Home /News /entertainment /

दिव्यंका त्रिपाठी ने बताया क्यों महिलाएं होती हैं मजबूत, बोलीं- 'कर सकती हैं लोगों को हैरान'

दिव्यंका त्रिपाठी ने बताया क्यों महिलाएं होती हैं मजबूत, बोलीं- 'कर सकती हैं लोगों को हैरान'

दिव्यंका त्रिपाठी दहिया ने 'ये है मोहब्बतें' जैसे कई शोज में काम किया है. (फोटो साभार: Instagram/divyankatripathidahiya)

दिव्यंका त्रिपाठी दहिया ने 'ये है मोहब्बतें' जैसे कई शोज में काम किया है. (फोटो साभार: Instagram/divyankatripathidahiya)

दिव्यंका त्रिपाठी दहिया (Divyanka Tripathi Dahiya) का कहना है कि कैसे लोग अक्सर महिलाओं की ताकत को कम करके आंकते हैं. वे कहती हैं, 'हो सकता है कि 10 में से 2-3 आदमी समझदार हों, वुमन पॉवर का सम्मान करते हों और समानता में यकीन करते हों, लेकिन महिलाओं को इससे एक्साइटेड नहीं होना चाहिए.'

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्लीः दिव्यंका त्रिपाठी दहिया (Divyanka Tripathi Dahiya) ने ‘ये है मोहब्बतें’ सहित कई मशहूर टीवी शोज में स्ट्रॉन्ग वुमन के रोल निभाए हैं. दिव्यंका ने इस बात पर गौर किया है कि लोग अक्सर महिलाओं को उनकी पर्सनैलिटी के बजाय लुक के आधार पर जज करते हैं. एक बातचीत के दौरान एक्ट्रेस ने कहा, ‘अगर कोई सॉफ्ट दिखता है, तो धारणा बन जाती है कि वह सॉफ्ट होगी, लेकिन मैंने गौर किया है कि महिलाएं लोगों को चौंका सकती हैं. वे मल्टी-टास्कर होती हैं और वाकई में मजबूत होती हैं, क्योंकि वे अपने आस-पास बहुत कुछ संभालती हैं.

    दिव्यंका आगे कहती हैं कि महिलाएं पुरुषों को डरा सकती हैं, खासकर इंडियंस को. अगर वे अपनी ताकत दिखाएं तो पुरुष इसे झेल नहीं पाएंगे. वे इससे डरते हैं. अगर पुरुष एक-दूसरे से प्रतियोगिता करते हैं, तो ठीक है. लेकिन, अगर कोई महिला उनके साथ प्रतिस्पर्धा करती है, तो वे अपनी प्रतिस्पर्धा को भूल जाते हैं और उसके खिलाफ खड़े हो जाते हैं.

    एक्ट्रेस कहती हैं, ‘शायद 10 में से 2-3 आदमी समझदार हैं, जो नारी शक्ति का सम्मान करते हैं और समानता में विश्वास करते हैं, लेकिन मुझे यह भी लगता है कि महिलाओं को इससे एक्साइटेड नहीं होना चाहिए. यह मनोविज्ञान है और इससे प्रभावित नही होना चाहिए. हमें इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि हमारे पास क्या है और हम क्या करना चाहते हैं.’ एक्ट्रेस को आखिरी बार रिएलिटी शो ‘खतरों के खिलाड़ी 11’ में देखा गया था.

    उन्होंने कई हिट टीवी शोज में खुद को साबित किया है. वे अब अपना दायरा फैलाना चाहती हैं. वे कहती हैं, ‘मैं मिलने वाले लुभावने ऑफर के आगे झुक नहीं रही हूं. बेशक, जब आपके पास स्क्रिप्ट होती हैं और अच्छा पैसा मिलता है तो न कहना मुश्किल हो जाता है, लेकिन मैं इससे संतुष्ट नहीं हूं और मुझे लगता है कि मेरे लिए और भी बहुत कुछ है, जिसे तलाशने की जरूरत है. मैं अच्छे प्रोजेक्ट में काम करना चाहती हूं. मेरे पास ज्यादातर स्क्रिप्ट संकट में फंसी लड़की या गृहिणी या एक आम लड़की के बारे में हैं जो अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने में सक्षम नहीं है और फिर कोई उसकी मदद के लिए आगे आता है. उसे किसी और की जरूरत क्यों है?’

    Tags: Divyanka Tripathi, Indian women, KKK 11

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर