KBC 12: कौशलेंद्र सिंह तोमर नहीं दे सके 80,000 के सवाल का जवाब, 40,000 के साथ क्विट किया गेम

कौशलेंद्र, गांव के पंचायत सचिव हैं.
कौशलेंद्र, गांव के पंचायत सचिव हैं.

KBC 12: कौशलेंद्र सिंह तोमर (Kaushalendra Singh Tomar) 40 हजार के सवाल तक आते-आते अपनी तीन लाइफलाइन का इस्तेमाल कर चुके थे. 80 हजार के सवाल का सही जवाब मालूम नहीं होने के कारण उन्होंने शो को छोड़ने का फैसला लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 7:03 AM IST
  • Share this:
मुंबई. हफ्ते की नई शुरुआत के साथ टीवी का चर्चित क्विज शो ‘कौन बनेगा करोड़पति 12 (Kaun Banega Crorepati 12)’ में सोमवार को सपनों को साकार करने के लिए मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गुजरखेड़ा के कौशलेंद्र सिंह तोमर (Kaushalendra Singh Tomar) पहुंचे. शो में इन्होंने फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट (Fastest finger first) का सबसे तेज जवाब देकर हॉट सीट पर अपनी जगह तो बनाई, लेकिन हॉट सीट पर ज्यादा देर तक बैठ न सके. शो में 8वें सवाल पर अटकने के बाद उन्होंने शो से क्विट करने का फैसला किया. केबीसी 12 (KBC 12) के इस नए हफ्ते के पहले कंटेस्टेंट मात्र 40, हजार रुपये लेकर वापस अपने घर लौटे गए.

कौशलेंद्र सिंह तोमर (Kaushalendra Singh Tomar) केबीसी 12 (KBC 12) से जीती धनराशि अपने गांव में लगाना चाहते थे. उन्होंने बताया था कि वह जीती हुई राशि से गांव में डैम बनवाएंगे. हालांकि इस सपने को पूरा करना 40, 000 में मुमकिन नहीं होगा. दरअसल, कौशलेंद्र ने 40 हजार के सवाल तक आते-आते अपनी तीन लाइफलाइन का इस्तेमाल कर लिया था. 80 हजार के सवाल का सही जवाब मालूम नहीं होने के कारण उन्होंने शो को छोड़ने का फैसला लिया.

ये था 80,000 के लिए सवाल
'द इंडियन वॉर ऑफ इंडिपेंडेंस, 1857' नामक पुस्तक के लेखक इनमें से कौन थे?
A- विन्सटन चर्चिल


B- जवाहरलाल नेहरू
C- विनायक दामोदर सावरकर
D- रवींद्रनाथ टैगोर

इस सवाल का सही जवाब था विनायक दामोदर सावरकर, हालांकि कौशलेंद्र ने इसका जवाब दिया विन्सटन चर्चिल. खेल क्विट करने के बाद कौशलेंद्र सिंह तोमर ने विन्सटन चर्चिल कहा था, जो कि गलत जवाब था. अगर कौशलेंद्र ये जवाब देते तो उनके जेब में मात्र 10 हजार रुपये ही आते, इसलिए उन्होंने गेम छोड़ने का फैसला सही किया.

आपको बता दें कि खेल की शुरुआत करने से पहले कौशलेंद्र का एक वीडियो दिखाया गया था, जिसमें उन्होंने गांव में पानी की समस्या के बारे में बताया था. उनका कहना था कि जीती हुई धनराशि से वह गांव में डैम बनवाएंगे. कौशलेंद्र, गांव के पंचायत सचिव हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज