सुधा चंद्रन के पिता का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कई फिल्मों में कर चुके हैं काम

केडी चंद्रन ने कई फिल्मों में काम किया है. फोटो साभार-@sudhaachandran/Instagram

केडी चंद्रन ने कई फिल्मों में काम किया है. फोटो साभार-@sudhaachandran/Instagram

सुधा चंद्रन (Sudha Chandran) के पिता पिछले काफी समय से बीमार थे. उनकी तबीयत जब ज्यादा खराब हो गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई.

  • Share this:

मुंबई. वेटरन एक्ट्रेस और बेहतरीन डांसर सुधा चंद्रन (Sudha Chandran) के पिता केडी चंद्रन (KD Chandran) का निधन हो गया हैं. वह 86 साल के थे. दिल का दौरा पड़ने की वजह से उनकी मौत हुई हैं. सुधा चंद्रन के पिता पिछले काफी समय से बीमार थे. हाल ही में उन्हें मुंबई के जुहू स्थित क्रिटी केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस (KD Chandran Died) ली. केडी चंद्रन ने कई फिल्मों में काम किया है.

सुधा चंद्रन (Sudha Chandran) के पिता पिछले काफी समय से बीमार थे. उनकी तबीयत जब ज्यादा खराब हो गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया आजतक से बातचीत में सुधा ने बताया कि वह डिमेंश‍िया (भूलने की बीमारी ) से पीड़ित थे. अस्पताल में डॉक्टर्स की निगरानी में केडी चंद्रन का इलाज चल रहा था. लेकिन बुधवार (12 मई) को सुबह लगभग 10 बजे दिल का दौरान पड़ने से उनकी मौत हो गई.

 Sudha Chandran, Sudha Chandran father died, Sudha Chandran father KD Chandran, Sudha Chandran father died due to heart attack, Sudha Chandran father suffering from dementia, सुधा चंद्रन, सुधा चंद्रन के पिता का निधन, हार्ट अटैक से सुधा चंद्रन के पिता का निधन

केडी चंद्रन ने कई फिल्मों में काम किया है. उन्होंने अपने अभ‍िनय की गहरी छाप छोड़ी है. उन्होंने 'कोई मिल गया', 'चाइना गेट', 'कॉल', 'हम हैं राही प्यार के', 'तेरे मेरे सपने', 'जुनून' सहित कई फिल्मों में काम किया है.
आपको बता दें कि सुधा कई सालों से टीवी सीरियल्स में काम कर रही हैं. उन्होंने साउथ की कई फिल्मों में भी काम किया है. सुधा ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत तेलुगु फिल्म 'मयूरी' से की थी. ये फिल्म उन्हीं की जिंदगी पर आधारित थी.

एक्टिंग के अलावा सुधा को डांस का बहुत शौक है, लेकिन 17 साल की उम्र में वह एक हादसे का शिकार हो गईं और उनका पैर काटना पड़ा. हालांकि सुधा ने हार नहीं मानी और अपनी हिम्मत से बड़ा मुकाम हासिल किया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज