Home /News /entertainment /

सिद्धार्थ शुक्ला को अध्यात्म से भी था प्यार, ओशिवारा में होगा अंतिम संस्कार

सिद्धार्थ शुक्ला को अध्यात्म से भी था प्यार, ओशिवारा में होगा अंतिम संस्कार

सिद्धार्थ शुक्ला का निधन 40 साल की उम्र हो गया.. (Photo @realsidharthshukla/Instagram)

सिद्धार्थ शुक्ला का निधन 40 साल की उम्र हो गया.. (Photo @realsidharthshukla/Instagram)

सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) का अंतिम संस्कार ब्रह्मकुमारी रीति रिवाजों (Sidharth Shukla Funeral from Brahmakumari Rituals) से होगा. सिद्धार्थ शुक्ला का अध्यात्म (Spirituality) से भी गहरा लगाव था और यही कारण है कि वह लंबे समय से ब्रह्मकुमारीज संस्थान से जुड़े हुए थे.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

टीवी के जाने माने एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है. 40 साल की उस उम्र में जब सिद्धार्थ को नेम और फेम मिल रहा था. आज मुंबई के ओशिवारा में सिद्धार्थ का अंतिम संस्कार (Sidharth Shukla Funeral) किया जाएगा. खास बात ये है कि एक्टर का अंतिम संस्कार ब्रह्मकुमारी रीति रिवाजों (Sidharth Shukla Funeral from Brahmakumari Rituals) से होगा. सिद्धार्थ शुक्ला का अध्यात्म (Spirituality) से भी गहरा लगाव था और यही कारण है कि वह लंबे समय से ब्रह्मकुमारीज संस्थान से जुड़े हुए थे.

दरअसल, सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) की मां रीता शुक्ला (Rita Shukla) पिछले काफी समय से ब्रह्मकुमारीज संस्थान से जुड़ीं है और राजयोग ध्यान के लिए अधिकतर वे माउंट आबू जाया करती थीं. सिद्धार्थ भी अपनी मां के साथ सिद्धार्थ ब्रह्मकुमारी सेंटर अक्सर आया-जाया करते थे.

Sidharth Shukla, Sidharth Shukla loves spirituality, Sidharth Shukla Funeral from Brahmakumari Rituals, Brahmakumari, Sidharth Shukla attach to Brahma Kumaris institution, Rita Shukla, सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम संस्कार, सिद्धार्थ शुक्ला, ब्रह्मकुमारी संस्था, रीता शुक्ला

फिल्मी दुनिया के उभरते सितारे सिद्धार्थ शुक्ला आत्मिक शांति के लिए माउण्ट आबू तो आते ही थे, साथ ही वे ब्रह्मकुमारीज संस्थान के मुंबई के सेवा केन्द्रों पर भी जाया करते थे. उनकी योग में ज्यादा रुचि थे और वह एकांत में रहना पसन्द करते थे.

संस्थान प्रमुख राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने शोक संदेश भेजकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है. साथ ही उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है. पहली बार वे ब्रह्मकुमारीज संस्थान के शांतिवन में तीन वर्ष पूर्व आये थे, जबकि दूसरी बार वे 2018 में एक कार्यक्रम में शिरकत करने आये थे.

सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम संस्कार के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाएगा. अंतिम यात्रा की विधि ब्रह्मकुमारी रीति रिवाज से होगी, जिसके तहत उनकी आत्मा की शांति के लिए सभी पार्थिव शरीर को तिलक लगाकर उन्हें श्रद्धांजलि, पुष्पांजलि और स्नेहांजलि देंगे.

Tags: Siddharth Shukla, Sidharth Shukla

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर