दुःखद : जाने माने एक्टर बिजय मोहंती का निधन, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

दुःखद : जाने माने एक्टर बिजय मोहंती का निधन, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार
बिजय मोहंती की फाइल फोटो.

बिजय मोहंती (Bijay Mohanty) के निधन की खबर मिलते ही ओडिया फिल्म इंडस्ट्री (Odia Film Industry) में शोक की लहर है.

  • Share this:
मुंबई. सिनेमा जगत से एक बार फिर गमगीन कर देने वाली खबर आई है. जाने-माने ओडिया एक्टर बिजय मोहंती (Bijay Mohanty) ने दुनिया को अलविदा कह दिया. वह 70 साल के थे. जानकारी के मुताबिक, 20 जुलाई की शाम उन्होंने आखिरी सांस ली. बताया जा रहा है कि 27 मई को कार्डियक अरेस्ट के बाद बिजय मोहंती को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके कुछ दिनों के बाद तबियत ठीक होने पर वह ओडिशा (Odisha) वापस आ गए थे. मोहंती के निधन की खबर मिलते ही ओडिया फिल्म इंडस्ट्री (Odia Film Industry) में शोक की लहर है.

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) और केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान समेत कई लोगों ने मोहंती के निधन पर शोक प्रकट किया है. मुख्यमंत्री पटनायक ने उन्हें महान विभूति बताया जिन्होंने अपनी प्रतिभा से ओडिया फिल्मोद्योग को समृद्ध किया हैं. उन्होंने कहा कि एक दिग्गज व्यक्तित्व वाले शख्स थे. उनका ओडिया फिल्म में एक लंबा, शानदार करियर था. वह लाखों लोगों के दिलों में राज करते हैं. उनके निधन ने इंडस्ट्री में शून्य का भाव पैदा कर दिया है. ओडिया फिल्मों में उनका योगदान आने वाले समय के लिए एक अविस्मरणीय छाप छोड़ जाएगा. उनकी आत्मा को शांति मिले. अभिनेता बिजय मोहंती का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा.

वह हृदयरोग से परेशान थे और हैदराबाद में उनका इलाज हुआ था. वह पिछले महीने विशेष एंबुलेंस से भुवनेश्वर लाये गये थे. बिजय मोहंती के परिवार में उनकी पत्नी तंद्रा राय और बेटी जस्मीन हैं.



तंद्रा राय भी ओडिया फिल्मों की अभिनेत्री हैं. 1950 में पैदा हुए मोहंती ने स्कूल के दिनों से ही अभिनय शुरू कर दिया था. वह भारतीय नाट्य विद्यालय से उत्तीर्ण होकर निकले और सत्तर के दशक के मध्य में नाटकों का निर्देशन किया. ओडिया सिनेमा में 1977 में उनके करियर की शुरुआत हुई. उन्हें ‘चिलिका टायर’ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला. उन्होंने ‘नागा फासा’, ‘समय बड़ा बलवान’, ‘दंडा बालुंगा’ समेत कई फिल्मों में अभिनय किया है.
उन्होंने साल 2014 के आम चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर भुवनेश्वर लोकसभा सीट के लिए भी चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज