रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर बोलीं सुशांत की बहन, 'हमें झूठी FIR बिल्कुल नहीं तोड़ सकती'

रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर बोलीं सुशांत की बहन, 'हमें झूठी FIR बिल्कुल नहीं तोड़ सकती'
सुशांत सिंह राजपूत के मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती से पूछताछ का सिलसिला जारी है.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने ट्वीट कर रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को जवाब दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 5:09 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) केस में रिया चक्रवर्ती से एनसीबी (NCB) लगातार पूछताछ कर रही है. इस केस में रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) और उनके भाई शौविक पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) का शिकंजा कसता जा रहा है. रिया को एनसीबी ने आज तीसरे दिन भी पूछताछ के लिए बुलाया है. वहीं, सोमवार को रिया ने सुशांत के परिवार पर पलटवार करते हुए एक्टर की बहन प्रियंका, मीतू सिंह और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर तरुण कुमार और अन्य के खिलाफ केस दर्ज कराया है. केस को दर्ज करने के बाद सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति (Shweta Singh Kriti) ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने ट्वीट कर रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को जवाब दिया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा- 'कोई भी चीज हमें तोड़ने वाली नहीं है, एक झूठी FIR तो बिल्कुल भी नहीं!' #SSRFamilyStandsStrong #UnitedForSSRJustice #WholeIndiaIsSSRFamily


रिया ने आरोप लगाया है कि प्रियंका सिंह, दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर तरुण सिंह और अन्य ने सुशांत के तनाव का इलाज करने के लिए फर्जीवाड़ा कर दवा की फर्जी पर्ची बनाई. मुंबई के बांद्रा पुलिस थाने में उन्होंने भारतीय दंड संहिता और एनडीपीएस अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई है.





रिया ने पुलिस को दी शिकायत में भादंसं, एनडीपीएस और टेलीमेडिसिन इलाज दिशानिर्देश के तहत प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी. रिया ने प्रियंका पर उन्हें तंग करने का भी आरोप लगाया है.

ये भी पढ़ें- आलिया भट्ट के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करेंगे पार्थ समथान, संजय लीला भंसाली की फिल्म में आएंगे नजर !

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई सके उपनगर बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में मृत मिले थे. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के आदेश के अनुसार मामले को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को आगे की जांच के लिए सौंप दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज