'Indian Idol' अभिजीत सावंत ने रिएलिटी शो की खिंचाई की, कहा- 'टैलेंट की जगह दुख भरी कहानियां दिखाते हैं'

अभिजीत सावंत 'इंडियन आइडल 1' के विनर हैं (फोटो साभारः Instagram/abhijeetsawant73)

अभिजीत सावंत 'इंडियन आइडल 1' के विनर हैं (फोटो साभारः Instagram/abhijeetsawant73)

हाल में 'इंडियन आइडल 12’ (Indian Idol 12) के खास एपिसोड में किशोर कुमार (Kishore Kumar) को श्रद्धांजलि दी गई थी, जहां जज अनु मलिक (Anu Malik), हिमेश रेशमिया और नेहा कक्कड़ (Neha Kakkar) की उनकी सिंगिंग की वजह से आलोचना हुई थी.

  • Share this:

नई दिल्लीः 'इंडियन आइडल 12' (Indian Idol 12) पिछले कुछ समय से कई गलत कारणों से सुर्खियों में है. अब 'इंडियन आइडल 1' के विनर अभिजीत सावंत (Abhijeet Sawant) ने कहा है कि इन दिनों रिएलिटी शो में टैलेंट से ज्यादा कंटेस्टेंट की गरीबी, दुख भरी कहानियों को दिखाया जा रहा है. रीजनल सिंगिंग रिएलिटी शो की तुलना 'इंडियन आइडल' से करते हुए, सावंत ने एक साक्षात्कार में कहा, 'अगर आप रीजनल रिएलिटी शो देखते हैं, तो वहां दर्शकों को कंटेस्टेंट के बारे में शायद ही पता होगा. उनका फोकस सिर्फ सिंगिंग पर होता है, लेकिन हिंदी रिएलिटी शोज में कंटेस्टेंट्स की दुख भरी कहानियों को भुनाया जाता है. फोकस सिर्फ उसी पर है.'

आज तक से बात करते हुए, सावंत ने कहा कि एक बार वे इंडियन आइडल के लिए मंच पर गाते हुए, वे एक गाने के बोल भूल गए थे और गाना बंद कर दिया था. इसके बाद जजों ने उन्हें गाने का एक और मौका देने का फैसला किया था. वे आगे कहते हैं कि अगर आज के समय में ऐसा कुछ होता तो बड़े नाटकीय ढंग से दिखाया जाता.

किशोर कुमार के एपिसोड को लेकर हुई कंट्रोवर्सी पर बोलते हुए, सावंत ने कहा, 'किशोर कुमार के साथ किसी भी सिंगर की तुलना करना गलत है. सभी गायकों की अपनी शैली होती है और वे अपने अनोखे तरीके से ट्रिब्यूट देने के लिए आजाद होते हैं.'

हाल में, 'इंडियन आइडल 12' में किशोर कुमार पर विशेष एपिसोड किया गया था. इसमें जज अनु मलिक, हिमेश रेशमिया और नेहा कक्कड़ की परफॉर्मेंस नेटिजन्स को अच्छी नहीं लगी. इसकी वजह से तीनों की खूब आलोचना हुई. बाद में, किशोर कुमार के बेटे अमित कुमार ने खुलासा किया कि उन्हें यह एपिसोड बिल्कुल भी पसंद नहीं आया था. वे इसे रोकना चाहते थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज