Home /News /entertainment /

peter brook dies at the age of 97 performed plays around the world an

Peter Brook Passes Away: मशहूर ब्रिटिश निर्देशक पीटर ब्रूक नहीं रहे, 97 साल की आयु में हुआ निधन

पीटर ब्रूक पेरिस में रहते थे.

पीटर ब्रूक पेरिस में रहते थे.

पीटर ब्रूक (Peter Brook) एक मशहूर थिएटर डायरेक्टर थे, जिन्होंने दुनिया भर की अलग-थलग जगहों पर जाकर नाटक प्रस्तुत किए थे. ब्रिटिश थिएटर निर्देशक का 97 साल की आयु में निधन हो गया. बता दें कि भारत सरकार ने उन्हें उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए पद्म श्री से नवाजा था.

अधिक पढ़ें ...

पीटर ब्रूक (Peter Brook) का 97 साल की आयु में निधन हो गया. उन्होंने दुनिया भर के शहरों की अलग-थलग जगहों पर जानकर थियेटर किया था. पीटर ब्रूक की गिनती दुनिया के सबसे रचनात्मक थिएटर डायरेक्टर्स में होती है. उन्होंने अजीबोगरीब जगहों पर जाकर नाट्य मंचन की कला को साबित किया.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पीटर ब्रूक के प्रकाशक ने रविवार को उनके निधन की सूचना दी. ब्रिटिश निर्देशक ने शेक्सपियर के चुनौतीपूर्ण कृतियों से लेकर महाकाव्यों को मंच पर प्रस्तुत किया था. उन्होंने भारतीय महाकाव्य ‘महाभारत’ को यूरोप के कई देशों में जाकर अंग्रेजी और फ्रेंच भाषाओं में प्रस्तुत किया था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पीटर साल 1974 से फ्रांस में रह रहे थे, जिनका शनिवार को पेरिस में निधन हो गया था.

भारत सरकार ने पद्म श्री से किया था सम्मानित
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पीटर ब्रूक के ‘महाभारत’ में वैज्ञानिक विक्रम साराभाई की बेटी मल्लिका साराभाई द्रोपदी बनी थीं. भारत सरकार ने उनके उत्कृष्ट कार्य को देखते हुए, साल 2021 में उन्हें पद्म श्री की उपाधि से नवाजा था. 21 मार्च 1925 को लंदन में जन्में पीटर ब्रूक को प्रिक्स इटालिया अवॉर्ड और एमी अवॉर्ड्स जैसे कई तरह के पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था.

थियेटर की दुनिया में ताउम्र सक्रिय रहे पीटर ब्रूक
रूसी माता-पिता की संतान पीटर 17 साल की उम्र में निर्देशक बन गए थे. उन्हें जब रॉयल शेक्सपियर कंपनी का निदेशक बनाया गया था, तब वे सिर्फ 20 साल के थे. वे इंग्लैंड के रॉयल ओपेरा हाउस से भी जुड़े हुए थे. बाद में, उन्होंने खुद की एक कंपनी स्थापित की, जिसका नाम है- ‘इंटरनेशनल सेंटर फॉर थियेट्रिकल रिसर्च.’ वे इसके जरिये दुनिया भर में थियेटर से जुड़ी गतिविधियों में हिस्सा लेते रहे.

फिल्म स्टूडियो में काम करने के लिए छोड़ा था स्कूल
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने अपनी 1968 की किताब ‘दि एम्प्टी स्पेस’ में लिखा है, ‘मैं कोई भी खाली जगह ले सकता हूं और उसे एक मंच कह सकता हूं.’ उनके पिता एक कंपनी के निदेशक थे और उनकी मां एक वैज्ञानिक थीं. उन्होंने फिल्म स्टूडियो में काम करने के लिए 16 साल की उम्र में स्कूल छोड़ दिया था और फिर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी गए और अंग्रेजी और विदेशी भाषाओं में डिग्री हासिल की.

Tags: Death, Hollywood

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर