बायस्कोपवाला
3.5/5
पर्दे पर : 25 मई 2018
डायरेक्टर : देब मेधेकर
संगीत : संदेश शांडिल्य
कलाकार : डैनी डेंजोंग्पा, आदिल हुसैन, टिस्का चोपड़ा
शैली : ड्रामा
यूजर रेटिंग :
0/5
Rate this movie

Movie Review : एक सुंदर सी कहानी बनकर दिल में उतरती है बायस्कोपवाला

रबींद्रनाथ टैगोर के उपन्यास काबुलीवाला पर आधारित इस फिल्म में डैनी की दमदार परफॉर्मेंस है स्पेशल हाइलाइट.

News18Hindi
Updated: May 26, 2018, 1:25 PM IST
Movie Review : एक सुंदर सी कहानी बनकर दिल में उतरती है बायस्कोपवाला
बायस्कोपवाला फिल्म का एक दृश्य
News18Hindi
Updated: May 26, 2018, 1:25 PM IST
विवेक शाह

कहानी कुछ इस तरह है कि एक लड़की अपने पिता की मौत के बाद उनके पुराने दोस्त से मिलती है. उसके पापा का ये पुराना दोस्त बायस्कोप शो चलाते हैं. लड़की को अपने बचपन से ही बायस्कोप शोज का बहुत शौक होता है. भारत और अफगानिस्तान को जोड़ने वाली ये कहानी एक प्यार और सिनेमा के सफर को दिखाती है.

देब मेधेकर पहली बार इस फिल्म से डायरेक्शन की दुनिया में आए हैं. ये फिल्म रबींद्रनाथ टैगोर की काबुलीवाला का अडेप्टेशन है. ये एक प्यारी सी फिल्म है, जिसमें अलग-अलग देशों की सीमाओं से जुड़े लोगों की तकलीफों और संघर्ष की कहानी दिखाई गई है.ये कहानी है रहमत खान (डैनी डेंजोंग्पा) की. रहमत अपनी जीविका चलाने के लिए बायस्कोप पर निर्भर करता है. इससे पहले अफगान के गांव में उसका एक सिनेमाघर होता है. तालिबानी हमले में वह सिनेमाघर बर्बाद हो जाता है. इसके बाद वह बायस्कोप पर निर्भर हो जाता है. डैनी की अदाकारी मन मोह लेने वाली है.

इसके अलावा फिल्म की सपोर्टिंग कास्ट यानी आदिल हुसैन, टिस्का चोपड़ा, इकावली खन्ना और बृजेंदर काला भी अपने अभिनय से प्रभाव जमाने में कामयाब रहे हैं. फिल्म को देखने के बाद सिनेमेटोग्राफर राफे महमूद के कैमरे का कमाल भी साफ नजर आता है. जिस तरह उन्होंने कोलाकाता और काबुल की लोकेशंस को कैमरे में कैद किया है, वो बेमिसाल है. कहा जाना चाहिए कि ये एक इतनी सुंदर फिल्म है, जिसे भीतर तक महसूस किया जा सकता है.

अंग्रेजी में ये रिव्यू पढ़ने के लिए क्लिक करें PICKDFLICK पर

 

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
3.5/5
स्क्रिनप्ल :
3.5/5
डायरेक्शन :
4/5
संगीत :
3/5
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर