KBC 12 Live: कभी गरीबी से लाचार फूल बसन ने कर लिया था मरने का फैसला, आज 2 लाख महिलाओं को बनाया आत्मनिर्भर

केबीसी 12 (Photo Credit- @sonytv/twitter)
केबीसी 12 (Photo Credit- @sonytv/twitter)

केबीसी 12 (KBC 12 Live) में आज कर्मवीर स्पेशल (Karamveer Special) एपिसोड में अमिताभ बच्चन के सामने हॉटसीट पर पद्मश्री से सम्मानित फूल बसन यादव (Phoolbasan Yadav) बतौर गेस्ट आईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 11:04 PM IST
  • Share this:
मुंबई. केबीसी 12 (KBC 12 Live) में आज के कर्मवीर स्पेशल (Karamveer Special) एपिसोड में पद्मश्री से सम्मानित फूल बसन यादव (Phoolbasan Yadav) बतौर गेस्ट आईं. वहीं उनका साथ देने आईं बॉलीवुड की जानी-मानी एक्ट्रेस रेणुका शहाणे. अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने बताया छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले की रहने वाली फूल बसन यादव महिलाओं के लिए मिसाल बनी हैं. उन्होंने अनगिनत महिलाओं को न सिर्फ अपने पैरों पर खड़ा होने में मदद की है, बल्कि बुराईयों से लड़ने के लिए भी आत्मनिर्भर बनाया है.

उन्होंने बताया कि गरीबी की हालत में 7 साल की उम्र में उन्होंने मां-बाप को रोते हुए देखा था. हम लोग 5 बहनें तीन भाई थे. मुझे लगता था कि जो लोग बढ़े-लिखे होते हैं वो अच्छा पैसा कमा पाते हैं. मैंने बहुत कोशिश की, स्कूल गई तो गुरुजी ने कहा कि अपने पिता को लेकर आओ. पापा और मां से कहा जो दोनों ने जवाब दिया कि हम गरीब हैं और तुम तो बेटी हो पराया धन हो, पढ़के क्या करोगी. फूलबासन बताती हैं कि मुझे 7 साल की उम्र में मुझे पता चल गया कि जिंदगी कितनी मुश्किल है. मेरे माता-पिता के शब्द आज तक नहीं भूल पाई हूं.

फूलबासन ने बताया कि 10 साल की उम्र में शादी हो गई 14 साल की उम्र में ससुराल आ गई. मैं दूसरों के घर में काम करती थी और कई बार ऐसा होता था की घर में बच्चों को कुछ खिलाने को नहीं होता था. मैं गली में जाती थी तो लोग घर के दरवाजे बंद कर देते थे कि ये घर में सामान मांगने आ गई. एक वक्त ऐसा आया कि मैंने सोच लिया था कि खुद भी मर जाऊंगी और बच्चों को भी ऐसे गरीबी में नहीं रहने दूंदी. लेकिन मेरी बेटी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा कि मां मैं मरना नहीं चाहती हूं. तभी मैंने ये तय कर लिया कि मैं कुछ ऐसा करूंगी, जिससे महिलाओं को इतना लाचार महसूस नहीं करना पड़े.



उन्होंने कहा कि जब मैंने घर से बाहर जाकर फैसला किया तो पति ने बहुत विरोध किया, लड़ाई-झगड़ा हुआ और मारपीट भी हुई, घर के बाहर रहना पड़ा. लेकिन मेरी इच्छाशक्ति इतनी तीव्र थी कि मैंने ठान लिया था. बाद में मेरे पति भी जागे और समाज के कई अन्य मर्द भी जागे. आज मेरे साथ दो लाख से भी ज्यादा महिलाएं जुड़ी हुई हैं.
केबीसी में फूल बसन यादव से पूछे गए सवाल ये हैं-

इनमें से कौन सा शब्द बकरी की आवाज को दर्शाता है?
इसका सही जवाब दिया- मिमियाहट

इनमें से किस व्यंजन में मुख्य सामग्री के रूप में आलू का उपयोग नहीं किया जाता है?
इसका सही जवाब दिया- ढोकला

इनमें से कौन सा एक नाम भगवान शिव का है, जिसका मतलब है आसानी से प्रसन्न होने वाला?
इसका सही जवाब दिया- आशुतोष

भारत में रबी की फसलें किस मौसम में बोई जाती हैं?
इस सवाल पर फूलबासन अटक गईं और उन्होंने वीडियो कॉल अ फ्रेंड लाइफ लाइन का इस्तेमाल किया. इसके बाद इस सवाल का सही जवाब दिया- सर्दी

इस गाने को किस गायक ने गाया है? इस सवाल के साथ फूलबासन को एक ऑडियो क्लिप सुनाई गई.
इस सवाल का सही जवाब दिया- एसपी बालासुब्रमणयम

बाबा आम्टे द्वारा मुख्य तौर पर किस रोग से पीड़ित रोगियों के लिए किस उपचार के लिए आनंदवन आश्रम की स्थापना की गई थी.
इस सवाल का सही जवाब दिया- कुष्ठ रोग

इस फिल्म के निर्देशक कौन हैं? इस सवाल के साथ फूलबासन को एक आयुष्मान खुराना की एक फिल्म 'आर्टिकल 15' वीडियो क्लिप दिखाई गई.
इस सवाल का सही जवाब दिया- अनुभव सिन्हा

चित्रों और मूर्तियों में किस देवता को अक्सर सफेद हाथी की सवारी करते हुए दिखाया जाता है?
इस सवाल का सही जवाब दिया- इंद्रदेव

रोहतांग दर्रे के नीचे स्थित, दुनिया की सबसे लंबी हाई एल्टिट्यूड सुरंगों में से एक को हाल ही में खोला गया है. इस सुरंग का किनके नाम पर रखा गया है?
इस सवाल का सही जवाब दिया- अटल बिहारी वाजपेयी

किस नारी शक्ति पुरुस्कार का नाम 18वीं शताब्दी की मालवा राज की एक शासिका के नाम पर रखा गया?
इस सवाल का सही जवाब दिया- देवी अहिल्या बाई होलकर अवॉर्ड

ये फूल किस वृक्ष का है जो कि छत्तीसगढ़ और झारखंड का राजकीय वृक्ष भी है? इस सवाल में एक तस्वीर दिखाई गई.
इस सवाल का सही जवाब दिया- साल

इनमें से क्या दलित अधिकारों की रक्षा के लिए डॉक्टर बीआर अंबेडकर द्वारा शुरु की गई किसी पत्रिका या समाचार पत्र का नाम नहीं है?
इस सवाल का सही जवाब दिया- हरिजन

टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला कौन थीं?
इस सवाल पर फूल बसन अटक गईं और उन्होंने फ्लिप द क्वेचन लाइफ लाइन का इस्तेमाल किया. इससे पहले अमिताभ बच्चन ने इस सवाल का सही जवाब बताया- शांता रंगास्वामी. लाइफ लाइन के बाद जो सवाल आया वो ये है-
गोविंद निहलानी की फिल्म 'अर्ध सत्य' का शीर्षक, किस मराठी कवि की एक कविता से प्रेरित है, जिसे फिल्म में भी शामिल किया गया है?
वहीं इस सवाल पर भी फूल बसन अटक गईं और उन्होंने 50-50 लाइफ लाइन का इस्तेमाल किया और इसके बाद सही जवाब दिया- दिलिप चित्रे

इनमें से कौन एक पर्यारवरणविद थीं, जिन्हें अपने राज्य हिमाचल प्रदेश में, अवैध खनन के खिलाफ लड़ाई लड़ने और आवाज उठाने के लिए जाना जाता है?

इस सवाल पर फूल बसन अटक गईं और उन्होंने आस्क दी एक्सपर्ट लाइफ लाइन का इस्तेमाल किया. इसके बाद इस सवाल का जवाब दिया- किंकरी देवी

इस सवाल के बाद ही शो का समय पूरा होने का हूटर बज गया और फूल बसन का गेम भी समाप्त हो गया. फूल बसन देवी 50 लाख रुपए जीतकर घर गईं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज