• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • 12-12 घंटे तक होती थी 'महाभारत' की शूटिंग, ये लोग करते थे फ्री में काम

12-12 घंटे तक होती थी 'महाभारत' की शूटिंग, ये लोग करते थे फ्री में काम

युद्ध के सीन राजस्थान के जयपुर के निकट फिल्माए गए थे. फोटो- वीडियो ग्रैब

युद्ध के सीन राजस्थान के जयपुर के निकट फिल्माए गए थे. फोटो- वीडियो ग्रैब

महाभारत (Mahabharat) में भारी भरकम स्टार कास्ट के बावजूद सैनिकों के रोल के लिए लोगों की जरूरत होती थी. इन सैनिकों के रोल को आम लोगों ने अदा किया था.

  • Share this:
    मुंबई. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लोग घर में कैद होने को मजबूर हैं. लोगोें की मांग के आगे झुकना पड़ा और 80 और 90 के दशक के उन सीरियल्स को शुरू किया गया, जिसके लोग दीवाने हुआ करते थे. महाभारत और रामायण का क्रेज जैसा था वैसा ही आज भी देखने को मिल रहा है. लॉकडाउन के दिनों में रामायण (Ramayan) और महाभारत (Mahabharat) लोगों के पसंदीदा कार्यक्रमों में एक है. अपने पसंदीदा कार्यक्रमों को देखने के लिए आज भी लोग टीवी की स्‍क्रीन के सामने चिपक कर बैठ जाते हैं. इन दिनों लोग इन्हीं सीरियल्स की बातें कर रहे हैं. दूरदर्शन पर महाभारत के पुराने एपिसोड दिखाए जा रहे हैं. महाभारत और उसके निर्माण से जुड़ी कहानियां भी लोग जानना चाहते हैं.

    जिस समय में महाभारत (Mahabharat) का निर्माण हुआ उस दौर में इतने संसाधन नहीं थे, जितने आज मिल जाते हैं. चोपड़ा परिवार ने मिलकर इस शो के निर्माण में जितना सहयोग दिया, उतनी ही मेहनत उन किरदारों ने भी, जिससे शो सुपरहिट रहा. महाभारत का निर्देशन बीआर चोपड़ा ने किया था. उनके बेटे रवि चोपड़ा ने भी शो को डायरेक्ट किया था.

    Prakash Javadekar, Mahabharata, Ramayan,tweet
    महाभारत का प्रसारण 1988 से 1990 तक दूरदर्शन पर किया गया था.


    महाभारत में भारी भरकम स्टार कास्ट के बावजूद सैनिकों के रोल के लिए लोगों की जरूरत होती थी. इन सैनिकों के रोल को आम लोगों ने अदा किया था. रवि चोपड़ा की पत्नी रेनू चोपड़ा ने एक इंटरव्यू में बताया है कि कुछ ही दिनों में शो इतना पॉपुलर हो गया था कि लोग फ्री में काम करने को तैयार थे.

    रेनू चोपड़ा ने बताया कि युद्ध के सीन राजस्थान के जयपुर के निकट फिल्माए गए थे. जब युद्ध के सीन शूट हो रहे थे तो हमें सैनिकों की जरूरत होती थी. उन सैनिकों के लिए के लिए जो फ्रंट रो होती थी, सिर्फ उन लोगों को हायर किया जाता था. शूटिंग के दौरान जो दर्शक आते थे वो सैनिक बनने के लिए तैयार रहते थे और इस काम के लिए पैसे भी नहीं लेते थे. उस वक्त सुबह 6 बजे से लेकर शाम के 6 बजे तक शूटिंग होती थी. पर स्थानीय लोगों को कभी भी इससे दिक्कत नहीं हुई थी.

    आपको बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन लगाया गया है जो 3 मई तक है. इसी लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन ने अपने पुराने रामायण', 'महाभारत', 'शक्तिमान', 'देख भाई देख', 'सर्कस' जैसे सुपरहिट 'शोज की वापसी की है. दर्शकों को पुराने शोज को एक बार फिर टीवी पर देखना काफी पसंद आ रहा है.

    ये भी पढ़ें :- रमज़ान के दौरान 25,000 प्रवासी श्रमिकों का पेट भरेंगे सोनू सूद, बोले- एक-दूसरे का साथ खड़ा होना जरूरी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज