TRP BARC: टीवी पर कायम है 'रामायण' का जलवा, जानें 'श्री कृष्णा' को मिला है कौन सा स्थान...

BARC ने 18 से 24 जुलाई के बीच भारतीय दर्शकों के देखने के पैटर्न को जारी किया है.

BARC ने 18 से 24 जुलाई के बीच भारतीय दर्शकों के देखने के पैटर्न को जारी किया है, जिसके मुताबिक टीआरपी के मामले में दंगल का रामायण (Ramayan) अभी भी सबसे ऊपर यानि पहले स्थान पर है.

  • Share this:
    मुंबईः 80 के दशक में पहली बार प्रसारित हुए रामानंद सागर (Ramanand Sagar) के पौराणिक शो रामायण (Ramayan) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते देश में लागू हुए लॉकडाउन के बीच टीवी पर वापसी की, जिसे दर्शकों का भरपूर प्यार मिला. टीआरपी की दुनिया में रामायण ने खूब तहलका मचाया. अब ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च चैनल (BARC) की नई रिपोर्ट के मुताबिक, रामायण टीवी पर सबसे ज्यादा देखे जाने वाला सीरियल बन गया है. BARC ने 18 से 24 जुलाई के बीच भारतीय दर्शकों के देखने के पैटर्न को जारी किया है, जिसके मुताबिक टीआरपी के मामले में दंगल का रामायण (Ramayan) अभी भी सबसे ऊपर यानि पहले स्थान पर है.

    रामायण के बाद डीडी नेशनल का श्री कृष्णा (Shri Krishna) है. यह शो भी 90 के दशक में पहली बार टेलिकास्ट हुआ था, और लॉकडाउन के दौरान टीवी पर वापसी की. रामायण और श्रीकृष्ण के अलावा, दंगल का महिमा शनिदेव टीवी पर सबसे ज्यादा देखे जाने वाले शो में तीसरे स्थान पर है. इसके अलावा तारक मेहता का उल्टा चश्मा चौथे नंबर पर है. बता दें हाल ही में, शो को 12 साल पूरे हुए हैं. तारक मेहता का उल्टा चश्मा का पहला एपिसोड 28 जुलाई, 2008 को टेलिकास्ट हुआ था. वहीं पांचवे स्थान पर है दंगल का रक्त संबंध.

    Ramayan, Taarak Mehta Ka Ooltah Chashma, Ramayan TRP, TRP BARC, Ramanand Sagar, Shri Krishna, Mahima Shanidev Ki, Anupamaa,  Rupali Ganguly, Shakti-Astitva Ke Ehsaas Ki

    इसके अलावा, हिंदी जीईसी अर्बन के अनुसार, तारक मेहता का उल्टा चश्मा टीआरपी के मामले में पहले स्थान पर है. इसके बाद स्टार प्लस पर हाल ही में आए 'अनुपमां' ने दूसरे स्थान पर जगह बनाई है. इस सीरियल के जरिए रूपाली गांगुली ने लंबे समय बाद टीवी की दुनिया में वापसी की है. इस शो में सुधांशु पांडे और आशीष मेहरोत्रा ​​भी मुख्य भूमिकाओं में हैं. वहीं तीसरे नंबर पर ज़ी टीवी का कुंडली भाग्य है. इसके अलावा कलर्स के 'शक्ति अस्तित्व के अहसास की' चौथे और 'छोटी सरदारनी' पांचवे स्थान पर है.