Home /News /entertainment /

ब्रिटनी स्पीयर्स के समर्थन में उतरीं शिबानी दांडेकर,कहा- 'महिलाओं को कंट्रोल करना बंद करो'

ब्रिटनी स्पीयर्स के समर्थन में उतरीं शिबानी दांडेकर,कहा- 'महिलाओं को कंट्रोल करना बंद करो'

महिलाओं को कंट्रोल करना बंद करो- शिबानी दांडेकर. (फोटो साभार:shibanidandekar/britneyspears/Instagram)

महिलाओं को कंट्रोल करना बंद करो- शिबानी दांडेकर. (फोटो साभार:shibanidandekar/britneyspears/Instagram)

ब्रिटनी स्पीयर्स (Britney Spears) की कंजरवेटरशिप (Conservatorship) का अधिकार उनके पिता के पास ही रहेगा. ब्रिटनी को कोर्ट से मिले इस झटके पर शिबानी दांडेकर (Shibani Dandekar) ने इंस्टाग्राम पर अपनी नाराजगी जताई.

    अमेरिकन पॉप स्टार ब्रिटनी स्पीयर्स (Britney Spears) को पिता के कंजरवेटरशिप (Conservatorship) से आजादी नहीं मिली. कोर्ट ने ब्रिटनी की तमाम दलीलों को खारिज करते हुए उनके फादर जेमी स्पीयर्स (James Spears)  के पास ही संरक्षण का अधिकार रखा. पिछले 13 साल से सिंगर की लाइफ से जुड़े हर फैसले उनके पिता ही लेते हैं. ब्रिटनी ने अमेरिका की एक कोर्ट में गुहार लगाई थी कि उन्हें आजादी चाहिए, लेकिन जज ने ऐसा करने से इंकार कर दिया. कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ कई सेलेब्स ने नाराजगी जताई है.

    ब्रिटनी स्पीयर्स के सपोर्ट में आईं बॉलीवुड एक्ट्रेस-सिंगर, मॉडल शिबानी दांडेकर (Shibani Dandekar) ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर भड़ास निकाली. कोर्ट के इस फैसले के बाद एक न्यूज आर्टिकल की स्क्रीनशॉट को इंस्टा स्टोरी पर शेयर कर लिखा ‘यह संसार है,जहां हम रह रहे हैं’.

    (फोटो साभार:shibanidandekar/Instagram)


    इसके अलावा शिबानी दांडेकर ने एक और स्टोरी शेयर किया जिसमें उनका गुस्सा साफ-साफ नजर आ रहा है. शिबानी ने लिखा  ‘महिलाओं को कंट्रोल करना बंद करो’.

    (फोटो साभार:shibanidandekar/Instagram)


    ब्रिटनी स्पीयर्स के फैंस भी ‘फ्री ब्रिटनी’ नामक कैंपेन चला रहे हैं. बता दें कि अमेरिकन पॉप सिंगर के पिता जेम्स सन 2008 से ही कानूनी तौर पर उनकी देखरेख कर रहे हैं. जेम्स को यह अधिकार मिला हुआ है कि ब्रिटनी की जिंदगी से जुड़ा हर फैसला वही लेंगे.  इसमें फाइनेंशियल के साथ-साथ उनकी पर्सनल लाइफ से जुड़े मामले भी शामिल हैं. उस समय ब्रिटनी की मानसिक हालत ठीक नहीं थी. कंजरवेटरशिप, अमेरिका का एक कानून है, जो संरक्षण का अधिकार देता है. इसमें कोर्ट संरक्षण करने वाले प्रतिनिधियों का चुनाव करती है. ये कानून उन लोगों के लिए होता है, जो मानसिक या शारीरिक रूप से खुद की देखभाल करने में सक्षम नहीं होते. लेकिन लंबे समय के बाद जब पॉप-सिंगर खुद को स्वस्थ समझते हुए इस कानून से छुटकारा चाहती हैं तो उन्हें कोर्ट से भी निराशा मिली.

    बता दें कि शिबानी दांडेकर  बॉलीवुड एक्टर फरहान अख्तर की वाइफ हैं और एक मॉडल, सिंगर एक्ट्रेस हैं. शिबानी ने अपने करियर की शुरुआत अमेरिकी टेलीविजन से की थी. भारत आने के बाद कई हिंदी टेलीविजन के प्रोग्राम होस्ट किए.

    Tags: Farhan akhtar, Hollywood, Singer

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर