कोरोना काल में लोगों की मदद के लिए आगे आए शौकत शेख जैसे युवा

शौकत लोनावाला में ही पैदा हुए. उन्होंने साल 2012 में अपने क्षेत्र के विधायक नितेश नारायण राणे के साथ अपना राजनैतिक सफर शुरू किया. अब उन्हें कई तरह की जिम्मेदारियां मिल रही हैं.
शौकत लोनावाला में ही पैदा हुए. उन्होंने साल 2012 में अपने क्षेत्र के विधायक नितेश नारायण राणे के साथ अपना राजनैतिक सफर शुरू किया. अब उन्हें कई तरह की जिम्मेदारियां मिल रही हैं.

शौकत लोनावाला में ही पैदा हुए. उन्होंने साल 2012 में अपने क्षेत्र के विधायक नितेश नारायण राणे के साथ अपना राजनैतिक सफर शुरू किया. अब उन्हें कई तरह की जिम्मेदारियां मिल रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2020, 1:41 PM IST
  • Share this:
कोरोना काल ने समाज के निचले तबके के लोगों को झकझोर कर रख दिया है. यूं तो सभी वर्ग के लोगों को कोरोना ने नुकसान पहुंचाया है, लेकिन रोज कमाने रोज खाने वाले वर्ग के लिए इस दौर ने दो वक्त की रोटी के लिए चुनौती खड़ी कर दी. ऐसे में समाज के ही कई सबल लोगों ने मदद का हाथ गरीबों के लिए बढ़ाया. इन्हीं में एक राजनेता शौकत शेख भी हैं.

भारतीय जनता पार्टी के लोनावाला के उपाध्यक्ष शौकत शेख ने बताया कि कोरोना काल के दौरान उन्होंने लोगों की खुलकर मदद की. इस दौरान उन्होंने लोगों को इलाज के लिए पैसे देने हो या अन्य तरीकों से भी लोगों की मदद की. उनसे मिली जानकारी के अनुसार वो पहले भी लोगों के इलाज में मदद करते रहे हैं. इसमें प्राइवेट अस्पतालों में लोगों के इलाज का खर्च हो, हार्ट ट्रांसप्लांट हो, ब्रेन ट्यूमर हो, घुटने का रिप्लेसमेंट के पैसे देते रहते हैं.

इसी तरह लॉकडाउन के दौरान उन्होंने अनाज से लेकर आवश्यकता की चीजें कई परिवारों में बांटे. शौकत बताते हैं कि उन्होंने जरूरतमंद परिवारों के साथ डॉक्टर्स के साथ फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स के लिए पीपीई किट भी बांटे. साथ ही उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्‍थ कैंप लगाने का भी काम किया. लेकिन इस दौरान फ्रॉड को लेकर कई मामले सामने आए थे इसलिए इन्होंने जरूरी डॉक्यूमेंट के विश्लेषण के लिए भी अपने लोग लगाए थे.



बता दें कि शौकत लोनावाला में ही पैदा हुए. उन्होंने साल 2012 में अपने क्षेत्र के विधायक नितेश नारायण राणे के साथ अपना राजनैतिक सफर शुरू किया. अब उन्हें कई तरह की जिम्मेदारियां मिल रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज