होम /न्यूज /मनोरंजन /Liger Money Laundering Case: 'लाइगर' में काम कर बुरे फंसे विजय देवराकोंडा, ईडी ने किया तलब

Liger Money Laundering Case: 'लाइगर' में काम कर बुरे फंसे विजय देवराकोंडा, ईडी ने किया तलब

Liger Money Laundering Case: 'लाइगर' फेम विजय देवराकोंडा को ED ने किया तलब

Liger Money Laundering Case: 'लाइगर' फेम विजय देवराकोंडा को ED ने किया तलब

Liger Money Laundering Case Vijay Deverakonda: जगन्नाध पुरी के निर्देशन में बनी फिल्म 'लाइगर' (Liger) में काम विजय देवर ...अधिक पढ़ें

साउथ के फेमस स्टार एक्टर विजय देवरकोंडा (Vijay Deverakonda) को बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने तलब किया है. उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग केस में ईडी की ओर से तलब किया गया है. इससे पहले हाल ही में फिल्म के निर्देशक पुरी जगन्नाध और चार्मी कौर को भी समन भेजा गया था. खबरों की मानें तो ईडी को शिकायत मिली थी कि फिल्म में हवाला के पैसे सहित विदेशी फंडिंग का निवेश किया गया था. इस मामले में पुरी जगन्नाध और चार्मी को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया था. ‘लाइगर’ को 25 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज किया गया था और ये करीब 125 करोड़ के बजट में बनी थी. मूवी बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाई थी.

फिल्म ‘लाइगर’ में विजय देवरकोंडा के साथ अनन्या पांडे और राम्या कृष्णन (Ramya Krishnan) जैसे स्टार्स लीड रोल में थे. इसका प्रमोशन भी हाई लेवल पर किया गया था. मगर बॉक्स ऑफिस पर ये पिट गई थी. आईएएनएस की मानें तो सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि विजय देवराकोंडा से फिल्म के लिए किए गए इन्वेस्टमेंट और इसकी टीम को दिए गए पैसों की पूछताछ की जा रही है. इससे पहले ईडी के अधिकारियों ने 17 नवंबर को फिल्म निर्देशक पुरी जगन्नाध और अभिनेत्री से निर्माता बनी चार्मी कौर से भी पूछताछ की थी.

विजय देवरकोंडा और अनन्या पांडे की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म की मेगा शूटिंग लास वेगस में हुई थी. इस फिल्म में माइक टायसन ने कैमियो भी किया था. हालांकि, यह फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई और फ्लॉप रही थी. फिल्म की प्रमोशन तक बड़े लेवल पर किया गया था. कांग्रेस नेता बक्का जुडसन द्वारा फिल्म में संदिग्ध तरीकों से निवेश किए जाने की शिकायत दर्ज कराने के बाद ईडी ने जांच शुरू की है. बक्का जुडसन ने शिकायत की थी कि राजनेताओं ने भी ‘लाइगर’ में पैसा लगाया था. उन्होंने दावा किया कि निवेशकों को अपने काले धन को सफेद करने का यह सबसे आसान तरीका लगा.

बताया जा रहा है कि ईडी के अधिकारियों ने निर्देशक और निर्माता से इस आरोप के बारे में पूछताछ की कि विदेशों से कथित रूप से फेमा का उल्लंघन कर फिल्म बनाने में करोड़ों रुपए का निवेश किया गया. जांच एजेंसी को शक है कि कई कंपनियों ने फिल्म निर्माताओं के खातों में पैसे ट्रांसफर किए थे. उन्हें उन लोगों का विवरण देने के लिए कहा गया, जिन्होंने पैसे भेजे थे और माइक टायसन और तकनीकी टीम सहित विदेशी अभिनेताओं को भुगतान कैसे किया गया.

Tags: Vijay Deverakonda, Vijay Deverakonda film

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें