कोरोना पर गुरमीत चौधरी की जनता से अपील, कहा - 'घर पर रहें, सुरक्षित रहें...'

गुरमीत चौधरी ने लोगों से लॉकडाउन के रूल्स फॉलो करने की अपील की है.
गुरमीत चौधरी ने लोगों से लॉकडाउन के रूल्स फॉलो करने की अपील की है.

गुरमीत चौधरी (Gurmeet choudhary) ने कहा कि हमें कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को गंभीरता से लेना चाहिए और एक जिम्मेदार नागरिक की तरह अपने कर्तव्य का पालन करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 9:47 PM IST
  • Share this:
मुंबईः पूरी दुनिया कोरोना वायरस (Coronavirus) की चपेट में है. अब तक इस वायरस से करीब 23 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी है. इस वायरस से बजने का सबसे कारगर तरीका है सोशल डिस्टेंसिंग. हम आपस में जितना दूर रहेंगे इस वायरस के संक्रमण को उतना ही कम कर सकेंगे. इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया है. डॉक्टर्स, नेता और कलाकार हर कोई बचने की सलाह दे रहा है. अब टीवी एक्टर गुरमीत चौधरी (Gurmeet choudhary) ने कोरोनावायरस को लेकर देश की जनता से अपील की है.

एक्टर गुरमीत चौधरी ने News18 से बात करते हुए कहा कि हमें कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को गंभीरता से लेना चाहिए और एक जिम्मेदार नागरिक की तरह अपने कर्तव्य का पालन करना चाहिए. उन्होंने अपने संदेश में अपील की कि अपने आस पास सफाई का ध्यान रखें और वायरस से बचाव के लिए चेहरे पर मास्क लगाएं. उन्होंने कहा कि हमें खुद का ख्याल तो रखना ही चाहिए साथ ही दूसरों के स्वास्थ्य की भी फिक्र करनी चाहिए.

गुरमीत ने कहा कि सभी लोगों को लॉकडाउन का पालन करना चाहिए और अगर बहुत जरूरी न हो तो घर से बाहर न जाएं क्योंकि इसी के द्वारा हम खुद की और दूसरे को भी संक्रमण से बचा सकते हैं. उन्होंने कहा कि कुछ लोग सामान लेने के बहाने से बाहर निकल रहें हैं, हमें ऐसा बिल्कुल नहीं करना. हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि अगर जरूरी काम है तो घर का एक ही सदस्य बाहर जाए वो भी मास्क लगाकर.





कोरोना को लेकर गम्भीरता से ले और बचाव के लिए मास्क पहने और सफ़ाई का ख़ास ख़याल रखें और बाहर जाने की बजाय घर पर रहे और अपने साथ साथ दूसरों की सुरक्षा का ख़याल रखे आप घर रहकर ही कोरोंना से सुरक्षा कर सकते है. उन्होंने कहा कि कोरोना को सब लोग गम्भीरता से ले क्योंकि अगर यह भारत में फैल गया तो इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के निर्णय के बारे में उन्होंने कहा कि यह देश की भलाई के लिए है, लेकिन उनके संबोधन के बाद जिस तरह से लोग बाजार की तरफ सामान लेने गए और भीड़ इकट्ठा की वह पूरी तरह से गैरजिम्मेदाराना व्यवहार था. गुरमीत का मानना है कि अगर हम सरकार का साथ नहीं देंगे तो कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई बहुत कमजोर हो जाएगी जो कि हमारे देश के नागरिकों के लिए नकुसान देह है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज