अपना शहर चुनें

States

आर्थिक तंगी से जूझ से हैं 'एक प्यार का नगमा' लिखने वाले संतोष आनंद, नेहा कक्कड़ ने की मदद

संतोष आनंद की कहानी को सुनकर नेहा कक्कड़ भावुक हो गईं. फोटो साभार- @indianidol12official/Instagram
संतोष आनंद की कहानी को सुनकर नेहा कक्कड़ भावुक हो गईं. फोटो साभार- @indianidol12official/Instagram

इंडियन आइडल 12 (Indian Idol 12) पर इस हफ्ते संतोष आनंद (Santosh Anand) संगीतकार प्यारेलाल के साथ नजर आने वाले हैं. शारीरिक रूप से लाचार संतोष आनंद उम्र के इस पड़ाव पर अपने संघर्ष को साझा करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2021, 2:00 PM IST
  • Share this:
मुंबई. 'एक प्यार का नगमा है', 'जिंदगी की न टूटे लड़ी', 'मैं न भूलूंगा, इन रस्मों को इन कसमों' को जैसे कई लोकप्रिय गानों के गीतकार इन दिनों आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. 81 साल के संतोष आनंद (Santosh Anand) के पास कोई काम नहीं और बेटे की निधन के बाद वह पूरी तरह से टूट चुके हैं. हाल ही में वह टीवी रिएलिटी शो इंडियन आइडल 12 (Indian Idol 12) के सेट पर पहुंचे, जहां उन्होंने अपनी दर्द भरी कहानी सुनाई. उनकी कठिन जीवन की कहानी को सुनने के बाद शो की जज नेहा कक्कड़ (Neha Kakkar) भावुक हो गईं और उन्होंने संतोष की फाइनेंशियल हैल्प करते हुए 5 लाख रुपए देने की घोषणा कर दी.

इंडियन आइडल 12 (Indian Idol 12) पर इस हफ्ते संतोष आनंद (Santosh Anand) संगीतकार प्यारेलाल के साथ नजर आने वाले हैं. शारीरिक रूप से लाचार संतोष आनंद उम्र के इस पड़ाव पर अपने संघर्ष को साझा करेंगे. शो में दर्शक उन्हें ये कहते सुनेंगे कि कैसे अब बिल तक चुकाने में कठिनाई हो रही है. उनकी इस दर्दभरी कहानी को सुनने के बाद शो की जज नेहा कक्कड़ (Neha Kakkar) हो गईं.

नेहा ने उनसे कहा कि वे किसी भी तरह उनकी मदद करना चाहती हैं क्योंकि वे इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री का बेहद अहम हिस्सा हैं. नेहा ने फाइनेंशियल हैल्प करते हुए 5 लाख रुपयों देने का वादा किया. इतना ही नहीं नेहा ने इंडस्ट्री से उन्हें काम देने की अपील भी की. नेहा के अलावा विशाल ददलानी ने भी संतोष आनंद से उनके लिखे गीत मांगे और कहा कि वे उन्हें रिलीज करेंगे.




संतोष आनंद के बेटे का नाम संकल्प था. वह गृह मंत्रालय में IAS अधिकारियों को सोशियोलॉजी और क्रिमिनोलॉजी पढ़ाते थे और काफी समय से डिप्रेशन से जूझ रहे थे. 15 अक्टूबर 2014 को पत्नी के साथ दिल्ली से मथुरा पहुंचने के बाद दोनों ने कोसीकलां कस्बे के पास रेलवे ट्रैक पर पहुंचकर ट्रेन के सामने कूदकर जान दे दी थी. इस हादसे में उनकी बेटी की किसी तरह बच गई थी.

आत्महत्या से पहले 10 पेज का सुसाइड नोट भी लिखा था, जिसमें होम डिपार्टमेंट के कई सीनियर अधिकारी और डीआईजी का नाम शामिल था. संकल्प ने आरोप लगाया था कि करोड़ों के फंड में गड़बड़ी के चलते इन अधिकारियों ने उन्हें सुसाइड के लिए मजबूर किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज