लाइव टीवी

'रामायण' के महिला किरदारों पर Twitter पर मचा हंगामा, कैकई-मंथरा पर उठे सवाल

News18Hindi
Updated: April 1, 2020, 8:48 PM IST
'रामायण' के महिला किरदारों पर Twitter पर मचा हंगामा, कैकई-मंथरा पर उठे सवाल
सीरियल रामायण का एक सीन.

'रामायण' (Ramayana) का टेलीकास्‍ट दूरदर्शन (Doordarshan) पर एक बार फिर से शुरू हुआ है. ऐसे में इस सीरियल के महिला किरदारों पर सोशल मीडिया पर नई बहस शुरू हो गई है.

  • Share this:
निर्देशक रामानंद सागर के सीरियल 'रामायण' (Ramayana) ने टीवी पर एक अनोखा इतिहास रचा था और अब एक बार फिर ये सीरियल इन दिनों दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहा है. रामायण के इस री-टेलीकास्‍ट से दर्शक काफी खुश हैं और लगातार सोशल मीडिया पर अपनी खुशी जाहिर भी कर रहे हैं. कई लोग रामायण देखते हुए अपनी तस्‍वीरें ट्विटर (Twitter) पर शेयर कर रहे हैं. लेकिन इसी के साथ रामायण ने सोशल मीडिया पर एक नई बहस को भी शुरू कर दिया है.

बुधवार को सुबह प्रसारित हुए एपिसोड में श्री राम, सीता और लक्ष्‍मण राजमहल छोड़कर वनवास के लिए निकल पड़े हैं. श्री राम के वनवास के पीछे लोग कैकई और मंथरा को असली विलेन बताते हुए इन किरदारों पर सोशल मीडिया पर खूब बात कर रहे हैं. यही कारण है कि पिछले कुछ घंटों में ये दोनों ही किरदार ट्विटर पर जमकर ट्रेंड भी हुए. जहां कुछ लोगों को लगता है कि इस सीरियल में महिला किरदारों को ठीक से नहीं दिखाया गया है, तो वहीं कई लोगों ने ये बात भी कही है कि स्‍टोरीलाइन के मुताबिक महिला सशक्तिकरण को खूबसूरती से दिखाया गया है.





एक यूजर ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'हम 7000 साल पहले भी इतने प्रगतिशील थे. सीता एक होशियार और योद्धा थीं. कैकई सिर्फ योद्धा ही नहीं थी बल्कि वह देवासुर संग्राम में राजा दशरथ की सारथी भी थीं, जो एक आसान काम नहीं था. असली महिला सशक्तिकरण.'



वहीं एक यूजर ने लिखा, 'आज रामायण देखते हुए मुझे एहसास हुआ कि पहली महिला ड्राइवर भारत की थी, कैकई और सत्‍यभामा.'

We were so progressive even 7000 yrs back, its amazing. Sita was very intelligent & warrior woman. Kaikeyi wasnt only a warrior, she was Saarthi of King Dashrath in Devasur sangram, which was not at all an easy task. True women empowerment. #Ramayana#Ramayan #RamayanOnDDNational pic.twitter.com/fZngEA2XEY



 



 



वहीं कुछ यूजर ने इसके विरोध में अपने विचार रखे हैं. एक यूजर ने लिखा, 'कैकई सच में दुष्‍ट थी. सिर्फ अपने बेटे को राजा बनाना काफी नहीं था, उसने राम को वनवास भेजकर सारी सीमाएं तोड़ दीं.' वहीं एक यूजर ने लिखा, 'कैकई इस पूरे महाग्रंथ की सबसे दुर्भाग्‍यशाली महिला थी. उसने अपने बेटे से ज्‍यादा राम को प्‍यार किया, अपने राजा के लिए लड़ी, शायद रानियों में सबसे होशियार थी, लेकिन सिर्फ कुछ पलों की गलत सोच ने सब कुछ बर्बाद कर दिया. क्‍या बढि़या पाठ है.'

 



 



 



बता दें कि देश में लगे लॉकडाउन के दौरान भारत सरकार ने दूरदर्शन पर रामायण के री-रन का फैसला लिया था. अब दूरदर्शन पर सिर्फ रामायण ही नहीं बल्कि महाभारत, चाणक्‍य, शक्तिमान जैसे कई पुराने और सुपरहिट सीरियल वापस लौटने वाले हैं.

ये भी पढ़ें :- तलाक के बाद घर लौटीं ऋतिक की एक्स-वाइफ सुजैन, पापा राकेश रोशन ने कही ऐसी बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टीवी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading