लता मंगेशकर हुईं इस कलाकार की गायिकी की कायल, VIDEO शेयर कर ऐसे दिया आशीर्वाद

लता मंगेशकर हुईं इस कलाकार की गायिकी की कायल, VIDEO शेयर कर ऐसे दिया आशीर्वाद
लता मंगेशकर ने ट्वीट कर वीडियो शेयर किया है.

दुनियाभर के करोड़ों लोग लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) की आवाज के दीवाने हैं, उनका दिल बंगाल (West Bengal) की एक उभरती कलाकार ने जीत लिया.

  • Share this:
मुंबई. स्वर कोकिला के नाम से दुनिया में मशबूर लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) से आशीर्वाद लेना हर किसी कलाकार का सपना होता है, दुनियाभर के करोड़ों लोग जिनकी आवाज के दीवाने हैं, उनका दिल बंगाल (West Bengal) की एक उभरती कलाकार ने जीत लिया. लता दीदी ने भी उभरती कलाकार का हौसला बढ़ाने में देर नहीं की. उन्होंने उस यंग टैलेंट की सुरीली आवाज की तारीफ की और उसका सुरीला वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर उसकी तारीफ करते हुए आर्शीवाद (Lata Mangeshkar Gives Blessings) भी दिया.

ट्विटर पर स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) अक्सर पुरानी यादों से साथ कुछ न कुछ अपने फैंस के लिए साझा करती रहती हैं. हाल ही में सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल एक वीडियो को उन्होंने ट्वीट किया, जिसमें एक उभरती कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन कर रही है. ये वीडियो शेयर करते हुए लता दीदी ने लिखा- 'नमस्कार मुझे ये वीडियो किसी ने भेजा, इस लड़की ने महान आस्ट्रियन संगीतकार 40वीं Symphony G Minor को भारतीय सरगम में बहुत सुंदर तरह से गाया हैं. मैं इसको आर्शीवाद देती हूं कि ये एक अच्‍छी गायिका बनें'.
ये गायिकी भारत की उभरती कलाकार और पश्चिम बंगाल की रहने वाली Samadipta Mukherjee है. लता मंगेशकर से मिले आर्शीवाद के बाद वो खुद को रोक नहीं सकीं और उन्होंने स्वर कोकिला के इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए लिखा- 'मैंने सचमुच आपको बचपन से पूजा है. आदरणीय, लता मंगेशकर जी. आज, मुझे स्वयं भगवान ने आशीर्वाद दिया है! मुझे इसके अलावा और क्या चाहिए. मुझ पर अपने आशीर्वाद बनाए रखिए, ताकि मैं अपनी संगीत यात्रा में उच्च स्तर तक पहुंच सकूं! प्रणाम !' Samadipta Mukherjee ने लता मंगेशकर के इस ट्वीट को रीट्वीट भी किया है.

लता मंगेशकर स्वरों की वो मलिका हैं, जिनके आगे सारे गायक नतमस्‍तक हैं. आपको बता दें कि लता मंगेशकर के पिता संगीत गुरु पंडित दीनानाथ मंगेशकर जाने माने शास्त्रीय गायक और रंगकर्मी थे. लता दी को संगीत की शिक्षा देने वाले पहले गुरु उनके पति ही थे. वो जब पांच साल की थीं, तभी उन्होंने अपने पिता शास्त्रीय गायक और रंगकर्मी दीनानाथ मंगेशकर से संगीत सीखना शुरू कर दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading