अपना शहर चुनें

States

तमिल एक्टर GV Prakash की 'Bachelor' से जुड़े विवादों पर फिल्म के निर्देशक ने दी सफाई!

'Bachelor' के निर्देशक ने फिल्म को लेकर कही बड़ी बातें
'Bachelor' के निर्देशक ने फिल्म को लेकर कही बड़ी बातें

सतीश (Sathish Selvakumar) ने कहा कि हम असली रिलेशनशिप को फिल्म में दर्शाना चाहते थे इसलिए फिल्म में रॉनेस (Rawness) दिखाए जाने की आवश्यकता थी. फिल्म के डायलॉग वैसे ही हैं जैसे असलियत में लोग एक दूसरे से बात करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 11:16 AM IST
  • Share this:
जब से जीवी प्रकाश कुमार (GV Prakash) और दिव्या भारती की तमिल फिल्म बैचलर का टीजर लॉन्च हुआ है तब से ये चर्चा का विषय बना है. फिल्म के आक्रामक फ्लेवर को देखकर लोग इस फिल्म की तुलना विजय देवरकोंडा की अर्जुन रेड्डी और वर्ल्ड फेसम लवर से कर रहे हैं. मगर अब फिल्म के निर्देशक सतीश सेल्वाकुमार (Sathish Selvakumar) ने फिल्म को लेकर सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि ये फिल्म प्यार के आक्रामक रूप को दिखाने वाली फिल्मों से काफी अलग है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक सतीश ने फिल्म पर बयान देते हुए कहा कि आप दोबारा से वैसे ही फिल्म नहीं बना सकते, आप बस उस फिल्म का रीमेक बना सकते हैं. सतीश ने कहा- "हमारी फिल्म असली प्यार की बात करती है. ये फिल्म आज के वक्त में पुरुष और महिला के बीच के संबंधों को दर्शाती है. हमने असलियत के दर्शाने की कोशिश की है और इस तरह फिल्म को शूट किया है कि फिल्म हकीकत के नजदीक दिखाई दे. ऐसा हो ही नहीं सकता कि ये फिल्म किसी दूसरी फिल्म की तरह लगे."

सतीश ने कहा कि हम असली रिलेशनशिप को फिल्म में दर्शाना चाहते थे इसलिए फिल्म में रॉनेस (Rawness) दिखाए जाने की आवश्यकता थी. फिल्म के डायलॉग वैसे ही हैं जैसे असलियत में लोग एक दूसरे से बात करते हैं. टीजर में अभिनेत्री के एक डायलॉग को लेकर काफी आलोचना हो रही है जिसमें अभिनेत्री, अभिनेता के साथ संबंध बनाने को लेकर नाराजगी जाहिर करती हैं. सतीश ने कहा, "जब कोई बहुत गुस्से में होता है तब उसकी जुबान और उसका दिमाग एक दूसरे के संपर्क में नहीं रहता, तब वो इसी तरह की बातें बोलता है. हमने ये सोचा था कि ये फिल्म रॉ और हकीकत के करीब होगी ना कि हम इसमें किसी चीज को बनावटी तरीके से दिखाएंगे."



फिल्म के टीजर को देखकर लोग ये भी आरोप लगाते दिखे कि फिल्म में महिलाओं से छेड़-छाड़ को बढ़ावा दिया है. इस बात पर निर्देशक सतीश ने कहा- "मैं लोगों की इस चिंता को समझता हूं क्योंकि कई ऐसी सुपरहिट फिल्में हैं जिसमें इस बात को ग्लॉरिफाई किया गया है. मेरे हिसाब से कुछ भी सही या गलत नहीं है. कई लोगों ने मुझे इस फिल्म के लिए तारीफ भी की है क्योंकि उनके हिसाब से फिल्म बोल्ड है मगर उसका अप्रोच पॉजिटिव है. आप फिल्म को जिस सोच से बनाते हैं वो भी मायने रखता है. अगर शिवाजी गणेशन जैसे बड़े एक्टर कोई निगेटिव रोल निभाते हैं तो हम उनके उस किरदार की भी सराहना करते हैं भले ही वो गलत हो. मैं इस बात के लिए बहुत सचेत हूं कि मैं कुछ गलत ना करूं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज