Bigg boss 14: राधे मां ने बिग बॉस के घर में सुनाई एक कहानी, बजी तालियां

राधे मां. (Photo: Facebook)
राधे मां. (Photo: Facebook)

बिग बॉस 14 (Bigg Boss 14): राधे मां (Radhe Maa ने घर में आते ही सारे सदस्यों को सबसे पहले बताया कि हमें कभी भी अहंकार नहीं करना चाहिए और अपनी मां को कभी भी दुख नहीं पहुंचाना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 1:07 AM IST
  • Share this:
मुंबई. बिग बॉस 14 (Bigg Boss 14) के घर में पहले ही दिन राधे मां (Radhe Maa) की भी एंट्री हो गई. लेकिन, राधे मां कंटेस्टेंट के तौर पर हीं बल्कि गेस्ट के तौर पर ​घर में आईं. राधे मां के स्वागत के लिए घर के सभी सदस्य पहले से ही एक साथ जमा हो गए थे. इस मौके पर सारे कंटेस्टेंट एक साथ थे और उनसे कुछ दूरी पर तीनों सीनियर्स मौजूद थे.

राधे मां ने घर में आते ही सारे सदस्यों को सबसे पहले बताया कि हमें कभी भी अहंकार नहीं करना चाहिए और अपनी मां को कभी भी दुख नहीं पहुंचाना चाहिए. घरवालों को अपनी बात समझाने के लिए राधे मां ने एक कहानी सुनाई. उन्होंने कहा कि एक खरगोश था और एक दिन वह एक लोहार के पास गया.

खरगोश ने लोहार से खाने के लिए एक गाजर मांगा. लोहार ने उसकी नहीं सुनी और उसे निराश होकर वापस जाना पड़ा. खरगोश अगले दिन फिर लोहार के घर गया और गाजर की मांग रखी. लोहार ने पिछले दिन की तरह खरगोश की मांग पर कोई ध्यान नहीं दिया और अपने काम में लगा. दूसरे दिन भी खरगोश को खाली हाथ जाना पड़ा.



लेकिन, खरगोश ने हार नहीं मानी और वह अगले दिन फिर लोहार के यहां गया और ​गाजर की मांग की. लोहार ने इस बार गुस्से में आकर अपने हथौड़े का इस्तेमाल किया और खरगोश के दांत तोड़ दिए. चोट खाने के बाद भी खरगोश निराश नहीं हुआ और अगले दिन फिर लोहार के यहां गया. इस बार उसने गाजर की जगह गाजर के जूस की मांग की.
राधे मां ने कहा कि इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है कि भगवान की कृपा कभी भी ​बरस सकती है. अगर एक-दो बार भगवान के पास जाने से काम न हो या कोई कष्ट आए तो समझो कि वह हमारी परीक्षा ले रहे हैं लेकिन, उन पर भरोसा नहीं खोना चाहिए. राधे मां ने जाते-जाते सिद्धार्थ शुक्ला को आशीर्वाद के तौर पर कलावा दिया और उसे अपनी जेब में रखने को कहा ताकि, गुस्से पर कंट्रोल बना रहे और सेहत अच्छी बनी रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज