इनक्रेडिबल्स 2
3.5/5
पर्दे पर : 22 जून 2018
डायरेक्टर : ब्रैड बर्ड
संगीत : मिशेल गियाचिनो
कलाकार : क्रैग टी नेल्सन, होली हंटर, सारा वोवेल, सैम्युअल एल जैक्सन
शैली : एनिमेशन, एक्शन, एडवेंचर
यूजर रेटिंग :
0/5
Rate this movie

Movie Review : 14 साल बाद आई The Incredibles 2 है बेहतरीन फिल्म

फिल्म का एनिमेशन कमाल का है और फिल्म की डिज़ाइनिंग पहले से बहुत बेहतर है. ज़ाहिर है समय के साथ एनिमेशन एडवांस हुआ है और ये फिल्म भी पहले से बेहतर दिखती है.

News18Hindi
Updated: June 22, 2018, 6:29 PM IST
Movie Review : 14 साल बाद आई The Incredibles 2 है बेहतरीन फिल्म
इनक्रेडिबल्स 2
News18Hindi
Updated: June 22, 2018, 6:29 PM IST
विवेक शाह


साल 2004 में जब 'दि इंक्रेडिबल्स' भारत में रिलीज़ हुई थी तो इस फ़िल्म में शाहरुख खान ने हिंदी डबिंग की थी. इस फिल्म को दुनियाभर में सराहा गया था और भारत में भी इस सुपरहीरो एनिमेशन फिल्म को पसंद किया गया था. फिल्म की कहानी एक रिटायर हो चुके सुपरहीरो परिवार के इर्द गिर्द घूमती है. सुपरहीरोज़ के पास अब कोई काम नहीं है ऐसे में सुपरहीरो आम लोगों की ज़िंदगी बिता रहे हैं.



लेकिन एक सुपरविलेन की एंट्री के बाद सुपरहीरोज़ फिर से वापसी करते हैं और इंक्रेडिबल्स परिवार को फिर से सुपरहीरो बनने का मौका मिल जाता है. 14 साल बाद इस फिल्म के दूसरे भाग की कहानी पिछली फिल्म के अंत से ही शुरु होती है.


निर्देशक ब्रैड बर्ड की इस कहानी में पार्र फैमिली एक बार फिर से केंद्र में है. निर्देशक ने फिल्म की कहानी को लंबा नहीं खींचा है और पहले 10 मिनट में ही कहानी में एक्शन शुरु हो जाता है.


कहानी की शुरुआत पिछली फिल्म के आखिरी दृश्य से ही शुरु होती है और इसके बाद इस सीक्वल के अंदर मस्ती है और इस बार फिल्म में हीरो नहीं बल्कि हीरोइन को महत्ता दी गई है. ये कहानी थोड़ी कॉम्प्लेक्स होती है लेकिन पिछली फिल्म का नॉस्टेलजिया आपको बोर नहीं होने देता.


फिल्म का एनिमेशन कमाल का है और फिल्म की डिज़ाइनिंग पहले से बहुत बेहतर है. ज़ाहिर है समय के साथ एनिमेशन एडवांस हुआ है और ये फिल्म भी पहले से बेहतर दिखती है. फिल्म में आपको एनिमेटेड किरदार लगभग असली ही नज़र आएंगे. पिक्सार ने इस फिल्म में किरदारों के डिज़ाइन पर काफी काम किया है और वो स्क्रीन पर दिखता है.


फिल्म की रफ्तार अच्छी है, हालांकि कहानी कहीं कहीं कमज़ोर पड़ती लगती है. फिल्म में माइकल जियाचीनो का संगीत जान डालता है और फिल्म के सीक्वेंस से आपको जोड़ता है. हालांकि फिल्म को आने में 14 साल लग गए लेकिन 14 साल बाद फिल्म देखने लायक बनी है. ये परिवार के लिए कमाल की फिल्म है और एक बार इसे देखने आपको ज़रुर जाना चाहिए.


हां ये फिल्म पहली फिल्म जितनी अच्छी नहीं है लेकिन इस फिल्म से आपको निराशा नहीं होगी. इस फिल्म के साथ कोई हिंदी फिल्म भी नहीं आई है तो इस हफ़्ते बॉक्स ऑफिस पर इन सुपरहीरोज़ को मौका मिलने वाला है.


अंग्रेजी में रिव्यू पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें-


डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
3/5
स्क्रिनप्ल :
3.5/5
डायरेक्शन :
3/5
संगीत :
4/5
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर