• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • इस वजह से श्रीदेवी-बोनी के बीच अक्सर हो जाता था झगड़ा

इस वजह से श्रीदेवी-बोनी के बीच अक्सर हो जाता था झगड़ा

photo credit" yogen shah

photo credit" yogen shah

शादी के बीस सालों बाद भी श्रीदेवी के मन में फंसी फांस कभी नहीं निकल पाई. कई बातों पर वो नार्मल नहीं हो पाईं

  • Share this:
बॉलीवुड की महान अदाकारा श्रीदेवी का निधन की खबरें सुर्खियों में हैं. एक्टर के तौर पर वह महान अदाकारा ही नहीं पहली सुपरस्टार हीरोइन भी हैं लेकिन व्यक्तिगत जिंदगी में लगता है कि वो हमेशा असुरक्षा से ग्रस्त रहीं और कुछ बातों को कभी भुला नहीं पाईं, जिसके चलते जब भी उनके पति बोनी कपूर अपनी पहली पत्नी या उनके बच्चों से मिलते थे तो वो इसे कभी स्वाभाविक तरीके से नहीं ले पाती थीं.

सीनियर जर्नलिस्ट और फिल्म कॉलमिस्ट भारती ए प्रधान ने करीब दो साल पहले अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ में अपने कॉलम में लिखा कि किस तरह बोनी को श्रीदेवी के गुस्से का सामना करना पड़ा, जब वह पहली पत्नी मोना कपूर की मां और जानी मानी फिल्म निर्माता सत्ती शौरी के अंतिम संस्कार और प्रार्थना सभा में गए.

नहीं भूल पाईं थीं सत्ती के उस व्यवहार को
दरअसल श्रीदेवी 1996 में सत्ती शौरी द्वारा उनसे किए गए व्यवहार को इतने सालों बाद भी भूल नहीं पाईं थीं. उस समय तक बोनी और मोना पति-पत्नी थे और श्रीदेवी दूसरी महिला. तब तक बोनी और श्रीदेवी के नजदीकियों की खबरें आने लगी थीं. तभी ये भी खबरें आईं कि वो गर्भवती हैं. मोना इससे बहुत आहत हुईं. उन्होंने चुपचाप खुद ब खुद बोनी से दूरियां बना लीं. लेकिन ये बात मोना की फिल्म निर्माता मां को बर्दाश्त नहीं हुई.

boney kapoor
ये फोटो श्रीदेवी के इंस्टाग्राम अकाउंट से ली गई है.


उसी दौरान जब सत्ती को मालूम हुआ कि बोनी और श्रीदेवी जुहू के एक पांच सितारा होटल में आए हुए हैं. तो वह दनदनाते हुए वहां पहुंचीं और हंगामा खड़ा कर दिया. उन्होंने श्रीदेवी के पेट पर मारने की कोशिश की, जिसके कुछ महीनों बाद श्रीदेवी ने अपनी पहली बेटी जान्हवी को जन्म दिया. इसे श्रीदेवी कभी भूल नहीं पाईं. बीस सालों बाद भी नहीं.

बोनी का वहां जाना उन्हें अच्छा नहीं लगा
जब सत्ती का निधन हुआ तो पूरा कपूर परिवार अंतिम संस्कार में पहुंचा. बोनी भी इसमें गए. निधन के दो दिन बाद एक प्रार्थना सभा रखी गई. इसमें भी सभी पहुंचे. बोनी भी. अर्जुन और उनकी बहन अंशुला अपनी नानी के भावनात्मक तौर पर ज्यादा करीब थे. भारती ने अपने कॉलम में लिखा, पति का वहां जाना श्रीदेवी को अच्छा नहीं लगा. बोनी इसे लेकर उनके गुस्से का शिकार भी बने.

मोना के अंतिम दर्शन के लिए बस वही नहीं गईं
वहीं जानी मानी लेखिका और कॉलमिस्ट शोभा डे ने हाल में लिखा, "जब मोना कपूर (बोनी की पहली पत्नी) का निधन हुआ तो हर कोई उनके अंतिम दर्शनों के लिए पहुंचा. सभी कपूर और फिल्म इंडस्ट्री के लोग. मैं तो उस वक्त मस्कट में थी, इसलिए उसमें नहीं जा पाई. लेकिन जब मैने खबरें देखीं तो उसमें एक ही शख्स वहां नहीं दिखा, वो थीं श्रीदेवी. उनकी दोनों बेटियां भी उसमें नहीं थीं. ये मुझे कुछ खराब लगा. जबकि एक जमाने में मोना और उनके बीच अच्छी दोस्ती थी."

sridevi, boney kapoor, sridevi death
कुछ बातों को श्रीदेवी कभी दिल से निकाल नहीं पाईं


तब काफी नाराज हो गईं थीं श्रीदेवी 
बॉलीवुड शादी डॉट कॉम साइट ने कुछ पुरानी फिल्मी मैगजीन के हवाले से एक रिपोर्ट दी थी कि किस तरह जब बोनी पहली पत्नी से मिले और अपने दोनों बच्चों अर्जुन और अंशुला को लेकर पिकनिक पर गए तो लौटने पर श्रीदेवी उनसे काफी नाराज हुईं. स्टारडस्ट मैगजीन ने दिया कि चीख-पुकार को पड़ोसियों ने सुना. स्टारडस्ट ने इस पर उनके कुछ पड़ोसियों की प्रतिक्रिया भी प्रकाशित की.

अर्जुन कपूर ने पिछले दिनों एक टीवी पर कहा था कि मेरे रिश्ते श्रीदेवी से कभी सामान्य नहीं होंगे. वो केवल मेरे पिता की बीवी हैं और कुछ नहीं. हालांकि कुछ समय पहले उन्होंने कहा था कि वो श्रीदेवी और अपनी दोनों हाफ सिस्टर्स के लिए कोई गुस्सा नहीं रखते.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज