होम /न्यूज /मनोरंजन /बॉलीवुड में लोग 'सिलेक्टिव' लोगों के साथ खड़े होते हैं: सोनू निगम

बॉलीवुड में लोग 'सिलेक्टिव' लोगों के साथ खड़े होते हैं: सोनू निगम

सोनू निगम ने पद्मावती विवाद में बॉलीवुड के लिए कहे ये शब्द

    प्लेबैक सिंगर सोनू निगम अक्सर सोशल मुद्दों पर अपने विचारों को लेकर चर्चा में रहते हैं. अजान पर ट्वीट करके उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग का खूब सामना करना पड़ा था. यह मसला इतना बड़ा बन गया था कि कुछ लोगों ने उनका मुंडन करने (सिर के बाल मुंडवाने) के फतवे जारी कर दी थे. लेकिन सरप्राइज देते हुए सोनू निगम ने खुद ही सिर मुंडवा लिया.

    सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने के विरोध में तो सोनू निगम ने अपना अकाउंट ही डिलीट कर दिया.

    अब वो बहसों और ट्रोलिंग से तो दूर हैं लेकिन कभी-कभार बॉलीवुड के मुद्दों पर अपनी राय रखते रहते हैं.
    हाल ही में उन्होंने सिनेमाहॉल में राष्ट्रगान के बजने पर कई लोगों की फटकार लगाई थी.

    बॉलीवुड के बहुत सारे सितारे 'पद्मावती' को लेकर बढ़ते विवादों पर बोल रहे हैं तो ऐसे में सोनू निगम ने भी फिल्म की रिलीज डेट आगे बढ़ने पर नाराजगी जताई है.

    उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को टारगेट करते हुए कहा कि यहां सब लोगों के डबल स्टैंडर्ड हैं.

    आगे अपनी बात साफ़ तरीके से रखते हुए सोनू निगम ने कहा कि गलती दोनो से हुई है. पहले संजय लीला भंसाली की टीम की तरफ से इशारा आया कि अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मावती के बीच रोमांस है.

    जब राजपूत समाज को इस बारे में पता चला और इतने धरने हुए तो इस बात से फिल्म मेकर्स को दिक्कत हुई.

    उन्हें इस बात की भी नाराजगी है कि आज जब संजय लीला भंसाली के लिए फतवे निकले तो सब उनके साथ खड़े हैं. लेकिन जब उनके खिलाफ फतवे निकले तो कोई साथ देने नहीं आया.

    "जब मेरा फतवा निकला तब लोगों ने उस पर कमेंट तक नहीं किया. कहा कि यह मेरी पर्सनल लड़ाई है. उस वक्त मीडिया ने मेरा साथ दिया. अगर मीडिया साथ नहीं देती तो मेरे साथ कुछ भी हो सकता था. यह इंडस्ट्री कमजोर को ही दबाना चाहती है."

    सोनू ने इंडस्ट्री के लोगों पर तंज कसते हुए कहा कि यहां के लोग सोच समझकर ही चलते हैं कि किसको सपोर्ट करना है और किसको नहीं.

    उन्होंने संजय भंसाली पर कमेंट किया कि वो छोटे बच्चे नहीं हैं. उन्हें सब मालूम है कि वो क्या कर रहे हैं. वो चाहें तो करणी सेना को फिल्म दिखा सकते थे. जब वो कुछ चुनिंदा लोगों को दिखा सकते हैं. लेकिन उनकी मर्जी है वो अपनी फिल्म के साथ कुछ भी करें.

    "मैं उनकी जगह होता तो करणी सेना तो फिल्म दिखा देता."

    ट्विटर बढ़ती नेगेटिविटी के बारे में पूछने पर उनका कहना है, "संजय लीला भंसाली से लेकर अमिताभ बच्चन, दीपिका पादुकोण और मुझे , हम सबको गालियां सुननी पड़ती हैं. अगर साइबर पुलिस कुछ कदम उठाए तो जरूर बदलाव हो सकता है."

    आखिर में प्रसून जोशी को समझदार इंसान बताते हुए सोनू कहते हैं कि उन्हें ज्यादा कुछ तो नहीं पता लेकिन,

    "पद्मावती पर अब राजनीति हो रही है. अगर फिल्म को रिलीज सर्टिफिकेट मिलता है तो फिल्म को सिनेमाघरों में जरूर लगना चाहिए."

    ये भी पढ़ें :

    शशि थरूर के ट्वीट पर मिस वर्ल्ड ने दिया जवाब!

    Tags: Sonu nigam

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें