कंगना रनौत के 'ऑक्सीजन' ट्वीट का करण पटेल ने उड़ाया मजाक, एक्ट्रेस को बताया बेस्ट स्टेंडअप कॉमेडियन

करण पटेल, कंगना रनौत (फाइल फोटो)

करण पटेल, कंगना रनौत (फाइल फोटो)

अपने ट्वीट में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने देश में स्थापित किए जा रहे नए ऑक्सीजन प्लांट्स पर आपत्ति जताई थी. कंगना ने हाल ही में अपने ट्वीट में कहा था हमे पर्यावरण से जबरन ऑक्सीजन वसूलना खतरनाक हो सकता है. इतने अधिक ऑक्सीजन प्लांट लगाकर पर्यावरण से ऑक्सीजन नहीं लेनी चाहिए.

  • Share this:

मुंबईः 'ये हैं मोहब्बतें' फेम एक्टर करण पटेल (Karan Patel) सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और तमाम मुद्दों पर अपनी राय रखते भी नजर आ जाते हैं. अब करण पटेल ने बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को निशाने पर लेते हुए एक पोस्ट शेयर किया है, जिसके जरिए उन्होंने एक्ट्रेस को मजेदार स्टेंडअप कॉमेडियन बताया है. दरअसल, एक्ट्रेस ने ट्विटर से बैन किए जाने से पहले 'ऑक्सीजन' को लेकर एक ट्वीट (Kangana Ranaut Oxygen Tweet) किया था, जो देखते ही देखते विवादों में घिर गया. इस ट्वीट में कंगना रनौत ने देश में स्थापित किए जा रहे नए ऑक्सीजन प्लांट्स पर आपत्ति जताई थी.

कंगना ने हाल ही में अपने ट्वीट में कहा था हमे पर्यावरण से जबरन ऑक्सीजन वसूलना खतरनाक हो सकता है. इतने अधिक ऑक्सीजन प्लांट लगाकर पर्यावरण से ऑक्सीजन नहीं लेनी चाहिए. एक्ट्रेस ने अपने ट्वीट में कहा कि जिस तरह से कोविड संक्रमित मरीज ऑक्सीजन सिलेंडर के जरिए ऑक्सीजन ले रहे हैं, इससे वह पर्यावरण से ऑक्सीजन खत्म कर रहे हैं. अपने इसी ट्वीट को लेकर अब एक्ट्रेस करण पटेल के निशाने पर आ गई हैं.

कंगना रनौत के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए करण पटेल ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक पोस्ट शेयर किया है. जिसमें उन्होंने लिखा है- 'यह औरत इस देश की सबसे मजेदार स्टेंडअप कॉमेडियन है.' मालूम हो कि कोरोना संक्रमित मरीजों में ऑक्सीजन की कमी की समस्या सबसे अधिक देखने को मिल रही है. ऐसे में तमाम अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर कम पड़ रहे हैं. जिसके चलते सरकार ने नए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का फैसला लिया है.


ऐसे में कंगना बैक टू बैक किए ट्वीट्स में इस पर आपत्ति जाहिर की थी. अपने एक ट्वीट में कंगना ने लिखा- 'हर शख्स अधिक से अधिक ऑक्सीजन​​​​​​​ प्लांट्स स्थापित कर रहा है, जिससे कई टन ऑक्सीजन सिलेंडर बनाए जा सकें. हम उस ऑक्सीजन को कैसे वापस कर रहे हैं, जो हम पर्यावरण से अभी जबरदस्ती ले रहे हैं? लगता है कि हमने अपनी गलतियों और आपदाओं से कुछ नहीं सीखा है. हमें बड़े पैमाने पर पेड़ लगाना चाहिए.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज