• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • VIRAL SOCIAL KUMAR VISHWAS TALKED ABOUT BABA RAMDEV IN A VIRAL VIDEO SAYING WE STARTED YOGA HE STARTED BUSINESS AN

VIDEO: बाबा रामदेव पर तंज कसते नजर आए कुमार विश्वास, बोले- 'हमने योग शुरू किया, उन्होंने काम-धंधा'

आईएमए ने बाबा रामदेव के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चालने की मांग की है (फोटो साभारः Instagram@kumarvishwas)

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas), बाबा रामदेव (Baba Ramdev) पर तंज कस रहे हैं. वे कहते नजर आए कि बाबा लोगों को योग में लगाकर खुद काम-धंधे में जुट गए.

  • Share this:
    नई दिल्लीः बाबा रामदेव (Baba Ramdev) पिछले कुछ दिनों से एलोपैथी चिकित्सा पद्धति पर अपने विवादित बयान की वजह से चर्चा में बने हुए हैं. खबरों के अनुसार, बाबा ने कहा था कि एलोपैथिक दवाइयां लेने से जितने लोग मरे हैं, उतने कोरोना से नहीं मरे हैं. हालांकि, चौतरफा दबाव के बाद बाबा को माफी मांगनी पड़ी थी, पर आईएमए और फार्मा कंपनियों से 25 सवाल पूछने के बाद यह मामला सुर्खियों में बना हुआ है. आम लोगों के अलावा सेलेब्स भी 'एलोबैथी बनाम आयुर्वेद' की बहस में कूद पड़े हैं. अब एक वीडियो सामने आया है, जिसमें कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas), बाबा रामदेव पर तंज कस रहे हैं.

    खबरों की मानें तो यह वीडियो 2019 के एक कवि सम्मेलन का है, जब कुमार ने बाबा पर टिप्पणी की थी. वे वीडियो में कह रहे हैं, 'इस देश में दुकान में सामान हो या नहीं, बेचना दो लोगों को आया, जो इस समय टॉप हैं भाई. बाबा ने तो क्या बेचा है. 12 साल तक बाबा ने टीवी पर आकर कहा कि काम-धंधा छोड़ो और योग करो. हमने योग शुरू कर दिया, उन्होंने काम-धंधा.'



    वे आगे कहते हैं, 'वे ऐसे बेचते हैं सामान, अगर आप नहीं खरीदेंगे, तो आपको लगेगा कि आप हिन्दू धर्म से बाहर निकाल दिए जाएंगे. वे फिनाइल बेचते हैं, गो मूत्र से बनती है-गोनाइल. यह तक तो सब ठीक है, फिर वे बोतल में लिखते हैं कि गाय को कत्लखाने जाने से बचाएं...यहां आदमी को लगता है कि अगर दो बोतल नहीं खरीदी तो एक गाय कटी.' वीडियो में कुमार विश्वास ने बाबा के नमक बेचने के तरीके को भी बयां किया है. यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है.

    बता दें कि आईएमए ने पीएम को पत्र लिखकर बाबा रामदेव के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चालने की मांग की है. आईएमए का आरोप है कि बाबा ने कोविड-19 के इलाज के लिए तय सरकार के प्रोटोकॉल को चुनौती दी है और देश के वैक्सीनेशन कैंपेन को बदनाम किया है.