होम /न्यूज /मनोरंजन /अविका गौर ने जब देखा था लाइफ का बुरा फेज, बयां किया दर्द, बोलीं- 'लगता था किसी चीज के लायक नहीं हूं'

अविका गौर ने जब देखा था लाइफ का बुरा फेज, बयां किया दर्द, बोलीं- 'लगता था किसी चीज के लायक नहीं हूं'

अविका गौर को 'बालिका वधु' में आनंदी का किरदार निभाकर मिली थी पहचान
 (फोटो साभार: Instagram@avikagor)

अविका गौर को 'बालिका वधु' में आनंदी का किरदार निभाकर मिली थी पहचान (फोटो साभार: Instagram@avikagor)

Avika Gor On Her Bad Phase: अविका गौर (Avika Gor) ने अपने हर किरदार से दर्शकों का दिल जीता है. अब बीते कुछ समय से टीवी ...अधिक पढ़ें

मुंबई: Avika Gor On Her Lowest Phase: टीवी सीरियल ‘बालिका वधू’ में आनंदी का किरदार निभाकर एक्ट्रेस अविका गौर (Avika Gor) ने घर-घर पहचान बनाई थी. करियर के शुरुआती दौर में ही उन्होंने वो सफलता देखी है. जो किसी आर्टिस्ट को बहुत हार्ड वर्क करने के बाद मिलती है. ‘बालिका वधू’ (Balika Vadhu) से बतौर चाइल्ड एक्ट्रेस करियर की शुरुआत करने वाली अविका ने अपने करियर में ‘ससुराल सिमर का’से काफी वाहवाही लूटी थी.

टीवी इंडस्ट्री में निभाए उनके हर किरदार ने सुर्खियां बटोरी थी. वह जिस टीवी शो में नजर आती थीं, वह शो हिट हो जाता था. लोगों ने आनंदी के किरदार को दिल में बसा लिया था. एक्ट्रेस भले ही अब तक अपनी सक्सेस को एंजॉय कर रही हैं, लेकिन उनकी जिंदगी में ऐसा भी आया उनके लिए काफी बुरा फेज था. अपने इस बुरे फेज का एक्ट्रेस ने हाल ही में खुलासा किया है. उन्होंने बताया है कि एक समय ऐसा भी आया था जब वह अपने लो पॉइंट को याद कर घंटो रोया करती थीं.

काजोल ने ‘सलाम वेंकी’ में आमिर खान के किरदार से उठाया पर्दा, पढ़िए क्या-क्या बताया?

अविका गौर ने बयां किया अपना दर्द
हिंदुस्तान टाइम्स से हुई बातचीत में अविका ने कहा, ‘मेरी जिंदगी में एक दौर ऐसा भी आया जब मुझे पर्सनली ये बात खाए जा रही थी कि मैं जो काम इतनी मेहनत से कर रही हूं वो कहीं नजर नहीं आ रहा. मैं जब भी कभी फ्री होती तो इस बारे में सोचा करती थी कि ऐसा क्यों हो रहा मेरे साथ. मैं सोचती थी कि मेरे हार्ड वर्क के बाद जो मुझे मिल रहा है मैं उसके लायक नहीं हूं. जिंदगी में अच्छा काम करते हुए मैं सहमत नहीं थी कि मैं अपने लिए कुछ अच्छा कर रही थी, मुझे इससे भी कुछ बेहतर चाहिए था.

कुछ इस तरह दूर की निगेटिविटी
जिंदगी के इस बुरे दौर अविका कैसे निकलीं, इस पर बात करते हुए उन्होंने बताया, ‘जब मेरी लाइफ में ये बुरा फेज आया तो मैं सोचा करती थीं कि आखिर क्यों मैं ऐसा कर रही हूं, जबकि मैं तो इससे बाहर निकल सकती हूं. मैं खुद को रोने और रूठने के लिए भी एक टाइम देती थी. जब समय खत्म हो जाता था तो मैं खुद को मनाती थी कि मुझे इस पर ध्यान नहीं देना है, इसे बाहर निकलना है. जब मैंने खुद को तैयार कर लिया तो मैं धीरे-धीरे इस बुरे फेज से बाहर निकलने लगी. मुझे लगता है कि आप जितना अपने दुख के बारे में सोचेंगे उतनी निगेटिविटी आती. इसलिए हमेशा खुद को पॉजिटिव रखना बहुत जरूरी है.

Tags: Avika Gor, Tv actresses

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें