लाइव टीवी
मरजावां
.5/5
पर्दे पर : 15 नवंबर, 2019
डायरेक्टर : मिलाप जावेरी
संगीत : हनी सिंह, तनिष्क बागची, मीत ब्रदर्स व अन्य
कलाकार : सिद्धार्थ मल्होत्रा, रितेश देशमुख, तारा सुतरिया, रकूल प्रीत सिंह
शैली : ड्रामा/थ्र‌िलर
यूजर रेटिंग :
0/5
Rate this movie

Marjaavaan Movie Review: इस खूनी कहानी में अगर कोई हारेगा तो वो है दर्शक

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 8:26 PM IST
Marjaavaan Movie Review: इस खूनी कहानी में अगर कोई हारेगा तो वो है दर्शक
मरजावां बड़े पर्दे पर रिलीज हो गई है.

मरजावां (Marjaavaan) रिव्यू: दिल को बेहद मजबूत करके ये फिल्म झेलनी होगी. हम मरजावां को देते हैं आधा स्टार.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 8:26 PM IST
  • Share this:
मरजावां कहानी है रघु (सिद्धार्थ मल्होत्रा-Siddharth Malhotra) और विष्णु (रितेश देशमुख-Riteish Deshmukh) के बीच एक खूनी जंग की, जिसमें अगर कोई हारता है तो वो है सिर्फ दर्शक. दरअसल दोनों मुंबई में सक्रिय टैंकर और देह व्यवसाय चलाने वाले एक ताकतवर गैंग के सदस्य हैं, लेकिन रघु जल्दी ही ज़ोया (तारा सुतारिया) के प्यार में पड़ जाता है और जैसा आमतौर पर इस तरह की रटी-रटाई कहानियों में होता है, उनके बीच की दुश्मनी और भी पुख़्ता हो जाती है.

अगर निर्देशक मिलाप ज़वेरी अपनी इस अस्सी के दशक सरीखी कहानी को भी ठीक से बना ले जाते तो इसको बर्दाश्त करना आसान हो जाता लेकिन दर्शकों का दुर्भाग्य कि ऐसा हो न पाया. हालांकि, समस्याएं यहीं ख़त्म नहीं हो जाती हैं.

जब हीरो बनने और अमिताभ बच्चन जैसा दिखने के फेर में मल्होत्रा ओवरएक्टिंग और कतई अविश्वसनीय स्टंट्स करने लगते हैं तो आप उम्मीद करते हैं कि उनके साथी कलाकार फिल्म में थोड़ी बेहतरी लाएंगे, लेकिन वो तो उनसे भी बीस निकलते हैं. देशमुख के डायलॉग्स काफी हास्यास्पद हैं और कहीं से भी भय पैदा नहीं करते. ऊपर से फिल्म में बेहद ही खतरनाक दिखने वाले उनके बोडीगार्ड्स हैं जिनका काम सिर्फ गुर्राना है. आखिरी बार मैंने इतने सारे खूंखार चेहरे वाले गुंडे आमिर खान की फिल्म मेला में देखे थे.

Marjaavaan: रिलीज हुआ मरजावां का शानदार गाना, इस हॉट एक्ट्रेस के डांस ने लगाई आग
Marjaavaan में रकूल प्रीत सिंह और तारा सुतरिया को केवल प्रॉप्स के तौर पर रखा गया है.


फिल्म की दोनों नायिकाएं तारा सुतरिया (Tara Sutria) व रकूल प्रीत ‌सिंह (Rakul Preet Singh) प्रॉप्स की ज़िम्मेदारी पूरी करती हैं और उनके रहने या ना रहने से इस 'भयंकर मर्दानग़ी' वाली फिल्म को कुछ ख़ास अंतर नहीं पड़ता है. कुछेक स्पेशल डांस सांग्स भी हैं और जैसा कि आपने उम्मीद लगा रखी है, उनकी सेटिंग डांस बार ही हैं.

यह भी पढ़ेंः सलमान खान के गाने पर इस कपल ने खेतों में किया ऐसा Dance, हो रहा है Viral

इस फिल्म में दो-चार अजीबोगरीब डायलॉग्स ही ऐसे हैं जो आपको अपने मोबाइल से सर उठाने को मजबूर करेंगे, इनके अलावा सिर्फ मल्होत्रा हैं और उनके मुंह में फंसी हुई एक माचिस की तीली. चलिए आपकी समझ बनाने के लिए एक डायलॉग बता ही देता हूं. मल्होत्रा विलेन से बड़ी अदा से कहते हैं: मारूंगा कनपटी पे, दर्द मिटेगा गणपति पे. मेरा भी दर्द जल्दी मिटने वाला नहीं लग रहा. अब तो आप समझ गए होंगे कि मरजावां अपने ढाई घंटे के दौरान आपको किन गलियों से ले जाएगी.यह भी पढ़ेंः #MeToo: अनु मलिक के ओपन लेटर का सोना महापात्रा और श्‍वेता पंडित ने दिया जवाब

दिल को बेहद मजबूत करके मैंने ये फिल्म झेली है ताकि आपको ये कष्ट ना उठाना पड़े. मेरी तरफ से मरजावां को मिलता है आधा स्टार.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
/5
स्क्रिनप्ल :
/5
डायरेक्शन :
/5
संगीत :
2/5

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फ़िल्म रिव्यू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 5:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर