Avengers Endgame की कमाई से बॉलीवुड में भी बजी खतरे की घंटी!

भारत में 26 अप्रैल को रिलीज़ हुई इस फिल्म ने हॉलीवुड की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म का टैग हासिल कर लिया है. दो दिनों में 100 करोड़ रुपए बटोरने वाली इस फिल्म की कमाई ऐतिहासिक है.

Sushant Mohan | News18Hindi
Updated: May 1, 2019, 9:12 PM IST
Sushant Mohan | News18Hindi
Updated: May 1, 2019, 9:12 PM IST
भारत में किसी हॉलीवुड फिल्म के लिए ऐसा दीवानापन पहले कभी नहीं देखा गया जैसा 'Avengers Endgame' के लिए है. इस फिल्म ने भारतीय सिनेमा के इतिहास के सभी मापदंडों, मानकों को तोड़ते हुए एक नया इतिहास रचा है. दुनिया में जिस तरह की कमाई मार्वल की इस फिल्म ने की है वो एक अलग तरह की चर्चा का विषय है. लेकिन भारत में इस फिल्म की कमाई और दर्शकों में इस फिल्म के क्रेज़ ने बता दिया है कि बॉलीवुड अभी भी दर्शकों की नब्ज़ से दूर है. ये बात सही है कि साई-फ़ाई या सुपरहीरो फिल्मों का एक अलग वर्ग होता है और हर फिल्म से (रोमांस, कॉमेडी, हॉरर) आप इस तरह की कमाई की अपेक्षा नहीं रख सकते हैं. लेकिन एवेंजर्स जैसी फिल्मों को भारत में बनाने की कोशिश भी हुई है. कृश, फ्लाइंग जट्ट, सुपर सिंह इसी तरह की फिल्मों का नमूना रही हैं. हॉलीवुड में भी मार्वल फिल्मों से टक्कर लेने के लिए डीसी यूनिवर्स की ओर से सुपरमैन, वंडर वूमैन और बैटमैन जैसी फिल्में आईं. लेकिन मार्वल फिल्मों में कुछ ऐसा है, जो दर्शकों को जकड़ चुका है और बॉलीवुड को इसकी चिंता भी है.

आज दुनिया की दस सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में से पांच, 'मार्वल सिनेमैटिक स्टूडियो' द्वारा बनाई गई हैं और हाल की रिलीज़ 'एंडगेम' ने तो मात्र 6 दिनों के कारोबार में दुनिया की 10वीं सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म का टैग हासिल कर लिया. वैसे तो इस तरह की फिल्म सालों में एक बार आती है, लेकिन इस फिल्म ने बॉलीवुड की चूलें हिला दीं.



200 करोड़ के लक्ष्य पर Avengers Endgame, जानें 3 दिन की कमाई



बीते साल (2017), अप्रैल के ही महीने में रिलीज़ हुई 'इनफिनिटी वॉर' की कमाई के बाद कई हिंदी फिल्म निर्माताओं ने अंग्रेज़ी फिल्मों को कम स्क्रीन देने की मांग रखी थी. लेकिन 'एंडगेम' की रिलीज़ के बाद सिनेमाघर मालिकों ने ऐसी सभी मांगों को एकतरफ करते हुए अपने सभी शो इस एक फिल्म के नाम कर दिए. सिनेमाघरों में देर रात तक सभी शो में एक ही फिल्म दिखाई गई और इस फिल्म की सिर्फ भारतीय कमाई के आगे आमिर खान की 'दंगल' और प्रभास की 'बाहुबली' भी पीछे छूट गई.

बॉलीवुड को आगे बढ़ना होगा?

दुनिया की पांचवीं सबसे ज्यादा कमाई करने वाली हॉलीवुड फिल्म 'जुरासिक वल्र्ड' में अभिनय कर चुके इरफ़ान न्यूज़ 18 को दिए अपने इंटरव्यू में कह चुके हैं कि "भारतीय फिल्ममेकर्स आज भी स्टार पावर के पीछे भागते हैं. यहां का दर्शक वर्ग थोड़ा अलग है और दुनिया का दर्शक वर्ग अलग. ऐसे में अगर एक किरदार को केंद्र में रख कर फिल्म बनाई जाएगी तो उसका ट्रीटमेंट बहुत अलग होना चाहिए वर्ना वो ग्लोबल ऑडियंस को पसंद नहीं आएगी."
Loading...

भारतीय फिल्म निर्माता अक्सर हॉलीवुड फिल्मों के मेगा बजट का रोना रोते आए हैं. लेकिन भारत की सबसे महंगी फिल्म '2.0' में 400 करोड़ रुपये से ज्यादा लगाकर भी हम वो इम्पैक्ट पैदा नहीं कर पाए जो एवेंजर्स फिल्में या हाल ही में गेम ऑफ़ थ्रोन्स करते हैं.


क्या वजह है कि प्रियंका चोपड़ा जैसी अदाकारा अपने करियर के टॉप पर भारत के सुपरस्टार के साथ फिल्म छोड़ कर हॉलीवुड की YouTube सीरीज़ में काम करना पसंद करती हैं.

कारण सीधा है, बॉलीवुड को आगे बढ़ने की ज़रूरत है. दर्शक ऐसी कहानी देखना चाहते हैं जिसमें किरदार - कहानी का हिस्सा हो, कहानी से बड़ा ना हो. एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर की ऐतिहासिक सफलता का कारण भी यही था. इस फिल्म में कहने को सुपरहीरो मौजूद थे, लेकिन वो हारते हैं, टूटते हैं और मारे भी जाते हैं. एक सुपरहीरो को रोता हुआ देखना और अपने दुश्मन से हार जाना दर्शकों के दिल को छू गया और वो इस फिल्म से जुड़ गए. लेकिन भारतीय फिल्मों में सुपरहीरो तो भगवान सरीखा हो जाता है, जो अविश्वसनीय लगने लगता है.

क्या कहते हैं आंकड़े ?

अगर आप दुनिया की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों की बात करें तो इनमें दो-तीन चीज़ें मिलती जुलती हैं. इन सभी फिल्मों की कहानी में काल्पनिक दुनिया हैं जो आपको इस दुनिया की परेशानियों से दूर ले जाती है. इन सभी फिल्मों में कमाल का एक्शन है और ये सभी फिल्में वर्ल्ड क्लास थ्री डी ग्राफिक्स पर शूट हुई है.

अपवाद के तौर पर सिर्फ 'टाइटैनिक' इस लिस्ट का हिस्सा है जिसमें ऊपर लिखी गई सारी बातों के साथ साथ एक प्रेम कहानी भी है. वर्ना इन सभी फिल्मों के अंदर का मूल केंद्र फैंटेसी और एक्शन है.

रोहित शेट्टी इस बात को कई बात दोहरा चुके हैं कि लोग सिनेमा में अपनी परेशानियों को भूलने आते हैं. अगर आप उन्हें एक अलग दुनिया का अनुभव करवाते हैं तो वो आपके मुरीद बन जाएंगे.

'मार्वल' फिल्मों ने भी सालों से यही काम किया है. इन फिल्मों ने 11 सालों में एक नए यूनिवर्स की रचना की जहां के नियम, लोग, किरदार, तौर तरीके पूरी तरह से अलग थे. मार्वल कॉमिक्स से इन फिल्मों को सहयोग भी मिला, लेकिन मूलत: लोगों ने सपनों की दुनिया को सच होते हुए देखा और वो उनके दिल में कहीं गहरे उतर गई.


भारतीय परिप्रेक्ष्य में भी ये बात खरी उतरती है क्योंकि भारत की सर्वाधिक कमाई करने वाली फिल्म 'दंगल' में आमिर फिल्म के हीरो नहीं बल्कि कहानी के एक पात्र हैं जो एक अविश्वसनीय से लगने वाली दुनिया में अपनी बेटियों को कुश्ती के शिखर पर ले जाना चाहते हैं. बाहुबली में भी एक काल्पनिक कहानी है जिसका मुख्य पात्र मारा जाता है और बदला कोई पात्र अकेला नहीं बल्कि कई मिलकर लेते हैं.

बॉलीवुड को है डर ?

हॉलीवुड फिल्मों को भारत में हमेशा से पसंद किया जाता रहा है. 'जुरासिक पार्क', 'जुमांजी', 'फास्ट एंड फ्युरियस', 'स्पाइडर मैन' और 'हैरी पॉटर' फिल्मों ने मार्वल से पहले भारत में कमाई के कई रिकॉर्ड बनाए हैं, लेकिन इस बार 'Endgame' के साथ स्थिति बदल चुकी है. मात्र दो दिनों में 150 करोड़ रुपये का कारोबार कर इस हॉलीवुड फिल्म ने बॉलीवुड के बड़े-बड़े सूरमाओं को पानी पिला दिया.

इस फिल्म की हफ्ते की बुकिंग भी हाउसफुल है और उम्मीद की जा रही है पहला हफ्ता खत्म होने तक ये फिल्म भारत में 400 करोड़ रुपये का बिज़नेस कर लेगी और सलमान खान की सबसे सफल फिल्म 'बजरंगी भाईजान' को पीछे छोड़ देगी.


गेम ऑफ थ्रोन्स जैसे धारावाहिकों की बढ़ती लोकप्रियता और डिजिटल माध्यमों से बढ़ी हॉलीवुड फिल्मों की पहुंच ने इन फिल्मों के प्रति लोगों की रुचि में इज़ाफ़ा किया है. किसी ज़माने में मार्वल फिल्में बड़े घाटे से गुज़र रहीं थी और अपने स्टूडियो को दिवालिया होने से बचाने के लिए मार्वल ने अपने किरदारों जैसे 'स्पाइडर मैन' और 'फैंटास्टिक फोर' को दूसरे प्रोडक्शन हाउस को भी दिया, लेकिन लगातार प्रयोग करना मार्वल के काम आया.



भारत में फिल्म निर्माता प्रयोग करने से कतराते हैं. गदर के हिट हो जाने पर सनी देओल ने देशभक्ति की कई फिल्में कर दी. 'मैरी कॉम' और 'भाग मिल्खा भाग' के हिट होते ही खिलाड़ियों की बायोपिक की लाइन लग गई. कुश्ती पर एक साथ दो फिल्में (सुल्तान और दंगल) आई. यहां तक की हमारे सुपरहीरो - कृष और फ्लाइंग जट्ट भी एक दूसरे की कॉपी लगते हैं.

वहीं हॉलीवुड में सुपरहीरो फिल्मों में भी लगातार प्रयोग हुए. हर फिल्म के साथ सुपरहीरोज़ के लुक और उनकी कहानियों पर काम हुआ. आयरन मैन की ड्रेस को हर बार बदला गया और नतीजा 'इनफिनिटी वॉर' और 'एंडगेम' जैसी बेहतरीन फिल्मों के रूप में सामने है. बॉलीवुड को इससे डरने से ज्यादा सीखने की ज़रूरत है क्योंकि अगर कंटेंट प्रधान फिल्मों (अंधाधुन, बधाई हो, आंखो देखी) पर आज काम नहीं हुआ तो कल यहां भी हॉलीवुड फिल्मों का ही बोलबाला हो जाएगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...