Home /News /entertainment /

गुमनाम मौत मरने वाली परवीन बॉबी की वसीयत चैरिटी में

गुमनाम मौत मरने वाली परवीन बॉबी की वसीयत चैरिटी में

Still Grab From Video Song

Still Grab From Video Song

बॉलीवुड अभिनेत्री परवीन बॉबी की मृत्यु के एक दशक बाद बंबई उच्च न्यायालय ने उनकी वसीयत के असली होने का प्रमाण पत्र जारी किया है. इसने परवीन बॉबी की इच्छा के अनुसार सामाजिक उद्देश्यों यानि चैरिटी के लिए उनकी संपत्ति का ज्यादातर हिस्सा लगाने का रास्ता साफ कर दिया है.

अधिक पढ़ें ...
  • Bhasha
  • Last Updated :
    बॉलीवुड अभिनेत्री परवीन बॉबी की मृत्यु के एक दशक बाद बंबई उच्च न्यायालय ने उनकी वसीयत के असली होने का प्रमाण पत्र जारी किया है. इसने परवीन बॉबी की इच्छा के अनुसार सामाजिक उद्देश्यों यानि चैरिटी के लिए उनकी संपत्ति का ज्यादातर हिस्सा लगाने का रास्ता साफ कर दिया है.

    न्यायमूर्ति गौतम पटेल ने बॉबी की वसीयत का 14 अक्तूबर को प्रमाण पत्र जारी किया जब उनके रिश्तेदारों ने कहा कि वह मामले पर अब और अनुसरण नहीं करना चाहते हैं. बॉबी के रिश्तेदार वसीयत की प्रामाणिकता को चुनौती दे रहे थे.

    न्यायमूर्ति पटेल ने कहा कि सारे विवाद इस प्रकार हल समझे जाएं और उच्च न्यायालय रजिस्ट्री को निर्देश दिया कि वे पत्र जारी करें और 23 दिसंबर 2016 तक बॉबी के चाचा मुराद खान बॉबी को वसीयत का प्रबंधन करने दें.

    बॉबी की मृत्यु के तुरंत बाद उनके चाचा मुराद खान ने दावा किया कि बॉबी ने उन्हें उनकी संपत्ति का प्रभारी बनाया था, जिसमें उनका जुहू स्थित अपार्टमेंट, जूनागढ़ में एक मकान, जेवर और बैंक जमा शामिल था.

    परवीन के चाचा ने इस वसीयत के खिलाफ कोर्ट में चैलेंज किया था, लेकिन कोर्ट ने वसीयत को स्वीकृति दे दी है, जिसके मुताबिक उनकी संपत्ति का 20 प्रतिशत हिस्सा उनके चाचा को मिलेगा. परवीन के मामा ने उनकी वसीयत 2005 में कोर्ट को सौंपी थी. इसकी जांच को आगे तब बढ़ाया गया जब पिछले हफ्ते उनके पिता की तरफ के एक रिश्तेदार ने यह दावा किया कि वसीयत के कागजात गलत हैं.

    इसके बाद आए कोर्ट के फैसले में परवीन बॉबी का घर, जुहू स्थित चार बेडरूम वाला फ्लैट, जूनागढ़ की हवेली, जेवर, बैंक में रखा 20 लाख रुपए का फिक्स्ड डिपॉजिट और अन्य पूंजी को लेकर चल रहे लंबे विवाद को खत्म कर दिया.

    कोर्ट ने कहा कि वसीयत के मुताबिक, परवीन की 80 प्रतिशत संपत्ति का इस्तेमाल एक ट्रस्ट बनाने में होगा, जो गरीब महिलाओं और बच्चों की मदद करेगा. परवीन बॉबी का यह ट्रस्ट उनके 82 साल के चाचा मुराद खान बॉबी चलाएंगे. इसके अलावा परिवार के किसी और सदस्य को इस वसीयत में से कुछ भी नहीं मिला है.

    परवीन बॉबी के बारे में कुछ अनसुनी बातें :

    बोल्ड और दिलकश अंदाज के लिए पहचानी जाने वाली बॉलीवुड की खूबसूरत अभिनेत्री परवीन बॉबी परंपरागत ढर्रे पर चलने के बजाय अपने बोल्ड और खास अंदाज से बॉलीवुड की ग्लैमरस गर्ल बन गई. 4 अप्रैल 1949 को गुजरात के जूनागढ़ में एक मध्यम वर्गीय मुस्लिम परिवार में जन्मी परवीन बॉबी ने रहस्यमय जीवन जिया. उनकी जिन्दगी हमेशा तन्हाई में बीती और मौत भी गुमनाम मिली.

    कैस शुरू हुआ फिल्मी सफर :

    परवीन बॉबी ने अपने करियर की शुरुआत बतौर मॉडल की थी. उन दिनों वह अहमदाबाद यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रही रही थीं. उसी दौरान प्रसिद्ध निर्माता निर्देशक बीआर इशारा की नजर उन पर पड़ गई. उस वक्त उन्होंने मिनी स्कर्ट पहनी हुई थी और हाथ में सिगरेट था. इशारा उनके इस लुक से इतने प्रभावित हुए कि अपनी फिल्म चरित्र में उनको साइन कर लिया. इस तरह बतौर अभिनेत्री परवीन बॉबी की 1973 में रिलीज फिल्म चरित्र से बॉलीवुड में एंट्री हो गई. इस फिल्म में परवीन के अपोजिट क्रिकेटर सलीम दुर्रानी थे. हालांकि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई. लेकिन इसके बाद परवीन बॉबी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा.

    अमिताभ पर लगाया जान से मारने का इल्जाम :

    परवीन बॉबी ने अमिताभ पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे उन पर झूमर गिराकर मारना चाहते हैं. अमिताभ के साथ इस साजिश में फिल्म के डायरेक्टर रमेश सिप्पी भी शामिल हैं. परवीन के आरोपों के बाद शूटिंग रोक दी गई और उन्हें वहां से हटाया गया. परवीन के आरोपों से पूरी फिल्म इंडस्ट्री हिल गई. डॉक्टरों को दिखाने के कुछ दिन बाद पता चला कि उन्हें सिजोफ्रेनिया नाम की मानसिक बीमारी है. तमाम इलाज के बावजूद परवीन की ये बीमारी ठीक होने का नाम नहीं ले रही थी. उनके दिल में ये डर बैठ गया था कि कोई उन्हें मारना चाहता है.

    परवीन बॉबी की मौत :

    जीवन भर सच्चे प्यार को तरसती रही परवीन बॉबी 22 जनवरी 2005 को मुंबई के जुहू स्थित अपने फ्लैट में मृत पाई गईं. परवीन के घर के बाहर दूध के पैकेट और अखबार पिछले दो दिनों से पड़े हुए थे. बताया जाता है कि परवीन बॉबी की मौत 20 जनवरी को ही हो गई थी.

    Tags: Bombay high court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर