अपना शहर चुनें

States

KBC: IPS अफसर बनना चाहते हैं तेज बहादुर, 1 करोड़ के सवाल का जवाब देकर बनेंगे सीजन के चौथे करोड़पति!

तेज बहादुर सिंह.
तेज बहादुर सिंह.

Kaun Banega Crorepati: तेज बहादुर सिंह (Tej Bahadur Singh) ने बेहतरीन गेम खेलते हुए 50 लाख रुपये अपने नाम कर लिए हैं. इससे पहले क‍ि अम‍िताभ तेज से एक करोड़ का सवाल पूछते हूटर बज जाता है. अब गुरुवार यानी आज पता चलेगा क‍ि तेज, अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) के एक करोड़ के सवाल का जवाब दे पाएंगे या नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2020, 7:43 AM IST
  • Share this:
मुंबई. सोनी टीवी (Sony TV) पर आने वाले क्विज शो कौन बनेगा करोड़पति (Kaun Banega Crorepati) के 12वें सीजन का चौथा करोड़पति आज उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बरेली से आए किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले तेज बहादुर सिंह (Tej Bahadur Singh) बन सकते हैं. अपने शानदार गेम से वह 50 लाख रुपये अब तक अपने नाम करा चुके हैं. 20 साल के तेज बहादुर सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा के तीसरे साल की पढ़ाई कर रहे हैं. बचपन से ही तेज ने अपनी आर्थिक स्थिति के चलते बड़ी मुश्किलों का सामना किया है, लेकिन अपनी परिस्थितियों से उन्होंने कभी हार नहीं मानी. शो के दौरान उन्होंने बताया कि कैसे उनकी मां ने फीस भरने के लिए अपने सोने के कुंडल तक बेच दिए थे.

बुधवार को कंटेस्टेंट तेज बहादुर सिंह ने बेहतरीन गेम दिखाते हुए 50 लाख रुपये अपने नाम कर लिए हैं. इससे पहले क‍ि अम‍िताभ तेज से एक करोड़ का सवाल पूछते हूटर बज जाता है. अब गुरुवार को पता चलेगा क‍ि तेज, अमिताभ के एक करोड़ के सवाल का जवाब दे पाएंगे या नहीं.

प्रोमो में तेज बाहुदर का संघर्ष दिखाया गया है. शो में उन्होंने बताया क‍ि कैसे उनकी पढ़ाई के लिए मां को अपने कान के कुंडल गिरवी रखने पड़े. उनके मां के संघर्ष की वजह से ही वे अपनी पढ़ाई पूरी कर पा रहे हैं.




बचपन से ही तेज ने अपनी आर्थिक स्थिति के चलते बड़ी मुश्किलों का सामना किया है, लेकिन अपनी परिस्थितियों से उन्होंने कभी हार नहीं मानी. तेज की मां राजकुमारी ने हमेशा उनका और उनके छोटे भाई का ख्याल रखा और उन्हें उनकी मर्जी की पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया.

तेज का परिवार एक कच्चे मकान में रहता है, जिसमें बिजली भी नहीं है, क्योंकि महीने की कमाई रोज की जरूरतों में खर्च हो जाती है. हालांकि तेज के माता-पिता को यह मंजूर नहीं था कि उनका बेटा रोज 35 किलोमीटर साइकिल चलाकर कॉलेज जाए और इसलिए उन्होंने तेज के कॉलेज के पास ही एक कमरा किराए पर लिया, ताकि वो अपना पूरा समय पढ़ाई में लगा सकें.

जीते हुए पैसों से तेज अपने भाई की पढ़ाई और अपना घर बनाना चाहते हैं. इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले तेज खुद को शासकीय यानी सिविल सर्विस की परीक्षा के लिए तैयार कर रहे है. उन्हें IPS अफसर बनना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज