Video: रामायण की सीता के राजनीति से दूर होने पर पीएम मोदी ने क्या कहा, रह चुकी हैं BJP सांसद

पीएम मोदी के साथ रामायण की सीता दीपिका चिखलिया. (तस्वीरः दीपिका चिखलिया के ऑफिशीयिल फेसबुक पेज से.)
पीएम मोदी के साथ रामायण की सीता दीपिका चिखलिया. (तस्वीरः दीपिका चिखलिया के ऑफिशीयिल फेसबुक पेज से.)

रामायण (Ramayan) में मां सीता (Sita Mata) का किरदार निभा चुकीं अभिनेत्री दीपिका चिखलिया (Dipika Chikhalia) एक सफल राजनेत्री रह चुकी हैं. उन्होंने अपना पांच साल का सांसद का कार्यकाल पूरा किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 10:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रामायण (Ramayan) में माता सीता (Mata Sita) का किरदार निभा चुकी अभिनेत्री दीपिका चिखलिया (Dipika Chikhlia) ने न्यूज 18 हिन्दी के फेसबुक लाइव में जनार्दन पांडेय से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने अपने सफल राजनीति करियर को क्यों छोड़ दिया. उन्होंने बताया कि साल 1991 में उन्होंने बड़ोदरा सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था. इसमें उन्हें जीत भी हासिल हुई. इसी दरम्यान उनकी शादी भी हुई.

इसके बाद उन्होंने पांच सफल साल संसद में गुजारे. लेकिन अगली पारी की वो शुरुआत करतीं इससे पहले उनकी पहली बेटी निधि ने जन्म लिया. दीपिका चिखलिया ने बताया कि राजनीति कोई ऐसा काम नहीं जिसे तमाम कामों के साथ किया जाए. दीपिका चिखिलिया का मानना है कि राजनीति प्रमुख रूप से जनता की सेवा का काम है. ऐसे में जब वो मां बनी तो उनके ऊपर जनता की जिम्मेदारी, परिवार की जिम्मेदारी और अपनी बेटी की जिम्मेदारी एक साथ आ गई.

यहां पर आकर उन्होंने राजनीति और अभिनय दोनों ही दुनिया से परे आकर अपने परिवार को चुना और परिवार को संभालने में जुट गईं. लेकिन अहम बात ये है कि जब वो गुजरात से चुनाव लड़ रही थीं तब उनके लिए प्रचार करने तब नरेंद्र मोदी और लाल कृष्‍ण आडवाणी दोनों ने उनके लिए लोगों से वोट मांगे थे. ऐसे में जब उन्होंने राजनीति छोड़ी तब सभी को आश्चर्य हुआ.



रामायण की सीता ने बताया कि हाल ही में करीबन आठ-नौ महीने पहले उनकी एक मुलाकात पीएम मोदी से हुई थी. तब उन्होंने दीपिका के सक्रिय राजनीति से दूर होने का कारण जानना चाहा था. पीएम मोदी की नजर में आज भी 1991 दीपिका की छवि थी जो बेहद कर्मठ और जुझारू थी. इसके जवाब में जब दीपिका ने बताया कि उन्होंने अपनी पारिवा‌रिक जिम्मेदारियों के चलते राजनीति छोड़ी तो पीएम मोदी ने भी इसकी तारीफ की और कहा कि बहुत से लोग ऐसा नहीं कर पाते.
यहां देखें रामायण की सीता दीपिका चिखलिया का पूरा इंटरव्यू


बता दें कि लॉकडाउन के दौरान रामायण का दोबारा प्रसारण किया गया था. तब बहुत से लोगों ने पहली बार रामायण देखी और आज के युवाओं में भी का काफी क्रेज रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज