Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Mirzapur 2: प्रोड्यूसर्स ने मांगी सुरेंद्र मोहन पाठक से माफी, वेब सीरीज से हटेगा सीन

    राइटर से इस सीन को लेकर प्रोडक्शन हाउस ने माफी भी मांगी है.
    राइटर से इस सीन को लेकर प्रोडक्शन हाउस ने माफी भी मांगी है.

    Mirzapur 2: सुरेंद्र मोहन पाठक (Surender Mohan Pathak) ने मिर्जापुर 2 के मेकर्स नोटिस भेजते हुए आरोप लगाया था कि सीरीज ने उनकी छवि खराब करने की कोशिश की है. उम्होंने प्रोडक्शन हाउस को चेतावनी दी कि अगर उस सीन को सीरीज से नहीं हटाया गया तो वे मिर्जापुर वेब सीरीज के खिलाफ लीगल एक्शन भी ले सकते है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 31, 2020, 1:25 PM IST
    • Share this:
    मुंबई. वेब सीरीज मिर्जापुर 2 (Mirzapur 2) की चर्चाएं खूब हो रही हैं. हालांकि इस वेब सीरीज को लेकर क्राइम फिक्शन बेस्ड नॉवेल लिखने के लिए दुनियाभर में मशहूर लेखक सुरेंद्र मोहन पाठक (Surender Mohan Pathak) ने सीरीज के सीन में उनके उपन्यास को दिखाने पर आपत्ति जाहिर की थी साथ ही मेकर्स को नोटिस भी भेजा था, जिसके बाद राइटर से प्रोडक्शन हाउस ने माफी भी मांगी है. साथ ही बताया कि सीरीज में से अब सीन को हटा दिया गया है.

    वेब सीरीज में एक सीन आता है जहां पर कुलभूषण खरबंदा अपने सत्यानंद त्रिपाठी के किरदार में होते हैं और हाथ में सुरेंद्र मोहन पाठक की किताब धब्बा पकड़े हुए होते हैं. इस किताब के साथ वे नरेशन में जो बोलते हैं. सारा बवाल वहीं से शुरू होता है. नरेशन से सुरेंद्र मोहन पाठक को आपत्ती हुई और उन्होंने इसे हटाने की मांग की. एक्सल एंटरटेनमेंट ने न सिर्फ उस सीन को ही वेब सीरीज से हटाया बल्कि सोशल मीडिया पर एक लेटर के जरिए राइटर से माफी भी मांगी है.

    रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर के प्रोडक्शन हाउस एक्सेल एंटरटेनमेंट के ट्विटर हैंडल पर एक लेटर शेयर पोस्ट शेयर किया गया, जिसमें लिखा है, 'प्रिय सुरेंद्र मोहन पाठक, यह आपके द्वारा भेजे गए नोटिस से हमारे संज्ञान में आया है कि हाल ही में रिलीज वेब सीरीज मिर्जापुर 2 में एक सीन है, जिसमें सत्यानंद त्रिपाठी नाम का किरदार 'धब्बा' उपन्यास को पढ़ रहा है, जिसे आपने लिखा है. इसके साथ ही उस सीन में उपयोग हुए वॉयसओवर से आपकी और आपके प्रशंसकों की भावनाएं आहत हुई हैं.





    हम इसके लिए आपसे माफी मांगते हैं और आपको बताना चाहते हैं कि यह किसी भी तरह से आपकी प्रतिष्ठा को धूमिल करने या नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं किया गया था. हम जानते हैं कि आप ख्यातिप्राप्त लेखक हैं और आपका काम हिंदी क्राइम फिक्शन साहित्य की दुनिया में बहुत महत्व रखता है.'

    पोस्ट में आगे लिखा है, 'हम आपको सुनिश्चित करना चाहते हैं कि इसे सुधार लिया जाएगा. हम तीन हफ्ते के भीतर उस सीन में बुक कवर को ब्लर कर देंगे या वॉइसओवर को हटा देंगे. प्लीज अनजाने में आपकी भावनाओं को आहत करने के लिए हमारी माफी को स्वीकार करें.

    आपको बता दें कि सुरेंद्र मोहन पाठक ने मिर्जापुर 2 के मेकर्स नोटिस भेजते हुए आरोप लगाया था कि सीरीज ने उनकी छवि खराब करने की कोशिश की है. उम्होंने प्रोडक्शन हाउस को चेतावनी दी कि अगर उस सीन को सीरीज से नहीं हटाया गया तो वे मिर्जापुर वेब सीरीज के खिलाफ लीगल एक्शन भी ले सकते है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज