अपना शहर चुनें

States

एक हसीना थी और इकबाल जैसी बॉलीवुड फिल्मों के संपादक संजीव दत्ता का निधन

एक हसीना थी और इकबाल जैसी बॉलीवुड फिल्मों के संपादक संजीव दत्ता का निधन.
एक हसीना थी और इकबाल जैसी बॉलीवुड फिल्मों के संपादक संजीव दत्ता का निधन.

संजीव (sanjib datta) को बॉलीवुड (Bollywood) में काफी प्यार मिला. साल 2004 में श्रीराम राघवन निर्देशित फिल्म एक हसीना थी (Ek Hasina Thi) के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ संपादन का जी सिने अवार्ड मिला, तो वहीं रानी मुखर्जी स्टारर फिल्म मर्दानी (2014) के संपादन के लिए उन्हें स्क्रीन अवार्ड मिला था

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 5:54 AM IST
  • Share this:
हिंदी और बांग्ला फिल्मों (film) के मशहूर फिल्म एडिटर संजीव कुमार दत्ता (sanjib datta) का रविवार देर रात निधन हो गया. बॉलीवुड (Bollywood) की कई बड़ी फिल्मों इकबाल (Iqbal), तीन दीवारें, एक हसीना थी (Ek Hasina Thi) और 8x10 तस्वीर का संपादन करने वाले संजीब के निधन में अभी ज्यादा जानकारी हासिल नहीं हो सकी है. वह 54 वर्ष के थे. दत्ता पिछले कुछ साल से मुंबई छोड़कर कोलकाता आ गए थे. दत्ता ने काफी लंबे समय तक नागेश कुकुनूर की फिल्मों का संपादन किया. बताया जाता है कि संजीव दत्ता ने नागेश कुकुनूर की लगभग सभी फिल्मों में संपादन किया था.

फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट (एफटीटीआई) से फिल्मों से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी हासिल करने के बाद संजीव ने मशहूर फिल्म संपादक रेनू सलूजा के साथ अपने करियर की शुरुआत की. रेनू के साथ काम करते हुए उन्हें अपने करियर की बतौर संपादक पहली फिल्म बड़ा दिन (1998) मिली थी. रेनू के साथ रहते हुए संजीव ने बहुत कुछ सीखा था यही कारण रहा कि जब तह वह रेनू सलूजा को काफी सम्मान किया करते थे. रेनू सलूजा की मौत के बाद संजीव बेहद अकेले पड़ गए थे. बताया जाता है कि वह रेनू की आवाज सूनने के लिए महीने भर तक उनके लैंडलाइन पर फोन किया करते थे और उनकी रिकॉर्डेड आवाज सुना करते थे.

संजीव को बॉलीवुड में काफी प्यार मिला. साल 2004 में श्रीराम राघवन निर्देशित फिल्म एक हसीना थी के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ संपादन का जी सिने अवार्ड मिला, तो वहीं रानी मुखर्जी स्टारर फिल्म मर्दानी (2014) के संपादन के लिए उन्हें स्क्रीन अवार्ड मिला था. बंगाली फिल्म साहेब बीबी गोलाम (2016) के लिए संजीब ने पूर्वी क्षेत्र का फिल्मफेयर पुरस्कार जीता था.



इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज