Home /News /entertainment /

तीन गोली खाकर भी आतंकियों के आगे डटे रहे प्रवीण, KBC-10 में बताई 26/11 हमले की पूरी दास्तां

तीन गोली खाकर भी आतंकियों के आगे डटे रहे प्रवीण, KBC-10 में बताई 26/11 हमले की पूरी दास्तां

कौन बनेगा करोड़पति - प्रवीण तेवतिया

कौन बनेगा करोड़पति - प्रवीण तेवतिया

देश के पहले दिव्यांग आयरन मैन भी हैं प्रवीण तेवतिया. उन्हें शौर्य चक्र से भी सम्मानित किया जा चुका है.

    कौन बनेगा करोड़पति के सीजन-10 में 5 अक्टूबर का कर्मवीर स्पेशल प्रवीण तेवतिया के नाम रहा. 26/11 हमले में अपनी जान पर खेलकर सैंकड़ों लोगों की जान बचाने वाले प्रवीण तेवतिया जैसे जांबाज शूरवीर को केबीसी ने सलामी दी. प्रवीण ने बताया कि किस तरह देश की सेवा करने का जज्बा उन्हें विरासत में मिला है. वह मूल रूप से बुलंदशहर के एक गांव से हैं, जहां के 39 लोग पहले विश्व युद्ध से लेकर अब तक देश के लिए शहीद हो चुके हैं.

    बात करें 26/11 की तो मुंबई पर हुए उस आतंकवादी हमले में देश की सुरक्षाबल के कई जवान शहीद हो गए थे. आतंकियों के चंगुल में फंसे 150 से भी ज्यादा लोगों की जान बचाने वाले जवानों में प्रवीण तेवतिया भी शामिल हैं. केबीसी के मंच पर वह आए और सामने आई ऐसी दास्तां, जिसे सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं.

    प्रवीण ने बताया कि मुंबई पर हुए आतंकी हमले वाली उनकी 12 बजे से 4 बजे तक की ड्यूटी थी. वह अपनी ड्यूटी पर पहुंच चुके थे, तभी एक अधिकारी ने उन्हें बताया कि ताज पर हमला हो गया है. वह तुरंत वहां से बुलेट प्रूफ जैकेट और हथियार लेकर तीन बजे के आसपास मुंबई पहुंचे.

    Praveen teotia
    प्रवीण तेवतिया


    जब वह वहां पहुंचे, तो उन्होंने देखा कि जगह-जगह खून बिखरा हुआ था. चीखने की आवाज़ आ रही थी. वहां उन्हें एक आदमी दिखा, जो फोन पर रोते-रोते बातें कर रहा था. उसने बताया कि उसकी पत्नी और बच्चे छठे फ्लोर पर हैं. वो उसी तरफ जा रहा था. ऐसे में प्रवीण ने उन्हें वहां नहीं जाने दिया और खुद रेस्कयू करने पहुंचे. बाद में उन्हें पता चला कि वो ताज होटल के जनरल मैनेजर थे.

    ताज पर हुए उस हमले के दौरान चार लोगों की जो टीम बनी, प्रवीण उसमें प्वॉइंटमैन नियुक्त हुए और लोगों की जान बचाने में जुट गए. उस रोज की जो आपबीती प्रवीण ने केबीसी के मंच पर बताई वह दिल दहला देने वाली थी. किस तरह आतंकवादियों के हेड शॉट से उनका कान पूरा सिर से अलग हो गया था. इसके बाद भी सीने पर एक के बाद एक गोली खाकर भी उन्होंने हार नहीं मानी और आखिरी दम तक लड़ते रहे. उनकी कहानी सुनकर अमिताभ बच्चन और वहां बैठे दर्शक भी स्तब्ध रह गए.

    वैसे प्रवीण के नाम एक और रिकॉर्ड है. वह देश के पहले दिव्यांग आयरन मैन भी हैं. उन्हें शौर्य चक्र से भी सम्मानित किया जा चुका है.

     

    ये भी पढ़ें
    12 साल की कोशिश के बाद पहुंचे KBC, 50 लाख का सही जवाब देकर भी बीच में ही छोड़ दिया खेल

    Tags: 26/11 mumbai attack, Amitabh bachchan, KBC, Terrorism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर