डिप्रेशन में चले गए थे 'Bigg Boss', पत्नी के साथ ने बनाया स्टार

विजय विक्रम सिंह
विजय विक्रम सिंह

रिएलिटी शो 'बिग बॉस' (Bigg Boss) में आदेश देती और फटकार लगाती आवाज तो आप सभी ने सुनी होगी. हम आपको उस शख्स से मिलाने जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2019, 7:17 AM IST
  • Share this:
'बिग बॉस' की भारी-भरकम आवाज ऐसी है जिसे सुनकर सभी चौकन्ने हो जाते हैं. कभी आदेश देती और कभी फटकार लगाती इस आवाज को तो सभी ने सुना है लेकिन क्या आपको पता है ये आवाज है किस शख्स की?... ये शख्स बिग बॉस के नैरेटर हैं. आज इस आवाज के पीछे के शख्स से हम आपको मिलवाने जा रहे हैं. इनकी जिंदगी की कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है. जितनी इनकी आवाज मजबूत है उतना ही दम उनकी शख्सियत में भी है.

इस शख्स का नाम है विजय विक्रम सिंह. विजय पिछले नौ सालों से ‘बिग बॉस’ के साथ नैरेटर के तौर पर जुडे हुए हैं. विजय उत्तर प्रदेश के जिले कानपुर के रहने वाले हैं. उन्होंने एमबीए किया है और एंटरटेमेंट इंडस्ट्री से उनका दूर-दूर तक कोई नाता नहीं था बल्कि वो तो एक कंपनी में 9 टू 5 जॉब करते थे. उनकी आवाज को काफी तारीफें पहले भी मिलती थीं. लेकिन विजय को लगता था कि अच्छी आवाज सिर्फ गायकी के लिए ही होती है और उन्हें सिंगिंग नहीं आती थी. लिहाजा उनकी अच्छी आवाज का कोई फायदा ही नहीं है लेकिन इसी आवाज ने उन्हें स्टार बना दिया.

हर कोई उनकी आवाज का दीवाना है लेकिन क्या आपको पता है कि अपनी आवाज की वजह से इतनी शौहरत हासिल करने वाले विजय ने ऐसा वक्त भी देखा है जब मौत उनके बेहद करीब थी. विजय बताते हैं 'जब मैं 20 साल का था तब मैं गहरे डिप्रेशन में चला गया था. 26 साल की उम्र तक अल्कोहलिज़म ने मुझे ऐसे जकड़ा कि मेरा जीना भी मुश्किल था. लंबे ट्रीटमेंट के बाद जब मुझे फिर जीने का मौक़ा मिला तब मैंने तय किया था कि अब सब कुछ बदल दूंगा.'



विजय को 2009 में पहली बार वॉइसओवर आर्टिस्ट के तौर पर काम मिला और फिर नए प्रोजेक्ट्स मिलते गए. वो अब तक 250 रिएलिटी शोज और 100 से ज्यादा टीवी कॉमर्शियल्स में अपनी आवाज दे चुके हैं. आगे बढ़ते-बढ़ते उन्हें आखिरकार 'बिग बॉस' में नैरेटर का ऑफर मिला और फिर उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.


विजय बताते हैं कि 'मुझे मेरी वाइफ गीतांजली ने प्रोत्साहित किया कि मैं जॉब छोड़ कर इस क्षेत्र में आगे बढूं. मैंने एक्टिंग के बारे में कभी नहीं सोचा था. लेकिन आवाज को एडिशनल ट्रेनिंग देने के लिए एक्टिंग वर्कशॉप में हिस्सा लिया. एक्टिंग वर्कशॉप की फीस भी गीतांजली ने मुझे बताए बिना भर दी थी.'

इसी वर्कशॉप के बाद उन्हें ‘एलेक्ज़ैंडर और चाणक्य’, ‘विजर्ड फ्रॉम दि फारेस्ट’ और ‘दोराहा’ जैसे नाटकों में काम करने का मौका मिला. नाटक के जरिए उन्हें कास्टिंग डायरेक्टर से कॉल्स आने शुरू हुए. नैरेटर, वॉइस ओवर आर्टिस्ट और वॉइस कोच का काम कर रहे विजय अब अभिनेता के तौर पर अपनी नई पहचान बना रहे हैं. दो साल से थिएटर कर रहे विजय जल्द ही मनोज बाजपेयी के साथ एक वेब सीरीज में और श्रेयस तलपड़े के साथ एक फीचर फिल्म में दिखेंगे.

ईनायतुल्ला कान्तरु दिग्दर्शित ‘दोराहा’ नाटक के दूसरे सीज़न में अभिनय कर रहे विजय बताते हैं, “थिएटर का मेरा जितना भी थोड़ा सा अनुभव है, मैं कह सकता हूं कि ‘दोराहा’ में  ह्युमन इमोशन की कई परतें दिखाई गई हैं. पीड़ा भी है और खुशी भी, यहां कुछ भी ब्लैक एंड व्हाइट नहीं बल्की ग्रे है. देशप्रेम का जोश है लेकिन नैतिकता का होश भी है. निर्देशक का अनुभव अभिनेता को गढ़ता है. ईनायतुल्लाजी के अनुभव सुन कर भी बहुत सीखने को मिलता है.” यह नाटक प्रख्यात अमरिकी नाट्यलेखक आर्थर मिलर की कृति ‘ऑल माय सन्स’पर आधारित है.  ‘दोराहा’के शोज़ 14 अप्रैल को रंगशारदा, बांद्रा और 18 अप्रैल को सेंट. एन्ड्रुज़ बान्द्रा में हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें- मेरी ये फिल्म देखकर रो पड़े थे लोग, बोले- ईद खराब कर दिया : सलमान खान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज