छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले का असर फिल्म इंडस्ट्री पर भी, एंटी टेररिस्ट फोरम ने लगाई रोक की याचिका!

एंटी टैररिस्ट फोरम ने लगाई रोक की याचिका

एंटी टैररिस्ट फोरम ने लगाई रोक की याचिका

छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले (Naxal attack in Chhattisgarh) का असर अब फिल्म इंडस्ट्री (Film Industry) पर भी देखने को मिल सकता है. नक्सल पृष्ठभूमि पर बन रही कुछ फिल्मों को लेकर आतंकवाद विरोधी फोरम (Anti-Terrorism Forum) ने सेंसर बोर्ड (Censor Board) में याचिका दायर कर रिलीज पर रोक की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 4:55 PM IST
  • Share this:
हाल ही में छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाके (Naxal belt of  Chhattisgarh) बीजापुर और सुकमा जिले (Sukma District) की सीमा पर हुए नक्सली हमले में 23 जवान शहीद हो गए थे, जिसने पूरे देश को हिला कर रख दिया था. इस हमले का असर अब फिल्म इंडस्ट्री (Film Industry) पर भी देखने को मिल रहा है. नक्सल पृष्ठभूमि पर बन रही कुछ फिल्मों को लेकर आतंकवाद विरोधी फोरम (Anti-Terrorism Forum) ने सेंसर बोर्ड में याचिका दायर की है. इसमें नाम है चिरंजीवी की 'आचार्य' (Chiranjeevi's 'Acharya') और राणा दग्गुबाती की फिल्म 'विराट पर्वम' (Rana Daggubati's 'Virata Parvam') का. दोनों फिल्मों की कहानी एक नक्सल पृष्ठभूमि पर है. दोनों फिल्मों में लीड रोल नक्सली के रूप में दिखाए गए हैं.

छत्तीसगढ़ में हुए माओवादी नरसंहार (Maoist massacre) का अब इन दोनों फिल्मों पर असर पड़ा है और इन फिल्मों के लिए नई परेशानी का सबब बन गया है. सूत्रों के अनुसार आतंकवाद विरोधी फोरम ने सेंसर बोर्ड में याचिका दायर कर ऐसी फिल्मों पर रोक लगाने की मांग की है. याचिका में कहा गया है कि ये फिल्में समाज के लिए हानिकारक हैं और हमारे देश में युवाओं को गलत संदेश देंगी. इतना ही नहीं याचिका में कहा गया है कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो को वो सिनेमाघरों के सामने विरोध करेंगे. साथ ही सवाल खड़ा किया गया है कि क्या पुलिस और सेना के अधिकारियों को मारने वाले नक्सली और माओवादियों को हीरो की तरह दिखाया जाना सही है. सेंसर बोर्ड इस मामले को कितनी गंभीरता से लेता है यह देखना बाकी है.

बता दें इससे पहले भी नक्सल पृष्ठभूमि पर टॉलीवुड में कई प्रभावशाली फिल्में रिलीज हो चुकी हैं. हालांकि आज तक ऐसी मूवी पर किसी ने रोक लगाने की मांग नहीं की थी. 'आचार्य ’ 13 मई को सिनेमाघरों में रिलीज के लिए तैयार है और 'विराट पर्वम' 30 अप्रैल को रिलीज होनी है. लेकिन फिलहाल इस याचिका और कोरोनो वायरस की दूसरी लहर के चलते इन दोनों फिल्मों के रिलीज को लेकर संशय बन गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज