है कि लोग मेरे काम को पहचानने लगे हैं। लेकिन मैं जरा भी बदला नहीं हूं और न बदलूंगा। मैं जैसा था वैसा ही हूं। सच कहूं तो मैं जिंदगी भर ऐसा ही रहूंगा। मेरी प्रेरणा और मेरे पहले गुरु मेरे पापा हैं। मेरे पापा ने मुझे हमेशा से जमीन से जुड़े रहने की शिक्षा दी है। उन्हों ने मुझे संगीत में चलना सिखाया है और उनकी सिखाई हुई हर बात मेरी जिंदगी और करियर में काम आई है। इंडियन ऑफ द ईयर अवॉर्ड में मेरे लाइव परफोरमेंस के बाद कितने सारे बड़े लोगों ने मेरे काम को पहचाना। मेरी तारीफ की। इससे मेरा उत्साफह बढ़ा।

    और जिंदगी बदल गई: जिंदगी सभी को अवसर देती है। एक ऐसा मौका देती है, जहां आप अपनी क्षमता और प्रतिभा को दिखा पाते हैं। रियल्टीच शो रॉ स्टाहर मेरी जिंदगी का वही एक मौका था। उस शो ने मुझे बहुत कुछ सिखाया और खुद को लेकर आत्मटविश्वा स पैदा किया। रॉ स्टा र ही मेरी जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट था। जैसे ही मैं इस रियल्टीद शो के लिए चुना गया मेरी जिंदगी में मानो सब कुछ बदल गया। इस शो ने मुझे बहुत सारे लोगों के बीच पहुंचा दिया और नए अनुभवों से भर दिया।

    संघर्ष के रास्तेअ: यहां तक पहुंचने का सफर भी बहुत संघर्ष भरा रहा। जाहिर है संघर्ष हर जगह है, लेकिन फिर भी मैं मुंबई में रेलवे स्टेनशन पर सोया। अंधेरी डोंगर में हम तकरीबन 11 लोग एक कमरे में रहते थे। रॉ स्टा र्स में आने से पहले मैं 200 से 300 गाने गा चुका था। लेकिन कमाल था कि गाए हुए इन गानों में से कई के पैसे ही नहीं मिले। कई लोग हैं जो कल मिलता हूं कहकर आज तक नहीं मिले।

    जब आमिर ने थपथपाई पीठ- आमिर खान के शो सत्य मेव जयते में लाइव गाना गाने का ऑफर जब मिला तो मैं काफी डर गया था। लेकिन आमिर मेरी बैचेनी को समझ गए और उन्हों ने मुझे शांत रहने के लिए कहा। शूट के दो घंटे पहले वो मुझे मिले और कहा कि बस तुम अपना सबसे अच्छाु गाना। बस अपना बेहतरीन देने के लिए आमिर का इतना कहना ही काफी था। बाकी की कहानी आपको पता ही है।

    Tags: Bollywood, Odisha

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर