लाइव टीवी

रामायण: लक्ष्मण ने टीवी पर काटी सुर्पनखा की नाक तो ट्विटर पर छिड़ा घमासान

News18Hindi
Updated: April 5, 2020, 3:16 AM IST
रामायण: लक्ष्मण ने टीवी पर काटी सुर्पनखा की नाक तो ट्विटर पर छिड़ा घमासान
लक्ष्मण ने सुर्पनखा की नाक काटी थी.

एक तरफ टीवी धारावाहिक 'रामायण' में सुर्पनखा की नाक काटे जाने ट्विटर पर घमासान मचा तो दूसरी ओर दीपक जलाने के लिए लक्ष्मण रेखा पार ना करने के लिए भी टॉप ट्रेंड चल रहा है.

  • Share this:
मुंबई. रामायण को लेकर सोशल मीडिया में जबर्दस्त हाइप बनी हुई है. रामायण में दिखाई जाने वाले विजुअल्स, कहानी को लेकर जमकर ट्वीट किए जा रहे हैं. पिछले करीब 24 घंटे के भीतर ट्विटर इंडिया पर टॉप 10 के ट्रेंड में 'रामायण' के इर्द-गिर्द #Ramayan, #ravan, "लक्ष्मण रेखा" और surpanakha रहे. असल में ट्विटर पर रामायण को लेकर कई तरह की टिप्पण‌ियां हो रही हैं. लेकिन जमकर हो रही हैं. बहुतेरे लोग यह आरोप भी लगा रहे हैं कि जानबूझकर ऐसा किया जा रहा है, लेकिन बहुतेरे लोग रामायण से जुड़े ऐसे तथ्य ला रहे हैं, जिनको देखकर हंसी भी आएगी और विचारणीय भी है.

मसलन बहुत से लोगों ने सुर्पनखा और सुपरमैन के उड़ने के पोज की तुलना करते हुए कहा कि दोनों एक जैसे ही अंदाज में ही उड़ते हैं. वहीं कुछ लोगों ने लक्ष्मण की ओर से सुर्पनखा की नाक काटे जाने और इसको लेकर बारमबार छिड़ने वाली बहस पर भी कमेंट किया. आरोप लगते रहे हैं कि लक्ष्मण की ओर से सुर्पनखा का नाक काटा जाना एक किस्म की पुरुषवादी मानसिकता का द्योतक है. इस बात पर ट्विटर पर जमकर घमासान मचा.

इधर रावण, लक्ष्मण रेखा और रामायण के ट्रेंड को 5 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीप प्रज्जवलन के आग्रह जोड़कर भी देखा जा रहा है. असल में भारतीय संस्कृति में दीपोत्सव का आरंभ भगवान श्रीराम के रावण वध के बाद अयोध्या लौटने से ही माना जाता है. धर्मग्रंथों के अनुसार भगवान श्रीराम के 14 वर्षों के वनवास के बाद जब उनकी अयोध्या वापसी हुई तब अयोध्यावासियों ने दीप जलाकर उनका स्वागत किया था. इसी उपलक्ष्य में आज भी देश में दीवाली का त्योहार मनाया जाता है.







लेकिन 5 अप्रैल को बिना किसी ब्रह्म मुहूर्त के पीएम मोदी आग्रह किया है कि इंसानियत के नाते अपने घरों से बाहर आकर दीपक या मोबाइल टॉर्च जलाकर देश की एकजुटता का परिचय दें. इससे दुनियाभर में यह संदेश जाएगा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरा देश एकजुट है.

ऐसे में रामायण के प्रसारण ने लोगों को ट्विटर पर अपनी बात रखने का एक और अवसर दे दिया है. लोग आज पीएम के आग्रह के अनुसार यह भी कह रहे हैं कि सभी को दीपक जलाते वक्त यह भी ध्यान रखना है कि उन्हें #लक्ष्मणरेखा नहीं डाकनी है. क्योंकि पिछली मर्तबा जनता कर्फ्यू के दौरान लोग थाली पीटते हुए घरों से बाहर निकल आए थे. जबकि अपनी इसी एकजुटता से कोरोना #Ravan की हत्या कर देनी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टीवी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 3:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading