विकास दुबे एनकाउंटर मामले पर कुमार विश्वास ने कसा तंज, बोले- 'बड़ी फिल्मी है कहानी'

विकास दुबे एनकाउंटर मामले पर कुमार विश्वास ने कसा तंज, बोले- 'बड़ी फिल्मी है कहानी'
सोशल मीडिया (Social Media) पर इस एनकाउंटर पर यूजर्स सवाल उठा रहे हैं.

विकास दुबे एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) के बाद सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग अपने-अपने विचार जाहिर कर रहे हैं, इसी बीच कवि डॉ. कुमार विश्वास (Dr. Kumar Vishwas) ने सोशल मीडिया इस एनकाउंटर को लेकर अपने विचार रखे हैं.

  • Share this:
मुंबई. यूपी पुलिस (UP Police) जिस हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे (Vikas Dubey) को यूपी के कोने-कोने में ढूंढ़ रही थी, वह पुलिस की नाक के नीचे से उज्जैन पहुंच गया, तीन राज्यों से मध्य प्रदेश पहुंचने के बाद विकास बाबा महाकाल के मंदिर में धरा गया. उज्जैन में हुई गिरफ्तारी के बाद वापस कानपुर (Kanpur) लाते समय पुलिस के एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) में वह मारा गया. यूपी पुलिस का एक हिस्ट्रीशीटर को यूं पकड़कर एनकाउंटर में मारे जाने पर लोग सवाल उठा रहे हैं. बॉलीवुड (Bollywood) की फिल्मी कहानी की तरह विकास दुबे की मौत हैरान करने वाली है. सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग अपने-अपने विचार जाहिर कर रहे हैं, इसी बीच कवि डॉ. कुमार विश्वास (Dr. Kumar Vishwas) ने सोशल मीडिया इस एनकाउंटर को लेकर अपने विचार रखे हैं.

सोशल मीडिया (Social Media) पर इस एनकाउंटर पर यूजर्स सवाल उठा रहे हैं. बॉलीवुड सेलेब्स के बाद डॉ. कुमार विश्वास (Dr. Kumar Vishwas)ने सोशल मीडिया पर तंज कसा है. ट्विटर पर उन्होंने ट्वीट किया उन्होंने लिखा- 'फिल्मी पटकथाओं में तो वास्तविकता बची नहीं है पर वास्तविकताओं में खूब फ़िल्मी पटकथा बची हैं'. अब कुमार विश्वास का ये ट्वीट इस समय वायरल हो गया है.


ट्विटर पर किमार विश्वास के फैंस इसपर जमकर कमेंट क रहे हैं. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद सोशल मीड‍िया पर यूजर्स इसे फेक एनकाउंटर बता रहे हैं.



आपको बता दें कि विकास दुबे का जिस तरह से एनकाउंटर किया गया है उसके बाद से भले ही उत्तर प्रदेश पुलिस की राह आसान न दिख रही हो लेकिन तकनीकी तौर पर पुलिस को कोर्ट से राहत मिल सकती है. फिलहाल, पुलिस को कोर्ट में विकास दुबे के मारे जाने की कोई रिपोर्ट नहीं देनी होगी. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि विकास दुबे अभी तक न्यायिक हिरासत में नहीं था और न ही मध्य प्रदेश पुलिस ने आधिकारिक तौर पर उसे गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें- विकास दुबे एनकाउंटर की खबर आते ही सोशल मीडिया पर छा गए रोहित शेट्टी, जानिए क्या है माजरा

दरअसल, अगर किसी अपराधी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाता है और न्यायिक हिरासत में रहते हुए अपराधी के साथ किसी भी तरह की कोई अनहोनी हो जाती है या फिर वह किसी भी कारण से एनकाउंटर में मारा जाता है तो उसकी विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट को देनी पड़ती है. यहां पर गौर करने वाली बात ये है कि एमपी पुलिस ने भी विकास दुबे को हिरासत में लिया था और यूपी पुलिस को सौंप दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading