Home /News /entertainment /

Birthday Spl: बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा के फिल्म जगत में अलग स्टाइल के चलते खूब चमकल सितारा

Birthday Spl: बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा के फिल्म जगत में अलग स्टाइल के चलते खूब चमकल सितारा

.

.

Happy Birthday Shatrughna Sinha: हिंदी सिनेमा जगत के लेजेंड हीरो शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughna Sinha) के आज जन्मदिन ह. उनकर जन्म 9 दिसंबर, 1945 को बिहार के पटना में भईल रहे. उ इंडस्ट्री में आपन दमदार डायलॉग खातिर जानल गइले. आइसने में उनकर जन्मदिन के मौका पर उनकर बारे में बतावल जाता.

अधिक पढ़ें ...

“अबे खामोश”

“जली को आग कहते हैं, बुझी को राख कहते हैं, जिस राख से बारूद बने, उसे विश्वनाथ करते हैं”

ई दुनू डायलाग सुनते आँखिन के सोझा एगो रोबदार चेहरा चमक जाला. उ रोबदार चेहरा के लोग प्यार से बिहारी बाबू, शॉटगन भा शत्रु कहेला. इहो एगो आश्चर्य के बात बा कि लोग ओह अभिनेता के प्यार से शत्रु कहेला. पटना बिहार में जनमल हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर और मँझल अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के देस परदेस हर जगह प्रशंसक बाड़ें. बिहारी बाबू अपना भारी भरकम आवाज अउरी प्रभावशाली डील डौल के चलते हिन्दी सिनेमा में अइलें आ आपन अलग पहचान बना लेहलें. हालांकि उनके शुरुआत साइड रोल से भइल अउरी उ अपना करियर के कई गो यादगार भूमिका पैरेलल में रहि के ही निभवलें बाकिर उनके पूछ अउरी लोकप्रियता सुपरस्टार लेखां भइल.

एक बेर अमिताभ बच्चन एगो टीवी साक्षात्कार में कहलें कि शत्रुघ्न सिन्हा में एगो विशेष प्रतिभा बा जेकरा चलते उ हमेशा भीड़ में भी चमक जालें. उ कवनो भी सीन में होखस, उनके डायलॉग भा सीन में उनका पर फोकस होखे भा ना होखे, उ कुछ ना कुछ अइसन करीहें कि सभ ध्यान उ लूट ले जालें. एगो फिल्म के शूटिंग में अमित जी अउरी हीरोइन के सीन रहे, शत्रु जी के एग्जिट हो गइल रहे. शत्रु जी का कइलें कि साइड में खड़ा होके सिगरेट के धुआँ के छल्ला बना के छोड़लें. उ उड़त उड़त फ्रेम में आ गइल आ स्क्रीन पर छप गइल. लोग के ध्यान ओह पर चल गइल. त एह तरे के भी खुराफात करस शत्रुघ्न सिन्हा अपना ऊपर फोकस लिआवे खातिर.

शत्रुघ्न सिन्हा के बारे में एक से एक किस्सा कहानी चारों ओर फइलल बा. एक जमाना में उ बिहार के लोगन के सिनेमा में दिलचस्पी के कारण रहलें. बुढ़उ लोग अभिनो टीवी पर उनके फिलिम खोजेला. उनके आ अमिताभ के दोस्ती अउरी जोड़ी पर कई गो फिल्म आइल आ खूब हिट भइल. ‘बने चाहें दुश्मन जमाना हमारा, सलामत रहे दोस्ताना हमारा’ गीत त सबके ईयाद होई. दोस्ताना फिल्म में दुनू जाना के केमिस्ट्री का लाजवाब रहे. ई फिल्म साल 1980 के ब्लॉकबस्टर फिल्म रहे आ कई महिना ले सिनेमाघर से उतरबे ना कइलस. शत्रुघ्न सिन्हा के जितेंद्र आ धर्मेन्द्र के साथे भी कई गो सफल फिल्म अइली सन. अक्सर हीरो हीरोइन के जोड़ी के हिट फिल्मन के गिनती होला. बाकिर बिहारी बाबू के अइसन प्रभाव अउरी ऑनस्क्रीन केमिस्ट्री रहे कि उ साथी हीरो के साथे भी दमदार जोड़ी निभवलें.

शत्रुघ्न सिन्हा के जन्म पटना बिहार में भइल. उनके चार गो भाई रहलें अउरी चारों के नाम राम, लक्ष्मण, भरत आ शत्रुघ्न ह. शत्रुघ्न सिन्हा अपना घर के नाम रामायण ही रखले बाड़ें. उ भारतीय फिल्म व टीवी संस्थान पुणे से अभिनय में डिप्लोमा कइलें. अब ओह डिप्लोमा खातिर एगो छात्रवृति कार्यक्रम चलेला, उ इनके नाम पर रखाइल बा. शत्रुघ्न सिन्हा जब आपन डिप्लोमा करके फिल्मन में काम करे अइलें त उनके पहिला ब्रेक देवानंद के फिलिम प्रेम पुजारी में एगो पाकिस्तानी अफसर के छोट रोल के रूम में मिलल. फेर उ मनोज कुमार के फिल्म साजन में इंस्पेक्टर के रोल कइलें. ई फिल्म 1969 में रिलीज हो गइल अउरी प्रेम पुजारी अगिला साल रिलीज भइल. एह तरे साजन शत्रुघ्न सिन्हा के पहिला फिल्म बन गइल. ओकरा बाद शत्रुघ्न सिन्हा के लगातार कई गो फिल्म में साइड रोल मिलत रहल आ उनके करियर के गाड़ी आगे बढ़त रहल.

एही समय में अमिताभ बच्चन भी अपना शुरुआती दौर में रहलें. दुनू जाना में तबे से दोस्ताना हो गइल रहे. तब शत्रुघ्न के लगे काम बढ़िया रहे अउरी अमिताभ अक्सर उनके डेरा पर रहस. शत्रुघ्न सिन्हा के 1971 में गुलजार के पहिला निर्देशित फिल्म मेरे अंगने में मुख्य रोल मिलल आ ई फिल्म सफल रहल. अगिला साल 1972 में अमिताभ के स्थापित करे वाला फिल्म बॉम्बे टू गोवा बनल. ई फिल्म में शत्रुघ्न सिन्हा पहिला बेर अमिताभ के साथे स्क्रीन शेयर कइलें आ फेर दुनू जाना अपना करियर के बेहतरीन फिल्म दिहल लोग, जे में नसीब, काला पत्थर, दोस्ताना, शान, यार मेरी जिंदगी आदि रहे. मीडिया रिपोर्ट्स कहेला कि दुनू जाना में रेखा के चलते दरार आ गइल रहे. शत्रु जी अपना आत्मकथा में एकरा बारे में इशारा भी कइले बाड़ें. तब अमिताभ शत्रुघ्न के मिलत वाहवाही से असुरक्षित होखे लागल रहलें. एह में रेखा के भी हाथ रहे, काहें कि उ अमिताभ के नजदीक रहली. हालांकि बाद में दुनू जाना फेर से जिगरी इयार बन गइल लोग.

बिहारी बाबू के करियर में बरिस 1976 शुभ साबित भइल जब सुभाष घई फिल्म कालीचरण में उनके हीरो के रोल देहलें. ई फिल्म पहिले राजेश खन्ना के मिले के रहे बाकिर दू साल ले उनका लगे डेट ना रहे एहीसे शत्रु जी के ई रोल मिलल आ उनके करियर स्थापित हो गइल. उ अस्सी के दशक के शुरुआत से 90 के दशक के बीच ले सफल फिल्मन के हिस्सा रहलें. अधिकतर फिल्म लीड में आइल बाकी दू गो हीरो वाला फिल्म भी उ खूब कइलें. उनके कुछ हीरो वाला हिट फिल्म बा कालीचरण, विश्वनाथ, अब क्या होगा, दिल्लगी, जानी दुश्मन, यारों का यार आदि.

भोजपुरी सिनेमा में भी लउकलें बिहारी बाबू

साल 1985 में शत्रुघ्न सिन्हा भी भोजपुरी में डैब्यू कइलें. उनके फिल्म बिहारी बाबू टाइटल से बनल आ काफी सफल रहल. शत्रुघ्न सिन्हा तब हिन्दी में बढ़िया काम धाम चलत रहल. एह फिल्म में उ टाइटल रोल कइलें आ मुख्य भूमिका में रहलें. ओकरा बाद उ मनोज तिवारी के साथे दू गो भोजपुरी फिल्म में नजर अइलें. उनका साथे पहिला फिल्म 2006 में राजा ठाकुर आइल जवन बिजनेस के हिसाब से काफी सफल भी रहल. एह में राजा ठाकुर के रोल शत्रुघ्न सिन्हा के ही रहे. दोसरका फिल्म इंटरनेशनल दरोगा में भी उनके महत्वपूर्ण रोल रहल. हालांकि बिहारी बाबू महुआ टीवी पर कौन बनेगा करोड़पति के भोजपुरी संस्करण ‘के बनी करोड़पति’ शो लेके अइलें जवन अच्छा टीआरपी बटोरले रहे.

शॉटगन शत्रुघ्न सिन्हा जी के आज जन्मदिन भी बा. उनके भविष्य अउरी स्वास्थ्य कुशल मंगल रहो! जय हो!

(लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य व सिनेमा के जानकार हैं. )

Tags: Bhojpuri News, Shatrughan Sinha

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर