vidhan sabha election 2017
फुकरे रिटर्न्स
3/5
पर्दे पर : 8 दिसंबर 2017
डायरेक्टर : मृगदीप सिंह लांबा
संगीत : राम संपत, समीर उद्दीन,
कलाकार : पुलकित सम्राट, ऋचा चड्ढा, वरुण शर्मा, अली फजल, मनजोत सिंह,
शैली : कॉमेडी
यूजर रेटिंग :
4/5
Rate this movie

Film Review: 'फुकरे रिटर्न्स' के एंड में है बड़ा ट्विस्ट!

Urvashi Urvashi | News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 12:27 PM IST
Film Review: 'फुकरे रिटर्न्स' के एंड में है बड़ा ट्विस्ट!
पढ़िए कैसी है फिल्म फुकरे रिटर्न्स
Urvashi Urvashi | News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 12:27 PM IST
फुकरे रिटर्न्स. चार दोस्तों की टोली दोबारा वही मस्ती लेकर लौटी है. एक अच्छी बात ये है कि जिसने पहली वाली फिल्म नहीं देखी, वह भी इसे पूरी तरह इंजॉय कर सकता है. 'बाहुबली-2' की तरह इसमें भी एक गाने के जरिये पिछले पार्ट की कहानी समझाई गई है.

फिल्म की शुरुआत होती है हनी और चूचे की ड्रीम सीक्वेंस से. अक्सर ऐसा फिल्मों में हीरो-हीरोइन के बीच होता है, लेकिन ये फुकरे हैं तो कुछ डिफ्रेंट तो बनता है. इस ड्रीम सीक्वेंस में हनी और चूचे के साथ नजर आती हैं नागिन बनी भोली पंजाबन उर्फ ऋचा चड्ढा, जो अपने 'प्यारे' चूचे को पाने वहां आई है.

भोली के साथ सपने में नागिन डांस करते-करते सुबह होती है और सीन खुलता है दिल्ली की छत पर जहां चूचे की मां उसे डांट कर उठाती हैं. इसी तरह एक-एक करके अली फज़ल, पुलकित सम्राट और लाली का इंट्रो होता है.

अपनी-अपनी लाइफ में मस्ती मार रहे फुकरों की लाइफ में टेंशन लेकर आती हो भोली पंजाबन की जेल से रिहाई. पिछले पार्ट में इन फुकरों की वजह से जेल गई, भोली इस पार्ट में कंगाल हो चुकी हैं. रिहाई के लिए मंत्री से पैसे का जुगाड़ करके बाहर आई भोली अपने पैसों की रिकवरी के लिए फुकरों को ढूंढती है.

अब इनका मिशन, मिशन की मुसीबतें और एंडिंग का मजा तो आप फिल्म देखकर ही लीजिए. लेकिन एक बात, फिल्म का पहला पार्ट आपको कहीं भी बोर नहीं करेगा. एक एक सीन मजेदार है. इसमें कसे हुए डायलॉग्स का बड़ा हाथ है और इन डायलॉग्स का साथ इन फुकरों ने अपनी एक्टिंग से बखूबी दिया है.

चूचे का किरदार निभाने वाले वरुण शर्मा ने जिस क्यूटनेस के साथ काम किया है वह तारीफ के काबिल है.. ये ऐसा बंदा है जिसका केवल चेहरा देखकर ही आपकी हंसी छूट जाएगी. अपने कमाल के एक्सप्रेशन से चूचा पूरी फिल्म में छाया हुआ है. 

चूचे के अलावा पंकज त्रिपाठी, अली फजल, ऋचा चड्ढा अरु पुलकित सम्राट, सभी ने बेहतरीन काम किया है. जितने ठहाके आप पहले हिस्से में लगाएंगे दूसरे में उससे कुछ भी कम नहीं है.

अपने लॉट्री गेम की वजह से मुसीबत में फंसे फुकरे दूसरे हिस्से में एक खजाने की खोज में निकलते हैं और ये सब होता है चूचे की बदौलत.

इस फिल्म को देखकर कहा जा सकता है कि बड़े दिनों बाद एक अच्छी कॉमेडी फिल्म आई है. इस कहानी को और भी खुलकर बताया जा सकता था, लेकिन इसे इतने बेहतरीन तरीके से पेश किया गया है कि ये इन फुकरों के साथ नाइंसाफी हो जाती.

अगर आप फिल्म की एंडिंग के बारे में जानना चाहते हैं तो बता दें कि एंडिंग हैप्पी है और यहां तक का सफर मजेदार है. और हां आखिर में चूचे को भोली से एक फ्रेंच किस भी मिलती है.

ये भी पढ़ें:

Bigg Boss 11: अर्शी से भी ज्यादा एंटरटेनिंग हैं उनके पापा

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
3/5
स्क्रिनप्ल :
3.5/5
डायरेक्शन :
3.5/5
संगीत :
3/5
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर